केरल सोना तस्करी मामला: केंद्र ने NIA को सौंपी जांच, राष्ट्रीय सुरक्षा का दिया हवाला

केरल सोना तस्करी मामला: केंद्र ने NIA को सौंपी जांच, राष्ट्रीय सुरक्षा का दिया हवाला
केरल के गोल्ड स्मगलिंग मामले की जांच एनआईए करेगी (सांकेतिक तस्वीर)

गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने गुरुवार को एक बयान जारी कर बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा (National Security) ने जुड़ा मामला होने के चलते ये जांच एनआईए (NIA) को सौंपी जा रही है.

  • Share this:
(अरुणिमा)

नई दिल्ली.
केरल में सोने की तस्करी (Kerala Gold Smuggling) की जांच केंद्रीय जांच एजेंसी (National Investigation Agency) करेगी. गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने गुरुवार को एक बयान जारी कर बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा (National Security) ने जुड़ा मामला होने के चलते ये जांच एनआईए को सौंपी जा रही है. गृह मंत्रालय प्रवक्ता द्वारा किए गए एक ट्वीट में कहा गया कि "गृह मंत्रालय ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी को तिरुवनंतपुरम हवाई अड्डे के सोने की तस्करी के मामले की जांच करने की अनुमति दी, क्योंकि संगठित तस्करी ऑपरेशन के राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए गंभीर प्रभाव हो सकते हैं."

बता दें सीमा शुल्क के अधिकारियों ने 4 जुलाई को तिरुवनंतपुरम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (Tiruvananthpuram International Airport) पर एयर कार्गो (Air Cargo) के जरिए पहुंचे ‘‘राजनयिक सामान’’ में 30 किलोग्राम से अधिक सोना बरामद किया था. इस सोने की कीमत 15 करोड़ आंकी गई है. यह सोना राज्य में संयुक्त अरब अमीरात (United Arab Emirates) के वाणिज्य दूतावास से जुड़े सामान के साथ मिला था. मामले की मुख्य आरोपी स्वप्ना सुरेश फरार हैं और विपक्ष ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) द्वारा उसे सुरक्षा दी जा रही है.



ये भी पढ़ें- PM मोदी कल राष्ट्र को समर्पित करेंगे एशिया की सबसे बड़ी सौर परियोजना
UAPA से संबंधित धाराओं के तहत हो सकती है एफआईआर
News18 ने जब एनआईए अधिकारियों से संपर्क किया, तो उन्होंने कहा कि उन्हें अभी आदेश की प्रति प्राप्त नहीं हुई है. अधिकारियों ने कहा कि अगर राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला दिया जा रहा है, तो एनआईए की एफआईआर गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) से संबंधित धाराओं के तहत हो सकती है. तस्करी एक शेड्यूल्ड अपराध नहीं है, लेकिन 2019 एनआईए संशोधन अधिनियम ने इसे भारत के बाहर के मामलों की जांच करने का अधिकार दिया है.

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन (CM Pinrayi Vijayan) ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को एक पत्र लिखा था, जिसमें सोने की जब्ती के मामले में "प्रभावी जांच के लिए हस्तक्षेप" की मांग की गई थी.

ये भी पढ़ें- केरल के मुख्यमंत्री ने किया आगाह, तिरुवनंतपुरम में गंभीर हो सकते हैं हालात

कांग्रेस नेता ने की थी सीबीआई जांच की मांग
केरल के कांग्रेस नेता रमेश चेन्निथला ने मामले की सीबीआई जांच (CBI Enquiry) की मांग की थी, जिसने मुख्यमंत्री कार्यालय को भी प्रभावित किया है.

दिल्ली में यूएई दूतावास (UAE Embassy) ने पहले कहा था कि कार्गो के स्रोत की जांच शुरू हो गई है और "जिम्मेदार लोगों ने न केवल एक बड़ा अपराध किया है बल्कि भारत में यूएई मिशन की प्रतिष्ठा को धूमिल करने की कोशिश की है" और उन्हें बख्शा नहीं जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading