• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • चारधाम यात्री बिना दर्शन लौटने को मजबूर, व्यापारियों ने बंद किया बाजार

चारधाम यात्री बिना दर्शन लौटने को मजबूर, व्यापारियों ने बंद किया बाजार

कई

कई यात्रियों को आधे रास्ते से लौटा दिया गया.

दर्शनार्थियों की सीमित संख्या व ई-पास की अनिवार्यता के विरोध में केदारघाटी में गुप्तकाशी से लेकर सोनप्रयाग तक बाजार बंद रहा.

  • Share this:

    चारधाम यात्रा के लिए सीमित दर्शनार्थियों की संख्या तय करने और ई-पास की बाध्यता होने की वजह से व्यापारी वर्ग और यात्री दोनों मायूस हैं. कोरोना के चलते लगभग दो साल तक बंद रही चारधाम यात्रा खुल तो गई लेकिन अभी तक प्रतिदिन बदरीनाथ में 1000, केदारनाथ में 800, गंगोत्री में 600 और यमुनोत्री धाम में 400 यात्रियों की अधिकतम संख्या तय की गई है, जिसके कारण कई तीर्थयात्रियों को आधे रास्ते से बिना दर्शन किए ही वापस लौटना पड़ रहा है.

    सोमवार को दर्शनार्थियों की सीमित संख्या व ई-पास की अनिवार्यता के विरोध में केदारघाटी में गुप्तकाशी से लेकर सोनप्रयाग तक बाजार बंद रहा और व्यापारी वर्ग ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया. केदारघाटी के सभी व्यवसायियों की एक ही मांग है कि ई-पास की अनिवार्यता को खत्म किया जाए और पर्यटकों को केदारघाटी क्षेत्र में जाने की छूट मिले.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज