Home /News /nation /

OPINION: कश्मीर में सड़कों का जाल बिछाने का मेगा प्लान, सबको जोड़ने की केंद्र सरकार की बड़ी योजना है

OPINION: कश्मीर में सड़कों का जाल बिछाने का मेगा प्लान, सबको जोड़ने की केंद्र सरकार की बड़ी योजना है

कश्मीर में सड़कों का जाल बिछाने का मेगा प्लान तैयार. Demo pic

कश्मीर में सड़कों का जाल बिछाने का मेगा प्लान तैयार. Demo pic

बता दें कि जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की घोषणा के बाद साल 2015 में अलग-अलग राष्ट्रीय राजमार्ग (National Highway) की परियोजनाएं चलाई जा रही है लेकिन अब इस प्‍लान में बदलाव किया जा रहा है. गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के दौरे के बाद सरकार के इस हाईवे कनेक्टिविटी प्रोजेक्ट (Highway Connectivity Project) को नया आयाम देने की कोशिश की जा रही है. साल 2014 में जम्मू-कश्मीर में 7 राष्ट्रीय राजमार्ग थे लेकिन अब इनकी तादाद 11 हो गई है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) के जिलों को आपस में जोड़ने और कम समय में आवश्‍यक सुविधाएं पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार (Central Government ) की ओर से एक मेगा प्‍लान (Mega Plan) तैयार किया गया है. मोदी सरकार की ओर से तैयार इस प्‍लान के तहत जम्‍मू-कश्‍मीर में 40 हजार करोड़ रुपये की लागत से सड़कों (Road) का जाल बिछाया जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के ड्रीम प्रोजेक्‍टर में शामिल इस मेगा प्लान में गृह मंत्रालय, सड़क परिवहन मंत्रालय, स्थानीय प्रशासन और संबंधित एजेंसियां अपनी सक्रिय भूमिका निभाएंगी.

बता दें कि जम्‍मू-कश्‍मीर को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा के बाद साल 2015 में अलग-अलग राष्ट्रीय राजमार्ग की परियोजनाएं चलाई जा रही है लेकिन अब इस प्‍लान में बदलाव किया जा रहा है. गृह मंत्री अमित शाह के दौरे के बाद सरकार के इस हाईवे कनेक्टिविटी प्रोजेक्ट को नया आयाम देने की कोशिश की जा रही है. केंद्र सरकार द्वारा तैयार किए गए मेगा प्लान के मुताबिक जम्मू कश्मीर में जो सड़कों का जाल बिछाया जाएगा, उसके तीन प्रमुख मकसद होंगे एक तो श्रीनगर और जम्मू के बीच महत्वपूर्ण रास्तों को जोड़ना. दूसरा श्रीनगर से कश्मीर के दूरदराज इलाकों को सड़कों से जोड़ना और तीसरा जो सड़क अब तक बन चुकी हैं उनका रखरखाव बेहतर तरीके से किया जाना. सरकार की कोशिश है कि मुख्‍य मार्ग के साथ सर्विस रोड भी बने और उनको जोड़ती हुई छोटी सड़कें भी जल्द ही बने, जिनकी पहुंच अंदरूनी इलाकों तक हो.

सरकार की सबसे प्रमुख परियोजनाओं में से एक श्रीनगर रिंग रोड प्रोजेक्ट है. श्रीनगर के चारों ओर बनने वाली इस सड़क से उत्तर और दक्षिण कश्मीर दोनों इलाके जुड़ जाएंगे, जिसमें प्रमुख इलाके हैं पुलवामा अनंतनाग शोफिया अवंतीपुरा और कुपवाड़ा. इसके अलावा सड़कों पर जो महत्वपूर्ण क्रॉसिंग है उन पर भी फ्लाईओवर और सर्विस रोड बनाने के अहम प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी गई है. इसमें प्रमुख है बेमिना क्रॉसिंग पर बनने वाला फ्लाईओवर, नौगांव फ्लाईओवर और सनल नगर फ्लाईओवर. केंद्र सरकार ने एक महत्वकांक्षी योजना के तहत जम्मू से श्रीनगर को जोड़ने वाले हाईवे की सर्विस रोड को भी अपडेट करने का प्लान तैयार किया है.

इसे भी पढ़ें :- झारखंड सरकार की इस स्कीम से 50 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार, बड़े काम का होगा ये कॉरिडोर

साल 2014 में जम्मू-कश्मीर में 7 राष्ट्रीय राजमार्ग थे लेकिन अब इनकी तादाद 11 हो गई है. जब जम्मू कश्मीर के रास्तों का आकलन किया गया तो यह पाया गया कि 2014 तक जो रास्ते बने थे उनसे जोड़ने वाले छोटे रास्ते नहीं थे और रखरखाव के अभाव में उनकी हालत खराब होती जा रही थी. इन बातों को ध्यान में रखते हुए नए प्रोजेक्ट शुरू होने के बाद अब गृह मंत्री अमित शाह की अगुवाई में यह मेगा प्लान तैयार किया गया है. जम्‍मू-कश्‍मीर में कनेक्टिविटी को बेहतर करने के पीछे केंद्र सरकार की रणनीति साफ है. सरकार की कोशिश है कि स्‍थानीय युवाओं को इन मार्गों के जरिए रोजगार के लिए, इलाज के लिए और अन्‍य कामों के लिए आरामदायक कनेक्टिविटी मिल जाए. ऐसा पहली बार होगा जब सरकार मार्ग बनाने के साथ उसके रखरखाव का खाका भी तैयार करेगी.

इसे भी पढ़ें :- Ministry of Road Transport News: चारधाम ऑल वेदर रोड का काम 60 फीसदी से अधिक पूरा

दिल्‍ली से श्रीनगर की दूरी 8 घंटे होगी कम
केंद्र सरकार एक और महत्वकांक्षी योजना पर काम कर रही है. इस योजना के तहत दिल्ली से श्रीनगर तक के रास्ते को ऐसा बनाया जा रहा है जिससे दोनों राज्‍यों के बीच की दूरी को 8 घंटे तक कम किया जा सके. सरकार की इस योजना के साल 2023 तक पूरा होनेकी उम्‍मीद है. उन्नत तकनीक और दुर्गम रास्तों में टनल के जरिए इस पूरे प्लान को पूरा किया जाएगा. गृहमंत्री अमित शाह ने अपने कश्मीर दौरे में वहां की जनता और युवाओं को यह संदेश देने की कोशिश की थी कि केंद्र सरकार हमेशा वहां के लोगों के विकास के लिए है और लोगों से संवाद स्थापित किया था. जिसके बाद केंद्र सरकार की ओर से ये अहम राष्ट्रीय राजमार्ग के परियोजनाओं की शुरुआत की घोषणा हुई है.

इसे भी पढ़ें :- LAC पर भारत बना रहा है दुनिया की सबसे लंबी सुरंग, उड़ेगी चीन की नींद, जानें खास बातें

कश्मीर में मौजूद राष्ट्रीय राजमार्ग को किया जाएगा चौड़ा
कश्मीर में मौजूद राष्ट्रीय राजमार्ग को चौड़ा करने का भी केंद्र सरकार का अहम प्लान है. बारामूला कुपवाड़ा और अनंतनाग के प्रमुख रास्ते हैं. इनका भी साल 2023 तक चौड़ीकरण कर लिया जाएगा और उन्हें डबल लेन किया जाएगा. यही वजह है कि आसपास जो उद्योग विकसित किए जा रहे हैं वह इन अहम राजमार्गों के पास ही हैं. सड़क के साथ अन्य योजनाएं केंद्र सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर में तेजी तक पहुंचाई जा रही है और इसके लिए पब्लिक आउटरीच प्रोग्राम के तहत अलग-अलग केंद्रीय मंत्री घाटी का दौरा कर रहे हैं और अपने संबंधित मंत्रालय से जुड़ी परियोजनाएं वहां लागू कर रहे हैं.

(डिस्क्लेमर: ये लेखक के निजी विचार हैं. लेख में दी गई किसी भी जानकारी की सत्यता/सटीकता के प्रति लेखक स्वयं जवाबदेह है. इसके लिए News18Hindi किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं है)

Tags: Highway, Jammu, Jammu and kashmir, Narendra modi, National Highways Authority of India, Pm narendra modi, Roads, Srinagar Leh Highway

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर