अपना शहर चुनें

States

कश्मीर से लौट रहे लोगों के लिए एअर इंडिया ने फिक्स किया किराया, अब देने होंगे 6715 रुपये

एअर इंडिया ने इसके साथ ही 15 अगस्त तक श्रीनगर से जुड़ी अपनी सभी उड़ानों के लिए यात्रियों द्वारा उनके कार्यक्रम में बदलाव या उड़ान रद्द होने की स्थिति में कैंसिलेशन फी माफ करने की घोषणा की है.
एअर इंडिया ने इसके साथ ही 15 अगस्त तक श्रीनगर से जुड़ी अपनी सभी उड़ानों के लिए यात्रियों द्वारा उनके कार्यक्रम में बदलाव या उड़ान रद्द होने की स्थिति में कैंसिलेशन फी माफ करने की घोषणा की है.

एअर इंडिया ने इसके साथ ही 15 अगस्त तक श्रीनगर से जुड़ी अपनी सभी उड़ानों के लिए यात्रियों द्वारा उनके कार्यक्रम में बदलाव या उड़ान रद्द होने की स्थिति में कैंसिलेशन फी माफ करने की घोषणा की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 4, 2019, 11:37 AM IST
  • Share this:
जम्मू-कश्मीर में अमरनाथ यात्रा, मचैल के दुर्गा देवी मंदिर की यात्रा को रद्द करने और पर्यटकों को कश्मीर से वापस जाने की एडवाइजरी जारी होने के बाद लोगों को परिवहन सेवाओं के मद्देनजर दिक्कतों सामना करना पड़ रहा है. अन्प्लैन्ड वापसी के चलते लोगों को हवाई और रेल यात्रा के लिए काफी जद्दोजहद करनी पड़ रही है. इस बीच एअर इंडिया ने जम्मू-कश्मीर के लिए विमान किराये कम कर दिए हैं.

एयर इंडिया के प्रवक्ता धनंजय कुमार ने कहा कि एयर इंडिया की श्रीनगर से दिल्ली की उड़ान के लिए अधिकतम किराया 6,715 रुपये और दिल्ली से श्रीनगर के लिए 6,899 रुपये है. ये कीमतें 15 अगस्त तक लागू हैं.

एअर इंडिया ने इसके साथ ही 15 अगस्त तक श्रीनगर से जुड़ी अपनी सभी उड़ानों के लिए यात्रियों द्वारा उनके कार्यक्रम में बदलाव या उड़ान रद्द होने की स्थिति में कैंसिलेशन फी माफ करने की घोषणा की है.



यह भी पढ़ें:  जम्मू-कश्मीर में ‘हलचल’ के पीछे हो सकती हैं ये 5 वजहें
भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के अनुसार, घाटी से यात्रा करने के लिए शनिवार को 6,216 यात्रियों ने श्रीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर सूचना दी. इसमें से 5,829 यात्रियों ने 32  उड़ानों से यात्रा की. बाकी 387 यात्रियों को चार भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के विमानों में भेजा गया और उन्हें जम्मू, पठानकोट और हिंडन जैसे विभिन्न गंतव्यों के लिए रवाना किया गया.

वहीं रेलवे ने जम्मू, कटरा और उधमपुर स्टेशनों से यात्रा के आरक्षित टिकटों को रद्द कराने के लिए यात्रियों से उन पर लगने वाला शुल्क मंगलवार तक नहीं लेने का फैसला किया है. मंत्रालय के सूत्रों ने शनिवार को यह जानकारी दी. सूत्रों ने कहा कि अन्य गंतव्यों से इन जगहों की यात्रा करने वाले यात्रियों के लिये भी यह सुविधा उपलब्ध रहेगी.

उन्होंने कहा कि यात्रियों को सिर्फ लिपिकीय शुल्क देना होगा.

सूत्रों ने बताया कि वैसे तो आदेश जारी कर दिया गया है लेकिन इस संबंध में सेंटर फॉर रेलवे इन्फॉमेंशन सिस्टम (सीआरआईएस) को अपडेट करने की जरूरत है ताकि लोगों रविवार सुबह आठ बजे से मंगलवार सुबह आठ बजे तक यह सुविधा मिल सके.

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर प्रशासन ने आपात स्थिति का हवाला देकर अमरनाथ यात्रियों और सैलानियों को अपनी यात्रा छोटी करने तथा वापस जाने को कहा है. इसी पृष्ठभूमि में यह फैसला किया गया है.

यह भी पढ़ें:   उमर बोले- संसद को बताए सरकार, घाटी में क्या होने जा रहा है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज