लाइव टीवी

चांद की कक्षा में पहुंचा चंद्रयान-2, आगे हैं ये चुनौतियां

News18Hindi
Updated: August 20, 2019, 1:49 PM IST
चांद की कक्षा में पहुंचा चंद्रयान-2, आगे हैं ये चुनौतियां
मंगलवार को अंतरिक्ष यान को चंद्रमा की कक्षा में सफलतापूर्वक पहुंचा दिया गया

आइए एक नजर डालते हैं कि आने वाले 17 दिन में चंद्रयान 2 (Chandrayan 2) को और किन-किन चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 20, 2019, 1:49 PM IST
  • Share this:
चंद्रयान 2 (Chandrayaan 2) अपने मिशन की ओर लगातार आगे बढ़ रहा है. भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो (ISRO) ने मंगलवार को अंतरिक्ष यान को चंद्रमा की कक्षा में सफलतापूर्वक पहुंचा दिया है. चंद्रयान-2 के लिए ये एक बेहद अहम पड़ाव था. अब हर किसी को 7 सितंबर का इंतज़ार है, जब चंद्रयान-2 चांद पर उतरेगा, लेकिन इससे पहले अभी इसे कई अहम पड़ाव से गुजरना होगा. आइए एक नजर डालते हैं कि आने वाले 17 दिन में चंद्रयान 2 को और किन-किन चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा.

चांद के बेहद नज़दीक
चंद्रयान- 2 ने अब तक करीब 3 लाख 84 हजार किलोमीटर की दूरी तय कर ली है. चांद की कक्षा में जाने के बाद अब चंद्रयान-2 को 18 हज़ार किलोमीटर की दूरी और तय करनी.

चार अहम पड़ाव

अब चंद्रयान-2 को चार और कक्षाएं पार करनी होंगी. इसरो के मुताबिक इसकी दिशा में चार अलग-अलग दिन बदलाव किए जाएंगे. ये है 21, 28, 30 अगस्त और 1 सितंबर. इसे पार करने के बाद चंद्रयान-2 चांद से सिर्फ सौ किलोमीटर दूर रह जाएगा.

7 सितंबर का इंतज़ार
2 सितंबर को लैंडर विक्रम अपने ऑर्बिटर से अलग हो जाएगा. इसके बाद लैंडर विक्रम 7 सितंबर को चांद की सतह पर उतर जाएगा.
Loading...

बेहद अहम होंगे वो 15 मिनट
लैंडिंग के वक्त 15 मिनट बेहद अहम होंगे. चंद्रमा की सतह से 30 किलोमीटर दूर लैंडिग से ठीक पहले चंद्रयान-2 की स्पीड बेहद कम कर दी जाएगी. सॉफ्ट लैंडिंग में कामयाबी मिलते ही भारत ऐसा करने वाला दुनिया का चौथा देश बन जाएगा. अभी तक अमेरिका, रूस और चीन ने ही ये कारनामा किया है.



रोवर से अलग होगा लैंडर
लैंडिंग के बाद 6 पहियों वाला प्रज्ञान रोवर विक्रम लैंडर से अलग हो जाएगा. इस प्रक्रिया में 4 घंटे का वक्त लगेगा. इसरो ने बताया था कि ऑर्बिटर एक साल तक चंद्रमा का चक्कर लगाएगा, लेकिन अब इसके दो साल तक काम करने का अमुमान लगाया जा रहा है.

ये भी पढ़ें: चंद्रयान 2 सबसे खास फेज, चांद की कक्षा में किया प्रवेश

विरोध प्रदर्शनों के बजाए पैरा-टीचर्स को पढ़ाना चाहिए: ममता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2019, 1:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...