होम /न्यूज /राष्ट्र /Video: चंडीगढ़ में इस IAS की खूब हो रही तारीफ, हार्ट अटैक के मरीज को CPR देकर बचाई जान

Video: चंडीगढ़ में इस IAS की खूब हो रही तारीफ, हार्ट अटैक के मरीज को CPR देकर बचाई जान

वर्ष 2008 बैच के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी यशपाल गर्ग का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. (वीडियो ग्रैब)

वर्ष 2008 बैच के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी यशपाल गर्ग का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. (वीडियो ग्रैब)

चंडीगढ़ के सेक्टर-41 निवासी जनक लाल मंगलवार सुबह चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड (सीएचबी) के दफ्तर पहुंचे थे, जहां उन्हें दिल का ...अधिक पढ़ें

चंडीगढ़. पंजाब और हरियाणा की राजधानी चंडीगढ़ में तैनात स्वास्थ्य सचिव यशपाल गर्ग की इन दिनों लोग खूब तारीफ कर रहे हैं. दरअसल वर्ष 2008 बैच के इस वरिष्ठ आईएएस अधिकारी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें वह एक शख्स को कार्डियोपल्मोनरी रिससिटेशन यानी सीपीआर देते दिख रहे हैं.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, चंडीगढ़ के सेक्टर-41 निवासी जनक लाल मंगलवार सुबह चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड (सीएचबी) के दफ्तर पहुंचे थे, जहां उन्हें दिल का दौरा पड़ा और वह वहीं गिर पड़े. इस बीच स्वास्थ्य सचिव यशपाल गर्ग को जब इसका पता चला तो तुरंत वहां पहुंचे को जनक लाल को सीपीआर देकर उनकी जान बचाई. अब उन्हें सेक्टर-16 स्थित सरकारी मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल में निगरानी में रखा गया है.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल ने ट्विटर पर इस घटना का वीडियो शेयर करते हुए चंडीगढ़ के स्वास्थ्य सचिव यशपाल गर्ग की तारीफ करते हुए कहा कि हर इंसान को सीपीआर सीखना चाहिए.

यशपाल गर्ग इस घटना को लेकर मीडिया से बातचीत में बताया, ‘मैं सीएचबी में अपने केबिन में था. इस बीच जनसंपर्क विभाग के निदेशक राजीव तिवारी मेरे चेंबर में दौड़े हुए आए और बताया कि सीएचबी सेक्रेटरी के चेंबर में एक शख्स गिर गया है. मैं वहां गया और उसे सीपीआर दिया.’

गर्ग ने साथ ही बताया कि उनके पास सीपीआर देने का कोई अनुभव या ट्रेनिंग नहीं थी. उन्होंने हाल ही में एक न्यूज़ चैनल पर एक डॉक्टर को मरीज को सीपीआर देकर बचाते हुए देखा था. वह बताते हैं कि टीवी पर दिखाई गई वह घटना दो महीने पहले की थी.

गर्ग ने कहा, ‘मुझे पता है कि मैंने जो प्रक्रिया अपनाई वह उचित नहीं हो सकती है, लेकिन उस समय मेरे दिमाग में जो आया मैंने वही किया. वह कहते हैं जिंदगी बचाने की तत्काल कोशिश दूसरी चीजों पर वक्त बर्बाद करने से ज्यादा अहम था.

Tags: Chandigarh news, Heart attack, IAS Officer

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें