चेन्‍नई के शख्स ने खुद लिखा अपना शोक संदेश, मौत के बाद छपा तो रो दिए लोग

एज्‍जी ने खुद लिखा था अपना शोक समाचार
एज्‍जी ने खुद लिखा था अपना शोक समाचार

72 साल के एज्‍जी ने अपनी मौत से पहले ही अपना शेक समाचार लिख दिया था. इसे अब उनके परिवार ने अखबार में छपवाया और सोशल मीडिया पर भी डाला, जिसे पढ़कर लोग भावुक हो गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2020, 10:47 AM IST
  • Share this:
चेन्‍नई. 'जीवन वही होता है जब आप अन्य योजनाओं को बनाने में व्यस्त होते हैं.' जॉन लेनन की यह पंक्तियां चेन्‍नई (Chennai) के रहने वाले सेप्‍टुगनरियन एज्‍जी उमा महेश का है. उनका 72 साल की उम्र में शुक्रवार को निधन हो गया. उन्‍होंने अपनी मौत से पहले ही अपना शेक समाचार लिख दिया था. इसे अब उनके परिवार ने अखबार में छपवाया और सोशल मीडिया पर भी प्रकाशित किया. इसे बड़ी संख्‍या में लोग शेयर कर रहे हैं. इसे पढ़कर लोगों की आंखों में आंसू खुद ब खुद आ जा रहे हैं. वह फेसबुक के लिए भी अलग से अपना शोक समाचार लिख गए थे.

दिल छू लेने वाले इस शोक समाचार ने इसे लिखने वाले लेखक को रिसाइकिल्‍ड टीनेजर, चूहा दौड़ का पूर्व धावक, हाउस हसबैंड, पार्टी होस्ट, थिएटर और फिल्म अभिनेता, अंतरराष्ट्रीय कार रैली चालक और आयोजक, तर्कवादी, मानवतावादी के रूप में बताया है. उन्होंने इसमें कई अन्य रुचि को भी जोड़ा और उनके साथ हास्य की एक झलक भी जोड़ दी.





कई लोगों ने जो इज्‍जी को जानते थे और जो नहीं भी जानते थे, उन्‍होंने सोशल मीडिया पर उनके शोक समाचार को शेयर किया. सभी लोगों ने जीवन के प्रति उनके दृष्टिकोण के लिए एज्‍जी की प्रशंसा की. कुछ ने खुद को उनसे मिली प्रेरणा के बारे में बताया. तो जो लोग उन्‍हें जानते थे उन्‍होंने ऊपर उनकी पार्टी की कामना की.
उनके लिखे नोट में उनके दोस्तों, दुश्मनों, और इन दोनों के बीच के लोगों के लिए भी संदेश था. उन्होंने उनके साथ अपने जीवन को साझा करने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया.


उन्‍होंने इसमें लिखा, 'मेरी पार्टी खत्म हो गई है और मुझे उम्मीद है कि जिन लोगों को मैं पीछे छोड़ रहा हूं, उनके लिए कोई हैंगओवर नहीं है. समय सबके लिए चल रहा है. अच्छी तरह से जिएं, अपने जीवन का आनंद लें और पार्टी जारी रखें. जैसा कि जॉन लेनन ने कहा, 'जीवन आपके साथ होता है. जबकि आप अन्य योजनाएं बनाने में व्यस्त हैं.' चीयर्स एंड बाय, फॉरएवर, एंड प्लीज लिव. डोंट एक्जिस्ट.'

परिवार ने फेसबुक में भी प्रकाशित किया पोेस्‍ट.


एज्‍जी एक पूर्व कार रैली ड्राइवर थे और उन्होंने इंडियन ग्रांड प्री इन बुद्धिस्ट इंटरनेशनल सर्किट में फॉर्मूला वन के पूर्व उप सचिव के रूप में भी कार्य किया. उन्‍होंने अपने लिखे फेसबुक नोट में कारों और रेसिंग के लिए अपने आजीवन प्यार का इजहार किया. इज्‍जी ने शोक समाचार में अपने सारे ठीक शारीरिक अंगों को ट्रांसप्‍लांटेशन के लिए और शेष शरीर को रिसर्च कार्य के लिए दान देने का ऐलान किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज