हज यात्रा 2021 में महिलाओं को ऐसे फायदा पहुंचाने जा रही है केन्द्र सरकार

हज यात्रा 2021 में महिलाओं को ऐसे फायदा पहुंचाने जा रही है केन्द्र सरकार
File Photo.

यह वो महिलाएं हैं जो बिना मेहरम (Mehram) के जा रहीं थी. इसी तरह से हज यात्रा 2021 ((Hajj Yatra 2021) ) के लिए आवेदन करने और बिना मेहरम के जाने वाली सभी महिलाओं को भेजा जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 25, 2020, 10:50 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हज यात्रा 2020 (Hajj Yatra 2020) पर रोक लगा दी गई है. कोविड19 (Covid19) महामारी के चलते लोगों के एक जगह जमा होने पर रोक लगा दी गई है. भारत (India) के भी 2 लाख से ज़्यादा लोगों की हज यात्रा रोक दी गई है. इसमे महिलाएं भी शामिल हैं. लेकिन हज यात्रा 2021 में केन्द्र सरकार महिलाओं (Womens) को बड़ी राहत देने जा रही है.

2020 में हज यात्रा के लिए रोक दी गईं सभी महिलाओं को 2021 में हज यात्रा करने की अनुमति होगी. यह वो महिलाएं हैं जो बिना मेहरम (Mehram) के जा रहीं थी. इसी तरह से हज यात्रा 2021 के लिए आवेदन करने और बिना मेहरम के जाने वाली सभी महिलाओं को भेजा जाएगा. गौरतलब रहे कि सऊदी अरब (Saudi arabia) के स्थानीय लोग ही इस साल हज में शामिल हो सकेंगे.

हज यात्रा पर यह बोले केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी



केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि इस वर्ष 2300 से अधिक मुस्लिम महिलाओं ने बिना मेहरम (पुरुष रिश्तेदार) के हज पर जाने के लिए आवेदन किया था, इन महिलाओं को हज 2021 में इसी आवेदन के आधार पर हज यात्रा पर भेजा जायेगा. साथ ही अगले वर्ष भी जो महिलाएं बिना मेहरम हज यात्रा हेतु नया आवेदन करेंगी उन सभी को भी हज यात्रा पर भेजा जायेगा.
ये भी पढ़ें:- बिजनेसमैन ने बदमाशों को दी कत्ल की सुपारी, और कत्ल वाले दिन भेज दी अपनी ही तस्वीर, जानें क्यों

इस वजह से China के इस इंस्टीट्यूट में पढ़ने के लिए रखना होता है हिंदुस्तानी नाम

केन्द्रीय मंत्री नकवी ने कहा कि 2019 में 2 लाख भारतीय मुसलमान हज यात्रा पर गए थे. जिनमे 50 प्रतिशत महिलाएं शामिल थी. इसके अतिरिक्त सरकार के अंतरगर्त 2018 में शुरू की गई बिना मेहरम महिलाओं को हज पर जाने की प्रक्रिया के तहत अब तक बिना मेहरम के हज पर जाने वाली महिलाओं की संख्या 3,040 हो चुकी है.

हज यात्रा में हर साल आते हैं 20 लाख लोग

सामान्य दिनों में हज के लिए सऊदी अरब के मक्का में आमतौर पर दुनियाभर से 20 लाख के करीब मुस्लिम जुटते हैं. मक्का में इस्लामिक मामलों के मंत्रालय की शाखा ने शहर की लगभग 1,560 मस्जिदों को सावधानी बरतने के निर्देश जारी किए हैं. आदेश में कहा गया है कि लोगों को मस्जिदों नमाज अदा करने के लिए अपनी चटाई लाने और नमाज के दौरान शारीरिक दूरी का अनुपालन करना जरूरी होगा. मंत्रालय ने शटडाउन के दौरान सभी मस्जिदों को साफ करने की जिम्मेदारी एजेंसियों को सौंपी है. कोरोना संकट के चलते तीन महीने से बंद मक्का शहर में लोगों को स्वास्थ्य संबंधी सख्त सावधानियों का पालन करने के निर्देश जारी किए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज