केवल अस्पताल में मरीजों के लिए है रेमडेसिविर, दवा का इस्तेमाल विवेक से करें- NITI आयोग

रेमडेसिविर

रेमडेसिविर

Coronavirus Vaccination in India: भारत ने रेमडेसिविर (Remdesivir) इंजेक्शन और रेमडेसिविर एक्टिव फार्मास्युटिकल अवयवों के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है. सरकार ने यह फैसला देश में बढ़ते मामलों को देखते हुए लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 1:12 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलों के बढ़ने के साथ ही एंटी वायरल ड्रग रेमडेसिविर की मांग भी बढ़ती जा रही है. कई राज्यों में इस दवा की कमी की भी खबरें सामने आई हैं. इसी बीच नीति आयोग ने अस्पतालों से इस दवा को विवेकपूर्ण और तर्कसंगत रूप से इस्तेमाल करने की अपील की है. आयोग ने यह भी साफ कर दिया है कि रेमडेसिविर की सप्लाई केवल अस्पताल को ही की जानी चाहिए. खास बात है कि कुछ समय पहले रेमडेसिविर की कालाबाजारी की रिपोर्ट्स भी सामने आई थीं.

बिजनेस टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, आयोग ने केमिस्ट या मरीजों के बजाए केवल अस्पतालों में रेमडेसिविर सप्लाई की बात कही है. आयोग के सदस्य डॉक्टर वीके पॉल ने कहा, 'यह एक अनुसंधानात्मक दवा है. क्लीनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल में इसके काम के बारे में जानकारी स्पष्ट है. घरों में रेमडेसिविर के इस्तेमाल का सवाल ही नहीं उठता है. यह गलत है.' उन्होंने जानकारी दी 'इसकी जरूरत केवल उन मरीजों को है, जो अस्पताल में ऑक्सीजन पर हैं.'

Youtube Video


उन्होंने इस दौरान रेमडेसिविर की उपलब्धता को लेकर भी चर्चा की. डॉक्टर पॉल ने कहा, 'यहां कमी की कुछ खबरें आई थीं, लेकिन अब सुधार हो चुका है. इसे केवल अस्पताल को ही सप्लाई किया जा सकेगा. किसी केमिस्ट की दुकान या मरीज को नहीं मिलेगी.' क्लीनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल्स फॉर कोविड-19 में रेमडेसिविर का इस्तेमाल केवल मध्यम स्तर के मरीजों पर किए जाने की बात कही है. वहीं, इस दवा के आपातकालीन उपयोग पर पाबंदी है.


खास बात है कि भारत ने रेमडेसिविर इंजेक्शन और रेमडेसिविर एक्टिव फार्मास्युटिकल अवयवों के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया है. सरकार ने यह फैसला देश में बढ़ते मामलों को देखते हुए लिया है.

वहीं, कई राज्यों ने कोविड-19 वैक्सीन की कमी का दावा किया है. हालांकि, सरकार ने वैक्सीन की कमी से इनकार किया और कोल्ड चेन पॉइंट के बेहतर मैनेजमेंट की बात कही है. देश में कुछ दिनों से लगातार रोज मिलने वाले आंकड़ों की संख्या एक लाख के पार बनी हुई है. बीते 24 घंटों में देश में 1 लाख 85 हजार से ज्यादा नए मरीज दर्ज किए गए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज