भारत को एक बार इस्तेमाल वाली प्लास्टिक से इस तरह मुक्त करेंगे जावड़ेकर

भारत को एक बार इस्तेमाल वाली प्लास्टिक से इस तरह मुक्त करेंगे जावड़ेकर
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने जन-अभियान चलाकर भारत को एक बार इस्तेमाल होने वाली प्लास्टिक से मुक्ति दिलाने की बात कही है (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने ब्राजील (Brazil) के साओ पाउलो में एक बार प्रयोग में आने वाली प्लास्टिक (Single-Use Plastic) के इस्तेमाल पर लगाम लगाने के प्लान की घोषणा की है.

  • Share this:
केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने गुरुवार को घोषणा की कि भारत को एक बार इस्तेमाल की जा सकने वाली प्लास्टिक (Single-Use Plastic) से मुक्त करने के लिये जोरदार अभियान चलाया जाएगा. उन्होंने पीएम मोदी (PM Modi) की एक बार इस्तेमाल हो सकने वाले प्लास्टिक के प्रयोग को रोकने की अपील के बाद यह बात कही.

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को स्वतंत्रता दिवस भाषण में लोगों से एक बार इस्तेमाल हो सकने वाले प्लास्टिक का प्रयोग न करने की अपील की थी. इसके बाद जावड़ेकर ने ब्राजील के साओ पाउलो में एक बार प्रयोग में आने वाली प्लास्टिक को लेकर यह घोषणा की.

सरकार के अभियान में शामिल किए जाएंगे सभी हितधारक
भारतीय वाणिज्य दूतावास द्वारा साओ पाउलो में आयोजित स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के दौरान सभा को संबोधित करते हुए पर्यावरण मंत्री जावड़ेकर ने कहा, "भारत के 73वें स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री के आह्वान के तहत सभी हितधारकों को शामिल कर बड़े पैमाने पर सार्वजनिक अभियान शुरू किया जाएगा."
क्या होता है एक बार इस्तेमाल किया जा सकने वाला प्लास्टिक?


40 माइक्रान से कम के प्लास्टिक का पुनर्चक्ररण नहीं होता है, इसलिए इसके इस्तेमाल पर पहले ही पाबंदी है, लेकिन पॉलिथीन की थैलियां बनाने वाले धड़ल्ले से 20 माइक्रोन तक का इस्तेमाल कर रहे हैं.

बहुत खतरनाक होता है एक बार इस्तेमाल किया जा सकने वाला प्लास्टिक
40 माइक्रोन से कम स्तर के प्लास्टिक थैले अत्यधिक घातक हैं. इसका इस्तेमाल के बाद कोई उपयोग नहीं है और यह सड़कों पर बिखरा रहता है औक गाय भैंस आदि इसे खाकर बीमार हो रहे हैं. कई बार पशुओं के पेट से किलो के हिसाब से प्लास्टिक मिल रहा है. यह प्लास्टिक मनुष्य के लिए भी घातक है.

पिछली सरकार में केंद्रीय पर्यावरण मंत्री रहने के दौर से प्रकाश जावड़ेकर एक बार इस्तेमाल होने वाली प्लास्टिक को लेकर चिंता जताते रहे हैं. पिछली सरकार में उन्होंने इसके विषय में कहा था, "खतरनाक प्लास्टिक की थैलियों का इस्तेमाल नहीं हो इसके लिए सरकार दंड का विधान करेगी और नियम तोड़ने वालों को कड़ी सजा देगी. उन्होंने कहा कि कपड़े की थैलियों का फिर से इस्तेमाल हो इसके लिए जन-जागरुकता अभियान चलाया जाएगा."

यह भी पढ़ें: PM मोदी ने क्यों कहा इस दीवाली तोहफे में दें कपड़े का थैला
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज