कोरोना: इन 5 राज्यों में कम पड़ सकते हैं वेंटिलेटर और बेड, केंद्र ने किया आगाह

कोरोना: इन 5 राज्यों में कम पड़ सकते हैं वेंटिलेटर और बेड, केंद्र ने किया आगाह
पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर लिया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

केंद्र सरकार (Central Government) की तरफ से कहा गया है कि जून से अगस्त के बीच तमिलनाडु, महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात, उत्तरप्रदेश में कोरोना के गंभीर रोगियों के लिए आईसीयू और वेंटिलेटर की कमी पड़ सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 12, 2020, 10:53 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में कोरोना (Corona Virus) के बढ़ते मामलों के मद्देनजर केंद्र सरकार (Central Government) ने पांच राज्यों को आगाह किया है. केंद्र सरकार की तरफ से कहा गया है कि जून से अगस्त के बीच तमिलनाडु, महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात, उत्तरप्रदेश में कोरोना के गंभीर रोगियों के लिए आईसीयू और वेंटिलेटर की कमी पड़ सकती है.

दिल्ली में शुरू हो चुकी है कमी
कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच देश की राजधानी दिल्ली में आईसीयू बेड की कमी बीते 3 जून से ही शुरू हो गई है. आंकड़ों के मुताबिक आगे वेंटिलेटर, आइसोलेशन बेड और ऑक्सीजन की कमी भी पड़ सकती है. ये आंकड़े कैबिनेट सेक्रेटरी राजीव गाउबा और राज्यों के मुख्य और स्वास्थ्य सचिवों के हुई बातचीत के दौरान सामने आए हैं.

महाराष्ट्र में अगस्त में आ सकती है दिक्कत
महाराष्ट्र में आईसीयू बेड की कमी 8 अगस्त से शुरू हो सकती है. वहीं राज्य में 27 जुलाई को वेंटिलेटर्स की संख्या में कमी आ सकती है. वहीं तमिलनाडु में आसीयू बेड 9 जुलाई के बाद कम पड़ सकते हैं तो वहीं ऑक्सीजन की कमी 21 जुलाई से शुरू हो सकती है.



एकदम तेजी के साथ बढ़ी है संख्या
इसी तरह के ट्रेंड उत्तर प्रदेश और गुजरात को लेकर भी बताए गए हैं. गौरतलब है कि भारत में कोरोना रोगियों की संख्या एकदम तेजी के साथ बढ़ना शुरू हुई है. बीते कुछ दिनों में लगभग रोज दस हजार के आस-पास मामले सामने आ रहे हैं. कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र है. उसके बाद दिल्ली में भी रोगियों की संख्या में तेजी के साथ इजाफा हुआ है.

कई जगहों पर काफी ज्यादा है कोरोना डेथ रेट
ऐसे में माना जा रहा है कि राज्यों को आगे की स्थिति के बारे में केंद्र सरकार द्वारा आगाह किया जा रहा है जिससे वो पहले से ही तैयारी करके रखें. वैसे तो भारत में कोरोना का डेथ रेट दुनिया में सबसे कम बताया जा रहा है लेकिन अगर गंभीर संक्रमण के दौरान उपकरणों की कमी पड़ी तो ये प्रतिशत तेजी के साथ बढ़ भी सकता है. जैसे महाराष्ट्र के जलगांव जिले में कोरोना का डेथ प्रतिशत राष्ट्रीय औसत से करीब चार गुना ज्यादा निकल आया है.

इसे भी पढ़ें :-
जानें कहां पहुंचा मॉनसून, इन राज्यों में आज भारी बारिश की संभावना

महाराष्ट्र के एक और कैबिनेट मंत्री मिले कोरोना पॉजिटिव, 5 स्टाफ भी संक्रमित

कर्मचारियों को लॉकडाउन के दौरान की पूरी सैलरी मिलेगी? SC का फैसला आज
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading