सरकारी नौकरियों में गरीब सवर्णों को आरक्षण के बाद उम्र में छूट देने की तैयारी- रिपोर्ट

ओबीसी अभ्यार्थियों को उम्र सीमा में तीन साल, जबकि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थियों को पांच साल की छूट दी जाती है.

News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 11:04 AM IST
सरकारी नौकरियों में गरीब सवर्णों को आरक्षण के बाद उम्र में छूट देने की तैयारी- रिपोर्ट
सरकारी नौकरियों में गरीब सवर्णों को आरक्षण के बाद उम्र में छूट देने की तैयारी
News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 11:04 AM IST
सामान्य वर्ग के गरीब सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने के बाद अब अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) की तरह अधिकतम आयु सीमा में भी छूट देने पर विचार किया जा रहा है. अखबार हिन्दुस्तान में छपी खबर के मुताबिक केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने इस संबंध में कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग को पत्र लिखा है. उन्होंने पत्र में इस बात का जिक्र किया है कि अगर पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति को आरक्षण के साथ उम्र का लाभ दिया जाता है तो गरीब सवर्णों को भी सभी तरह का लाभ दिया जाना चाहिए. गौरतलब है कि ओबीसी अभ्यथियों को उम्र सीमा में तीन साल, जबकि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थियों को पांच साल की छूट दी जाती है.

रिपोर्ट के मुताबिक, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने केंद्रीय कार्मिक, लोक शिकायत एवं पेंशन राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह को पत्र लिखकर इस संबंध में जानकारी दी है. पत्र के माध्यम से मांग की गई है कि ईडब्ल्यूएस श्रेणी के अभ्यर्थियों को सरकारी नियुक्तियों में उम्र की सीमा में भी छूट दी जानी चाहिए. पत्र में कहा गया है कि जब ओबीसी, एससी और एसटी छात्रों को आरक्षण के साथ उम्र सीमा में छूट दी जाती है तो गरीब सवर्णों को भी ऐसी छूट दी जानी चाहिए.

इसे भी पढ़ें :- गरीब सवर्णों के लिए 10% आरक्षण आज से लागू, ये होंगे आरक्षण के हकदार

अगर सवर्णों को उम्र की सीमा में छूट दी जाती है तो बहुत जल्द उन्हें अंकों में भी कुछ छूट मिल सकती है. दरअसल प्रतियोगी परीक्षाओं ने आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों को अंकों में भी छूट दी जाती है. अभी तक ईडब्लयूएस आरक्षण में ऐसा कोई प्रावधान नहीं किया गया है.

विश्वविद्यालयों को जारी की गई अधिसूचना
मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने सभी विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों को आरक्षण के जुड़ी अधिसूचना जारी कर दी है. इसी के साथ ये कानून प्रभाव में आ गया है. इसमें एससी, एसटी,ओबीसी के साथ ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लिए भी आरक्षण का प्रावधान किया गया है.
First published: July 15, 2019, 10:51 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...