अपना शहर चुनें

States

राजीव गांधी सेंटर का नाम गोलवलकर पर करने का CM विजयन ने जताया विरोध, थरूर बोले- सांप्रदायिकता बढ़वाने के अलावा किया क्या?

शशि थरूर राजीव गांधी सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी के कैपस के नाम पर जताई आपत्ति.
शशि थरूर राजीव गांधी सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी के कैपस के नाम पर जताई आपत्ति.

कांग्रेस (Congress) नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने सरकार से पूछा है कि आखिर माधव सदाशिव गोलवलकर (MS Golwalkar) ने संप्रदायिकरण की बीमारी फैलाने के अलावा विज्ञान में क्या योगदान दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 6, 2020, 1:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राजीव गांधी सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी का नाम बदले जाने की चर्चा के साथ ही इसको लेकर विवाद भी खड़ा होने लगा है. केरल (Kerala) के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (Pinarayi Vijayan) ने केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखकर तिरुवनंतपुर में बनने वाले राजीव गांधी सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी (RGCB) के दूसरे कैंपस का नाम RSS के पूर्व प्रमुख एमएस गोलवलकर पर रखने पर ऐतराज जताया है. बता दें कि इसी शुक्रवार को RGCB में आयोजित इंडियन इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल के उद्घाटन समारोह में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने रिसर्च फैसिलिटी का नाम ‘श्री गुरुजी माधव सदाशिव गोलवलकर नेशनल सेंटर फॉर कॉम्प्लेक्स डिजीज इन कैंसर एंड वायरल इन्फेक्शन’ रखे जाने की बात कही थी.

डॉ. हर्षवर्धन की घोषणा के बाद केरल के सीएम ने केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखकर कहा, यह संस्थान एक उच्च रिसर्च इंस्टीट्यूट है और हमेशा से राजनीतिक बंटवारे से अलग रहा है. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार की राय है कि इस कैंपस का नाम किसी ऐसे भारतीय वैज्ञानिक के नाम पर हो, जिसने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बड़ा काम किया हो, न कि किसी प्रस्तावित नाम पर. इस तरह के नाम से न केवल संस्थान का सम्मान बढ़ेगा बल्कि सार्वजनिक क्षेत्र में विवादों की स्थिति से भी बचा जा सकेगा.






RGCB के कैंपस का नाम गोलवलकर पर रखे जाने घोषणा पर सीपीएम और कांग्रेस ने भी कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है. कांग्रेस नेता शशि थरूर ने सरकार से पूछा है कि आखिर गोलवलकर ने संप्रदायिकरण की बीमारी फैलाने के अलावा विज्ञान में क्या योगदान दिया है. थरूर ने राजीव गांधी के योगदान के बारे में बताते हुए कहा कि उन्होंने उन्होंने देश में वैज्ञानिक नवोन्मेष को बढ़ावा दिया था और इसके लिए फंड्स तक मुहैया कराए.

इसे भी पढ़ें :- RGCB के दूसरे परिसर का नाम गोलवलकर पर रखने को लेकर कांग्रेस, LDF ने जताई आपत्ति

शशि थरूर ने कहा कि क्या केंद्र सरकार हिटलर को पसंद करने वाले एक व्यक्ति के नाम पर किसी कैंपस का नाम रखना चा​हेगी, जिसने 1966 में विश्व हिंदू परिषद को दिए भाषण में विज्ञान पर धर्म का आधिपत्य घोषित किया था? शशि थरूर ने कहा अगर RGCB के कैंपस का नाम गोलवलकर पर रखा गया तो ये तिरुवनंतपुरम का अपमान होगा. इस तरह की कोशिशों को रोका जाना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज