• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • छठ पूजा को लेकर दिल्ली में 'आप' और BJP में मचा है घमासान, लेकिन असली वजह तो कुछ और ही है

छठ पूजा को लेकर दिल्ली में 'आप' और BJP में मचा है घमासान, लेकिन असली वजह तो कुछ और ही है

दिल्ली में आम आदमी पार्टी और बीजेपी के बीच पूर्वांचलियों का असली हितैषी होने का श्रेय लेने की होड़ शुरू हो गई.

दिल्ली में आम आदमी पार्टी और बीजेपी के बीच पूर्वांचलियों का असली हितैषी होने का श्रेय लेने की होड़ शुरू हो गई.

Chhath Politics in Delhi: दिल्ली में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) और बीजेपी (BJP) के बीच पूर्वांचलियों का असली हितैषी होने का श्रेय लेने की होड़ शुरू हो गई. बीजेपी सांसद मनोज तिवारी (Manoj Twari) इस फैसले के विरोध में पूरी दिल्ली में छठ रथ यात्रा निकाल रहे हैं तो दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी की तरफ से दिल्ली सरकार के मंत्री और पार्टी में पूर्वांचल के सबसे बड़े चेहरा गोपाल राय (Gopal Rai) ने कमान संभाल ली है.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली में छठ पूजा (Chhath Puja) को लेकर घमासान मचा हुआ है. पिछले महीने ही दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने यमुना के किनारे, सार्वजनिक स्थलों और मंदिरों में छठ पर्व मनाने पर रोक लगाने का फैसला किया था. इस फैसले के बाद से दिल्ली में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) और बीजेपी (BJP) के बीच पूर्वांचलियों का असली हितैषी होने का श्रेय लेने की होड़ शुरू हो गई. दिल्ली बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी इस फैसले के विरोध में पूरी दिल्ली में छठ रथ यात्रा निकाल कर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, जिसमें वह घायल भी हो गए हैं. दूसरी तरफ बुधवार को आम आदमी पार्टी की तरफ से दिल्ली सरकार के मंत्री और पार्टी में पूर्वांचल के सबसे बड़े चेहरा गोपाल राय ने कमान संभाल ली. राय ने बीजेपी पर एमसीडी चुनाव को देखते हुए छठ को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाया और एक बाद एक तर्क देकर गेंद बीजेपी के पाले में डाल दिया.

दिल्ली सरकार के मंत्री गोपाल राय ने कहा कि केंद्र सरकार के निर्देश की वजह से ही छठ पूजा के सार्वजनिक आयोजन में कोविड गाइडलाइंस अनिवार्य हैं. देश में राष्ट्रीय आपदा अधिनियम लागू होने के कारण केंद्र सरकार के निर्देश पर ही राज्य सरकार सार्वजनिक छठ पूजा आयोजन में कोविड प्रोटोकॉल से छूट दे सकती है. राय ने कहा कि पिछले साल भी कोविड-19 महामारी के कारण केंद्र सरकार की गाइडलाइन आई कि छठ पूजा नहीं करवाई जानी चाहिए. क्योंकि, एमसीडी चुनाव में बीजेपी हार रही है तो छठ पूजा के बहाने दोबारा राजनीति को चमकाने की कोशिश की जा रही है.’

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने छठ पूजा पर हो रही राजनीत‍ि को लेकर कहा है क‍ि भाजपा को कभी भी पूर्वांचल वालों की च‍िंता नहीं रही. द‍िल्‍ली सरकार, वायु प्रदूषण, मनीष स‍िसोद‍िया, अरव‍िंद केजरीवाल, केजरीवाल सरकार, गोपाल राय, छठ पूजा, डीडीएमए, स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय, मनसुख मंडाविया, Delhi Government, Arvind Kejriwal, Kejriwal government, Mansukh Mandaviya, Manish Sisodia, Gopal Rai, Chhath Puja, DDMA, Union Health Ministry

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने छठ पूजा पर हो रही राजनीत‍ि को लेकर कहा है क‍ि भाजपा को कभी भी पूर्वांचल वालों की च‍िंता नहीं रही. (File Photo)

क्यों छठ पूजा एमसीडी चुनाव में मुद्दा बनने जा रहा है?
राय ने कहा, ‘मंगलवार को केजरीवाल सरकार ने केंद्र सरकार को पत्र लिखा है कि छठ पूजा को लेकर गाइडलाइंस स्पष्ट की जाएं. बीजेपी को छठ पूजा की इतनी चिंता है तो आज तक गाइडलाइन जारी क्यों नहीं की? दिल्ली में जब बीजेपी की सरकार थी तो छठ पूजा नहीं कराती थी, कांग्रेस सरकार सिर्फ 68 जगहों पर छठ पूजा कराती थी, ‘आप’ सरकार ने 1068 जगहों पर पूजा करवाई.’

दिल्ली सरकार की ये है तर्क
राय ने आगे कहा, ‘केंद्र सरकार ने स्वास्थ्य विभाग और एक्सपर्ट की राय गाइडलाइन जारी की थी कि सबसे ज्यादा कोरोना वायरस पानी के कनेक्शन से फैलता है. छठ पूजा पानी में खड़ा होकर की जाती है. इसलिए केंद्र सरकार की तरफ से पिछली बार गाइडलाइन दी गई थी कि घर में रह करके लोग पूजा करें, जबकि भारतीय जनता पार्टी छठ पूजा को लेकर के राजनीति करने की कोशिश कर रही है. भाजपा को पूर्वांचलियों के सम्मान की चिंता कभी नहीं थी और ना आज है. भाजपा राजनीति इसलिए कर रही है उसे लग रहा है कि एमसीडी चुनाव में डूबते को तिनके का सहारा शायद मिल जाए.’

Delhi, Gopal Rai, D-composer, Spraying, Aam Aadmi Party, Parali, दिल्ली, गोपाल राय, डी- कंपोजर, छिड़काव, आम आदमी पार्टी, पराली

केजरीवाल सरकार ने केंद्र सरकार को पत्र लिखा है कि छठ पूजा को लेकर गाइडलाइंस स्पष्ट की जाएं- गोपाल राय (फाइल फोटो)

तिवारी क्या राजनीति कर रहे हैं?
उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने मनोज तिवारी को जिस तरह से विधानसभा चुनाव के बाद साइड किया, उसके बाद से वो उछल कूद कर रहे हैं. मुझे लगता है कि यह राजनीति का सही वक्त नहीं है. सांसद के नाते उनके जो कार्य हैं वह करें. भाजपा ने अभी तक छठ पूजा की गाइडलाइन क्यों जारी नहीं की. केंद्र सरकार क्यों हाथ पर हाथ रखे बैठा हुआ है. भारतीय जनता पार्टी की केंद्र में सरकार है और भाजपा को छठ पूजा की इतनी चिंता है तो आज तक गाइडलाइन जारी क्यों नहीं की. भाजपा हर चीज के लिए गाइडलाइन जारी करती है. डोर स्टेप डिलीवरी को लेकर कोर्ट गाइडलाइंस जारी करता है, उसके बाद भी गाइडलाइंस जारी कर देती है. छठ पूजा के लिए भाजपा क्यों गाइडलाइंस जारी नहीं करती है. मनोज तिवारी बीजेपी के सांसद हैं. वह अपने केंद्रीय मंत्रियों से क्यों नहीं बात करते हैं.’

ये भी पढ़ें दिल्ली में अब बदल जाएगा आपका ड्राइविंग लाइसेंस, QR कोड बेस्ड DL और RC होगा जारी

क्यों मनोज तिवारी के तर्क में भी है दम?
बता दें कि मनोज तिवारी इस फैसले के विरोध में छठ रथ यात्रा निकाल कर दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों में जा रहे हैं और छठ व्रत धारियों एवं छठ समितियों से रायशुमारी कर रहे हैं. हालांकि, मंगलवार को वह सीएम आवास पर विरोध करने के दौरान घायल हो गए. सफरदरजंग अस्पताल से ही वह वीडियो के जरिए केजरीवाल सरकार पर हमला बोल रहे हैं. तिवारी ने हाल ही में एक वीडियो में कहा कि अब मुख्यमंत्री के बाद दिल्ली सरकार के मंत्री गोपाल राय ने भी माना छठ पूजा को आप सरकार ने दिल्ली में रोका है? क्या स्विमिंग पूल, शराब के ठेके खोलने और छठ पर प्रतिबंध लगाने से पहले केंद्र से पर्मिशन लिया था केजरीवाल सरकारने?

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज