Home /News /nation /

centre calls for mission mode coronavirus vaccination across country

कोविड वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने पर केंद्र का जोर, राज्यों से 'मिशन मोड' पर काम करने को कहा

भारत का कोविड-19 टीकाकरण कवरेज शुक्रवार सुबह तक 191.96 करोड़ से अधिक हो गया. (फाइल फोटो)

भारत का कोविड-19 टीकाकरण कवरेज शुक्रवार सुबह तक 191.96 करोड़ से अधिक हो गया. (फाइल फोटो)

India Coronavirus Vaccination: स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, 15-18 आयु वर्ग में कुल 5,91,09,660 युवाओं को पहली कोविड-19 वैक्सीन खुराक दी गई है, जबकि अभियान की शुरुआत से इस ग्रुप के बीच 4,45,34,980 दूसरी खुराक दी गई है.

नई दिल्ली. देश में धीमी गति से चल रहे कोविड-19 टीकाकरण को तेज करने के मकसद से केंद्र सरकार ने शुक्रवार को एक गहन ‘मिशन मोड’ की तत्काल आवश्यकता पर जोर देते हुए सभी राज्यों को जून से दो महीने तक चलने वाले ‘हर घर दस्तक’ अभियान 2.0 की योजना बनाने की सलाह दी. मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से सभी पात्र लाभार्थियों को पूर्ण टीकाकरण कवरेज की दिशा में तेजी लाने का आग्रह किया है.

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की एक बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने दृढ़ता से सलाह दी कि यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि किसी भी कीमत पर कोविड के टीकों की बर्बादी न हो. बैठक में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को बताया गया कि यह सक्रिय निगरानी के माध्यम से सुनिश्चित किया जाना चाहिए और ‘First Expiry First Out’ सिद्धांत के आधार पर खुराक का इस्तेमाल टीकाकरण के लिए किया जाना चाहिए. ‘First Expiry First Out’ का मतलब यह है कि जिन खुराकों की एक्सपायरी डेट नजदीक आ रही है, वैक्सीनेशन के लिए उनका उपयोग पहले हो.

वैक्सीनेशन के लिए ‘मिशन मोड’ पर काम करने की जरूरत
बयान में कहा गया है, “हाल ही में वैक्सीनेशन की शांत गति को तेज करने के मद्देनजर देश भर में कोविड टीकाकरण के लिए एक गहन ‘मिशन मोड’ की तुरंत जरूरत पर प्रकाश डालते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को विस्तृत जिला, ब्लॉक और ग्राम स्तर की योजनाओं के साथ जून-जुलाई के दौरान दो महीने के लंबे ‘हर घर दस्तक’ अभियान 2.0 की योजना बनाने की सलाह दी है.”

क्या है ‘हर घर दस्तक’ अभियान का मकसद
‘हर घर दस्तक 2.0’ अभियान का उद्देश्य घर-घर जाकर पहले, दूसरे और एहतियाती खुराक के लिए पात्र जनसंख्या समूहों का टीकाकरण करना है, जिसमें वृद्धाश्रमों, स्कूलों और कॉलेजों के लिए केंद्रित अभियान भी शामिल हैं. इस अभियान में वैसे बच्चे जो स्कूल के बाहर जेल, ईंट भट्टे आदि स्थानों पर हैं, के टीकाकरण पर भी जोर दिया गया है, ऐसा इसलिए ताकि 12 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों के वैक्सीनेशन कवरेज में इजाफा हो सके.

कोविड -19 टीकाकरण की गति बढ़ाने पर जोर
बैठक में 60 वर्ष से कम आयु के व्यक्तियों को एहतियाती खुराक के साथ, साथ ही 12-14 वर्ष के समूह में कवरेज की धीमी गति के बारे में बताया गया. राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से सभी पात्र लाभार्थियों की देय सूचियों के आधार पर सूक्ष्म योजनाओं के साथ प्रभावी निगरानी करने का आग्रह किया गया. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने राष्ट्रव्यापी कोविड -19 टीकाकरण की गति बढ़ाने के लिए एक स्पष्ट और प्रभावी संचार रणनीति पर भी जोर दिया, यह देखते हुए कि अनुकूलित क्षेत्रीय संचार सर्वोत्तम प्रथाओं ने टीकाकरण कवरेज में सराहनीय परिणाम प्राप्त किए हैं.

कोविड टीकाकरण की स्थिति की समीक्षा
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में टीकाकरण की धीमी गति के बारे में चिंताओं को हरी झंडी दिखाई है और उनसे सभी पात्र लाभार्थियों को पूर्ण टीकाकरण कवरेज की गति में तेजी लाने का आग्रह किया है. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव द्वारा सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को यह सूचित किया गया था, क्योंकि उन्होंने शुक्रवार को एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के स्वास्थ्य सचिवों और मिशन निदेशकों के साथ कोविड टीकाकरण की स्थिति की समीक्षा की थी.

भारत के 60 फीसदी से अधिक किशोरों ने पूरी तरह से टीका लगवाया
इस बीच, भारत में 15 से 18 वर्ष की आयु के 60 प्रतिशत से अधिक युवाओं को कोविड-19 के खिलाफ पूरी तरह से टीका लगाया गया है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी. स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट किया, “15-18 आयु वर्ग के 60 फीसदी से अधिक युवाओं को अब कोविड-19 के खिलाफ पूरी तरह से टीका लगाया गया है. वेल डन यंग इंडिया!” उन्होंने यह भी कहा कि महामारी के खिलाफ एक साथ ‘हम लड़ाई जीतेंगे.’

स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार, इस आयु वर्ग में कुल 5,91,09,660 युवाओं को पहली कोविड-19 वैक्सीन खुराक दी गई है, जबकि अभियान की शुरुआत से इस ग्रुप के बीच 4,45,34,980 दूसरी खुराक दी गई है. इसके अलावा 12 से 14 साल के कुल 3,24,75,018 किशोरों को पहली खुराक दी गई है. इस आयु वर्ग के बीच, 16 मार्च से इस वर्ग के लिए अभियान की शुरुआत के बाद से 3,24,75,018 पहली खुराक और 1,33,64,363 दूसरी कोविड वैक्सीन खुराक दी गई है.

Tags: Coronavirus, Coronavirus news, Coronavirus vaccination

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर