• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट से जुड़े मिथकों का होगा पर्दाफाश, केंद्र सरकार ने लॉन्च की वेबसाइट

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट से जुड़े मिथकों का होगा पर्दाफाश, केंद्र सरकार ने लॉन्च की वेबसाइट

सेंट्रल विस्टा परियोजना (सांकेतिक तस्वीर)

सेंट्रल विस्टा परियोजना (सांकेतिक तस्वीर)

Central Vista Project: सेंट्रल विस्टा मास्टर प्लान के पुनर्विकास की कल्पना मार्च 2020 में कोविड-19 महामारी के प्रकोप से कई महीने पहले सितंबर 2019 में की गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने गुरुवार को सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट (Centre Vista Project) से जुड़ी वेबसाइट को लॉन्च किया. इसमें ब्रिटिश राज से लेकर अब तक के भारत के पावर सेंटर्स को दिखाया गया है. साथ ही प्रोजेक्ट से जुड़ी सारी जानकारियां भी इसमें दी गई हैं. इसके अलावा वेबसाइट पर प्रोजेक्ट से जुड़े मिथकों का पर्दाफाश करने के लिए एक खास सेक्शन रखा गया है. जहां हर सवाल का जवाब बारीकी से दिया गया है. बता दें कि विपक्ष ने इस प्रोजेक्ट को लेकर मोदी सरकार पर तीखा हमला किया था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस प्रोजेक्ट को सही ठहराया.

    पिछले करीब एक महीने से इस प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है. अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत करते हुए एक अधिकारी ने कहा, ‘इस प्रोजेक्ट को लेकर हमें बहुत भ्रम और गलत सूचनाएं मिली हैं. इसलिए हमने वेबसाइट पर सब कुछ डाल दिया है. लोगों के पास अपना सुझाव देने का विकल्प भी है. तथ्य जांच पर वीडियो हैं, जो दिखाते हैं कि परियोजना के बारे में गलत सूचना कैसे फैलाई गई.’

    ये भी पढ़ें:- Covid-19 Side Effects: कोविड-19 से उबरे लोगों के पित्ताशय में हो रही गैंग्रीन की समस्‍या, जानें क्‍या है ये रोग

    वेबसाइट पर सरकार ने मौजूदा संसद भवन की कई तस्वीरें भी अपलोड की हैं. इसमें दिखाया गया है कि कैसे लोगों को इसमें बैठने में दिक्कतें हो रही हैं. कहा गया है कि सेंट्रल विस्टा मास्टर प्लान के पुनर्विकास की कल्पना मार्च 2020 में कोविड-19 महामारी के प्रकोप से कई महीने पहले सितंबर 2019 में की गई थी और कार्यों को छह साल में पूरा किया जाएगा. यह भी कहा गया है कि सरकार ने हाल के दिनों में किस तरह से स्वास्थ्य के लिए बजटीय आवंटन बढ़ाया है और जनता का स्वास्थ्य सरकार की प्राथमिकता रही है.

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को महत्वाकांक्षी सेंट्रल विस्टा परियोजना की आलोचना करने वालों को आड़े हाथ लेते हुए कहा था कि ऐसे लोग रक्षा कार्यालय परिसरों के मुद्दे पर चुप रहते थे, क्योंकि उन्हें मालूम था कि इससे ‘भ्रम और झूठ’ फैलाने की उनकी कोशिशों की पोल खुल जाएगी. उन्होंने जोर देकर कहा कि सेंट्रल विस्टा से जुड़ा जो काम आज हो रहा है, उसके मूल में ‘जीवन की सुगमता’ और ‘व्यवसाय की सुगमता’ की भावना है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज