दिल्ली दंगे की चार्जशीट में 25 साल के इरफान की हत्या में बीजेपी नेता का नाम

दिल्ली दंगे की चार्जशीट में 25 साल के इरफान की हत्या में बीजेपी नेता का नाम
दिल्ली दंगों की चार्जशीट कड़कड़डूमा कोर्ट में पेश कर दी गई है. (फाइल फोटो)

दिल्ली दंगों (Delhi riots) में शामिल 41 वर्षीय ब्रजमोहन को 28 मार्च को पड़ोसी सनी सिंह (32 वर्ष) के साथ मिलकर इरफान की हत्या करने के आरोप में पुलिस (Delhi police) ने गिरफ्तार किया था. चार्जशीट (Chargesheet) में इस बात की भी जानकारी दी गई है कि ब्रजमोहन ने हत्या की बात कबूल कर ली है.

  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर पूर्वी दिल्ली के गोकलपुरी (Gokalpuri) इलाके में 25-26 फरवरी को भड़के दंगे (Riots) के दौरान 25 वर्षीय इरफान की हत्या के मामले में दायर पुलिस चार्जशीट (Chargesheet) में भाजपा (BJP) के ब्रह्मपुरी मंडल के महामंत्री ब्रजमोहन शर्मा का भी नाम शामिल किया गया है. दंगों की चार्जशीट में शामिल भाजपा नेता बीते मार्च से पुलिस की हिरासत में हैं. इस पूरी घटना की चार्जशीट 23 जून को दिल्ली के कड़कड़डूमा कोर्ट में चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट पुरुषोत्तम पाठक के सामने पेश की जा चुकी है. चार्जशीट में बताया गया है ​कि इलाके में दबदबा रखने वाला ब्रजमोहन शर्मा करीब एक दशक से राजनीति से जुड़ा हुआ है और इलाके के लोग उसे नेताजी के नाम से पहचानते हैं.

बता दें कि 41 वर्षीय ब्रजमोहन को 28 मार्च को पड़ोसी सनी सिंह (32 वर्ष) के साथ इरफान की हत्या करने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया था. चार्जशीट में इस बात की भी जानकारी दी गई है कि ब्रजमोहन ने हत्या की बात कबूल कर ली है. ब्रजमोहन के पिता हरीश चंद्र शर्मा भी भाजपा नेता हैं और पार्टी के किसान मोर्चा के उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं.

चार्जशीट में ब्रजमोहन का नाम सामने आने के बाद पिता हरीश शर्मा ने कहा कि उनके बेटे को फंसाया गया है. उन्होंने बताया कि दंगों से पहले दो स्थानीय पुलिसकर्मियों ने कंस्ट्रक्शन के काम की मंजूरी के लिए दो परिवारों से पैसे की मांग की थी. पुलिस के इस तरह से पैसे मांगने पर बेटे ने ऐसा करने से मना कर दिया था. इस घटना के एक माह बाद दिल्ली में दंगे भड़के और उन्हीं पुलिसकर्मियों ने हमारे बेटे के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया. हरीश शर्मा ने आरोप लगाया है कि स्थानीय पुलिसकर्मियों ने हमारे राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी के साथ मिलकर बेटे को फंसाने की साजिश रची है. उन्होंने दावा किया कि जिस समय दिल्ली में दंगे हो रहे थे उस वक्त उनका बेटा घर पर ही मौजूद था.



इसे भी पढ़ें :- दिल्ली दंगों की जांच में स्पेशल सेल को मिले विदेशी फंडिंग के सुराग, जाकिर नाईक से मिला था खालिद सैफी
शर्मा ने बताया कि पांच साल पहले उन्होंने बेटे से महामंत्री पद छोड़ने के लिए कहा था लेकिन पांच साल पहले पार्टी ने ही उसे महामंत्री पद के लिए चुना. इस पूरी घटना के बाद मैंने पार्टी के कई नेताओं से इस मामले में बात की इसके बावजूद मेरा बेटा 3 महीने से जेल में बंद है. बीजेपी की एक वरिष्ठ नेता ने कहा ब्रजमोहन ने पद संभाला थ लेकिन अभी की स्थिति के बारे में वह ठीक ठीक कुछ नहीं कह सकते हैं. वहीं क्षेत्र के पार्षद राजकुमार बल्लन ने बताया कि ब्रजमोहन मंडल के महासचिव थे लेकिन जब से वह जेल में हैं तब से पार्टी का काम अन्य महासचिव संभाल रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :- दिल्ली हिंसा: कोर्ट में चार्जशीट दाखिल, दंगा फैलाने के लिए बनाया गया था WhatsApp ग्रुप

चार्जशीट में पुलिस ने बताया है कि इरफान की मां कुरेश ने उन चार लोगों में से ब्रजमोहन और सनी की पहचान की थी, जिन्होंने दंगों के दौरान इरफान पर हमला किया था. पुलिस ने बताया कि दो अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी अभी बाकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading