Lok Sabha Election 2019: कौन तोड़ेगा चुनावी चक्रव्यूह का सातवां द्वार?

सातवें और अंतिम चरण में आठ राज्यों की 59 सीटों पर होगा मतदान, 2014 में इनमें से 33 सीटें थीं बीजेपी के पास.

ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: May 12, 2019, 4:51 PM IST
Lok Sabha Election 2019: कौन तोड़ेगा चुनावी चक्रव्यूह का सातवां द्वार?
अंतिम चरण के चुनाव में वाराणसी पर रहेगी देश भर की नजर!
ओम प्रकाश
ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: May 12, 2019, 4:51 PM IST
छठे चरण के मतदान खत्म होने वाले हैं. अब नेताओं ने सातवें और अंतिम चरण के मतदान के लिए पूरी ताकत झोंक दी है. 2019 के लोकसभा चुनाव का अंतिम पड़ाव इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि इसमें सबसे बड़े चेहरे मैदान में हैं. इस चरण में वाराणसी के वोटर भी अपना सांसद चुनेंगे. यानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सियासी किस्मत ईवीएम में कैद होगी. इस सीट पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की भी परीक्षा होगी, क्योंकि उनके गृह क्षेत्र गोरखपुर में भी वोटिंग है. उनके लिए अपनी सीट से रवि किशन को जिताना चुनौती है. गठबंधन गणित की वजह से उनके क्षेत्र में भी सियासी हालात बदले हुए हैं.

अंतिम चरण में 59 सीटों पर मतदान
अंतिम चरण में 19 मई को आठ राज्यों की 59 सीटों पर मतदान होगा. उत्तर प्रदेश की 13, पंजाब की सभी 13, पश्चिम बंगाल की नौ, बिहार व मध्य प्रदेश की आठ-आठ, हिमाचल प्रदेश की सभी चार, झारखंड की तीन और चंडीगढ़ लोकसभा सीट पर चुनाव होगा. 2014 के लोकसभा चुनाव में इन 59 सीटों में से सबसे ज्यादा 33 सीटें बीजेपी के पास थीं. टीएमसी के पास नौ, कांग्रेस के पास तीन और अन्य के पास 14 सीटें थीं. ऐसे में सबसे बड़ी चुनौती बीजेपी के सामने अपनी सीटें बचाने की है. क्योंकि इस बार गठबंधन का गणित भी है. हालांकि बीजेपी को मोदी कैमिस्ट्री पर पर सबसे ज्यादा भरोसा है. बीजेपी के प्रवक्ता राजीव जेटली का दावा है कि पहले से ज्यादा सीटें आएंगी.

ये भी पढ़ें: कम-ज्यादा वोटिंग का गणित क्या सच में बदल देता है चुनावी परिणाम!

lok sabha election 2019, phase 7 lok sabha election, lok sabha polls 2019, east up, west bengal, bihar, bjp, congress, sp, bsp, yogi adityanath, लोकसभा चुनाव 2019, लोक सभा चुनाव का सातवां चरण, पूर्वांचल, पश्चिम बंगाल, बिहार, बीजेपी, कांग्रेस, सपा, बसपा, योगी आदित्यनाथ, नरेंद्र मोदी, narendra modi, Election Commission, चुनाव आयोग, varanasi, Gorakhpur, Ghazipur, Gurdaspur, Ara, buxar, patna sahib, Chandigarh, वाराणसी, गोरखपुर, गाजीपुर, गुरदासपुर, आरा, बक्सर, पटना साहिब, चंडीगढ़, मनोज सिन्हा, रविशंकर प्रसाद, आश्विनी कुमार चौबे, आरके सिंह, मीरा कुमार, रामकृपाल यादव, शत्रुघ्न सिन्हा, सनी देओल, Manoj Sinha, Ravi Shankar Prasad, Ashwini Kumar Choubey, RK Singh, Meira Kumar, Ram Kripal Yadav, Shatrughan Sinha, Sunny Deol       अंतिम चरण में आठ राज्यों की 59 सीटों पर वोटिंग होगी

दिग्गजों की सियासी किस्मत दांव पर
अंतिम चरण में पीएम मोदी के अलावा जिन बड़े चेहरों की सियासी किस्मत दांव पर लगी हुई है उनमें बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रमापतिराम त्रिपाठी, बसपा के प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडे, केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे, केंद्रीय मंत्री आरके सिंह, लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष मीरा कुमार, केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव, शत्रुघ्न सिन्हा और सनी देओल शामिल हैं.
राजनीतिक विश्लेषक रशीद किदवई का कहना है कि सातवें चरण के चुनाव में सबका फोकस वाराणसी सीट पर रहेगा. क्योंकि यहां पर प्रधानमंत्री मोदी खड़े हैं. इस चरण की 59 सीटों में से 33 बीजेपी के पास हैं तो चुनौती भी बीजेपी के लिए ही सबसे बड़ी है. इसीलिए नरेंद्र मोदी लगातार पूर्वांचल पर फोकस कर रहे हैं.

किन सीटों पर चुनाव?
उत्तर प्रदेश: वाराणसी, गोरखपुर, कुशीनगर, महाराजगंज, देवरिया, बांसगांव, सलेमपुर, बलिया, घोसी, गाजीपुर, रॉबर्ट्सगंज, चंदौली, मिर्जापुर.

पंजाब: अमृतसर, जालंधर, गुरदासपुर, होशियारपुर, फरीदकोट, फिरोजपुर, बठिंडा, आनंदपुर साहिब, लुधियाना, फतेगढ़ साहिब, संगरुर, पटियाला, खडूर साहिब.

पश्चिम बंगाल: डायमंड हार्बर, दमदम, बारासात, बशीरहाट, जाधवपुर, जयनगर, मथुरापुर, कोलकाता उत्तर, कोलकाता दक्षिण.

मध्य प्रदेश: रतलाम, उज्जैन, मंदसौर, देवास, खरगौन, खंडवा, धार

बिहार: आरा, बक्सर, नालंदा, काराकट, जहानाबाद, पटना साहिब, पाटलिपुत्र, सासाराम.

हिमाचल प्रदेश: मंडी, कांगड़ा, हमीरपुर, शिमला.

झारखंड- गोड्डा, दुमका, राजमहल.

चंडीगढ़ : चंडीगढ़.

ये भी पढ़ें:

'जाटलैंड' की जंग: क्या कामयाब होगी बीजेपी की ये रणनीति?

संत कबीर की धरती पर कांग्रेस ने बढ़ाई अखिलेश यादव-मायावती की चुनौती!

चुनावी चक्रव्यूह में फंसी हरियाणा के तीनों 'लालों' की नई पीढ़ी!

 

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...