INX Media केस : चिदंबरम की याचिका CJI के पास, सिब्बल बोले- सुनवाई के बीच न हो गिरफ्तारी

News18Hindi
Updated: August 21, 2019, 11:53 AM IST
INX Media केस : चिदंबरम की याचिका CJI के पास,  सिब्बल बोले- सुनवाई के बीच न हो गिरफ्तारी
चिदंबरम (Chidambaram)के वकील कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने शीर्ष अदालत (Supreme Court) को बताया कि उनकी याचिका को दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने मंगलवार को खारिज कर दिया. PTI

चिदंबरम (Chidambaram)के वकील कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) ने शीर्ष अदालत (Supreme Court) को बताया कि उनकी याचिका को दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने मंगलवार को खारिज कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 21, 2019, 11:53 AM IST
  • Share this:
सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम (Senior Congress leader P Chidambaram) की याचिका अब CJI को बढ़ा दी है.

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को कहा कि दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) के आदेश को चुनौती देने वाली  INX मीडिया मामले ( INX media case) में अग्रिम जमानत को खारिज करने के खिलाफ चिदंबरम की याचिका को चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया जस्टिस रंजन गोगोई (Chief Justice of India Justice Ranjan Gogoi) के सामने रखा जाएगा ताकि तत्काल सूचीबद्ध करने पर विचार किया जा सके.

जस्टिस एन वी रमण ने चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) से कहा कि इस मामले को सीजेआई रंजन गोगोई के समक्ष रखा जाएगा.

यह भी पढ़े: INX केस: इंद्राणी का बयान बना चिदंबरम की फांस!

पीठ ने सिब्बल से कहा, 'मैं इसे भारत के मुख्य न्यायाधीश को भेज रहा हूं. वह आदेश पारित करेंगे.'  ईडी और सीबीआई की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता (Solicitor General Tushar Mehta) ने पीठ को बताया कि यह 'बड़े आकर' की मनी लॉन्ड्रिंग का मामला है.

सिब्बल ने अदालत को बताया- 

शुरुआत में, सिब्बल ने शीर्ष अदालत को बताया कि चिदंबरम की याचिका को दिल्ली हाईकोर्ट ने मंगलवार को खारिज कर दिया. उन्होंने कहा कि सीबीआई और ईडी द्वारा दर्ज INX मामलों में चिदंबरम को गिरफ्तारी से एक साल से अधिक समय तक सुरक्षा दी गई थी. सिब्बल ने कहा कि हाईकोर्ट ने भी चिदंबरम को गिरफ्तारी से किसी भी तरह की सुरक्षा देने से इनकार कर दिया था ताकि वह शीर्ष अदालत से संपर्क कर सके.
Loading...

सिब्बल ने कहा- 'इस मामले की सुनवाई होनी चाहिए. (चिदंबरम को ) इस बीच गिरफ्तार नहीं किया जाना चाहिए.' सिब्बल ने अदालत को बताया कि बुधवार को 2 बजे जांच एजेंसियों ने चिदंबरम के घर पर एक नोटिस चिपकाया है कि उन्हें दो घंटे के भीतर उनके सामने पेश होना है. जब सिब्बल ने कहा कि उन्हें याचिका रजिस्ट्री से मिल गई है, तो जस्टिस रमण ने कहा, "आपने सारी औपचारिकताएं पूरी कर लीं हैं.'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 11:53 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...