बंगालः चंदननगर के पुलिस आयुक्त हुमायूं कबीर ने इस्तीफा दिया, TMC में हो सकते हैं शामिल

पश्चिम बंगाल में अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव हो सकते हैं.

पश्चिम बंगाल में अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव हो सकते हैं.

West Bengal News in Hindi: राज्य पुलिस सेवा (एसपीएस) के 2003 बैच के अधिकारी कबीर को दिसंबर में पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) के रैंक पर पदोन्नत किया गया था.

  • Share this:
चंदननगर. पश्चिम बंगाल में चंदननगर के पुलिस आयुक्त हुमायूं कबीर ने व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए शुक्रवार को इस्तीफा दे दिया. राज्य सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी. सत्ताधारी पार्टी के एक सूत्र ने बताया कि कबीर के अगले महीने तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने की संभावना है और हो सकता है कि विधानसभा चुनाव में उन्हें हुगली जिले की एक सीट से मैदान में उतरा जाए.

राज्य पुलिस सेवा (एसपीएस) के 2003 बैच के अधिकारी कबीर को दिसंबर में पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) के रैंक पर पदोन्नत किया गया था. उन्होंने कहा, "मेरी कुछ अपनी आकांक्षाएं हैं, जिन्हें मुझे पूरा करना है और इसीलिए मैंने यह फैसला लिया." मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के करीबी माने जाने वाले कबीर से जब यह पूछा गया कि क्या वह राजनीति में शामिल होने जा रहे हैं, तो इस पर उन्होंने कहा कि वह चार फरवरी को अपनी भविष्य की योजनाओं का खुलासा करेंगे.

चार फरवरी को करूंगा इस पर बात

उन्होंने कहा, "मैं आज कुछ नहीं कहूंगा. मुझे कुछ दिन दीजिए. कुछ भी ठोस बात नहीं हुई है. मैं इसके बारे में चार फरवरी को बात करूंगा." कबीर ने कई किताबें लिखी हैं, जिनमें 'उत्तोरन' भी शामिल है, जिसे मुख्यमंत्री ने पिछले साल कोलकाता अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले में अनावरण किया था. उन्होंने एक बंगाली क्राइम थ्रिलर फिल्म 'अलेया' का निर्देशन भी किया है, जो 2018 में सिनेमाघरों में प्रदर्शित हुई थी.
वर्तमान में कोलकाता पुलिस के संयुक्त आयुक्त (अधिष्ठान) गौरव शर्मा को हुगली जिले के शहर चंदननगर का नया आयुक्त नियुक्त किया गया है. शर्मा एक फरवरी को नया पद संभालेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज