• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • केंद्र सरकार का राज्यों को निर्देश, जिला स्तर पर कराएं सीरो सर्वे

केंद्र सरकार का राज्यों को निर्देश, जिला स्तर पर कराएं सीरो सर्वे

केंद्र ने राज्यों को जिला स्तर पर सीरो सर्वे कराने के निर्देश दिए हैं (प्रतीकात्मक तस्वीर: AP)

केंद्र ने राज्यों को जिला स्तर पर सीरो सर्वे कराने के निर्देश दिए हैं (प्रतीकात्मक तस्वीर: AP)

Sero Survey: मई-जून 2020 के पहले सीरो सर्वे में 0.7%, अगस्त-सितंबर 2020 के दूसरे सीरो सर्वे में 7.1%, दिसंबर 2020 से जनवरी 2021 के तीसरे सीरो सर्वे में 24.1% सीरो पॉजिटिविटी पाई गई थी.

  • Share this:

नई दिल्ली. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों को जिला स्तर पर सीरो सर्वे (Sero Survey) करने के निर्देश दिए हैं, जिससे कि कोरोना संक्रमण की सही सही स्थिति की जानकारी मिल सके. केंद्र सरकार ने राज्यों से कहा है कि वह ICMR के संपर्क में रहते हुए इस सर्वे को अंजाम दें और इसे जल्द से जल्द पूरा करें. इससे पहले चौथे सीरो सर्वे के दौरान आईसीएमआर ने साफ किया था कि ये परिणाम राज्यों के हैं. इसे जिला स्तर पर नहीं माना जाना चाहिए. ये मोटे तौर पर देश में संक्रमण के स्तर को दर्शाता है. इसी के मद्देनजर जमीन पर हर राज्य में क्या हालात हैं इसको समझने के लिए अब जिला स्तर के सर्वे पर जोर दिया जा रहा है.

चौथे नेशनल सीरो सर्वे में साफ हुआ था कि 67.6% आबादी संक्रमण के दायरे में आ चुकी है. आईसीएमआर ने बताया था कि पिछले नतीजों में अब तक राज्यों में कितनी फीसदी आबादी संक्रमण की चपेट में पाई गई. नतीजों के मुताबिक मध्यप्रदेश: 79%, राजस्थान: 76.2%, बिहार: 75.9%, गुजरात: 75.3%, छत्तीसगढ़: 74.6%, उत्तराखंड: 73.1%, आंध्रप्रदेश: 70.2%, कर्नाटक: 69.8%, तमिलनाडु: 69.2%, ओडिशा: 68.1%, पंजाब: 66.5%, तेलंगाना: 63.1%, जम्मू एंड कश्मीर: 63%, हिमाचल प्रदेश: 62%, झारखंड: 61.2%, पश्चिम बंगाल: 60.9%, हरियाणा: 60.1%, महाराष्ट्र: 58%, असम: 50.3%, केरल: 44.4%

मई-जून 2020 के पहले सीरो सर्वे में 0.7%, अगस्त-सितंबर 2020 के दूसरे सीरो सर्वे में 7.1%, दिसंबर 2020 से जनवरी 2021 के तीसरे सीरो सर्वे में 24.1% सीरो पॉजिटिविटी पाई गई थी.

पिछले सप्ताह सामने आए थे सर्वे के नतीजे
भारत में चार महीने में कोविड-19 के एक दिन में सबसे कम मामले सामने आने के बीच सरकार ने कहा कि एक सीरो सर्वे में पाया गया है कि छह साल से अधिक आयु की देश की आबादी के दो-तिहाई हिस्से में सार्स-सीओवी-2 एंटीबॉडी पाई गई है. लेकिन जोर देते हुए यह भी कहा कि करीब 40 करोड़ लोगों को अब भी कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा है और ढिलाई के लिए कोई जगह नहीं है.

जून और जुलाई में किये गये भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के चौथे राष्ट्रीय कोविड सीरो सर्वे में कुल 67.6 प्रतिशत लोगों में एंटीबॉडी पाई गई. 21 राज्यों के 70 जिलों में किये गये इस सर्वे में 28,975 से अधिक लोगों (वयस्कों और बच्चों) के अलावा 7,252 स्वास्थ्य कर्मियों को भी शामिल किया गया था. इन्हीं जिलों में तीन दौर का सर्वे भी किया गया था.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज