केंद्र की नीतियों ने देश को बनाया डम्पिंग यार्ड! कोरोना स्थिति पर विपक्ष ने लगाए आरोप

पोटले ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने देशभर को डम्पिंग यार्ड बनाकर रखा हुआ है.

पोटले ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने देशभर को डम्पिंग यार्ड बनाकर रखा हुआ है.

पोटले ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पिछले दिनों कहा था कि कोरोना की आपात स्थिति में न तो ऑक्सीजन दिख रहा है, न रेमडेसिवीर इंजेक्शन मिल रही है और न ही देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिखाई दे रहे हैं, वो बिल्कुल सच साबित हो रहा है.

  • Share this:

रवि गुलकारी

देशभर में बढ़ते कोरोना वायरस (Coronavirus Case in India) के मामले पर राजनीति बढ़ती जा रही है. महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले (Nana Patole) ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार की नीति की वजह से पूरे देश में मौत का तांडव हो रहा है. पोटले ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने देशभर को डम्पिंग यार्ड बनाकर रखा हुआ है. भारत के कोने-कोने में चीन का गार्बेज डम्प किया जा रहा है.

पोटले ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पिछले दिनों कहा था कि कोरोना की आपात स्थिति में न तो ऑक्सीजन दिख रहा है, न रेमडेसिवीर इंजेक्शन मिल रही है और न ही देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिखाई दे रहे हैं, वो बिल्कुल सच साबित हो रहा है.

जान बचाने के लिए लॉकडाउन है सही
महाराष्ट्र में सीएम उद्धव ठाकरे द्वारा लॉकडाउन की समय सीमा बढ़ाए जाने का समर्थन करते हुए नाना पोटले ने कहा कि लोगों की जान बचाने के लिए वर्तमान में यही सही है. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान गरीब और मजदूरी करने वाले लोगों को सहारा दिया जाना चाहिए. उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी के खतरे को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने आगामी 1 जून तक राज्य में लॉकडाउन बढ़ा दिया है. सरकार की तरफ से इस बाबत आदेश भी निकाला गया है.







जिनमें तमाम दिशा निर्देशों का जिक्र किया गया है. पुराने नियमों के साथ कुछ नए नियमों को भी जोड़ा गया है ताकि कोरोना की चेन को तोड़ा जा सके. नाना पटोले ने केंद्र को घेरते हुए कहा कि सरकार को सुप्रीम कोर्ट को यह बोलना है कि उन्हें इस मामले में दखल देने का अधिकार नहीं है. यह एक प्रकार से अदालत की अवमानना है उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने अदालत ने झूठ बोला कि केंद्र और राज्य मिलकर मुफ्त में लोगों को मुहैया करवा रहे हैं. इस पूरी प्रक्रिया में जनता के पैसे का इस्तेमाल हो रहा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज