चिदंबरम का पलटवार, कहा- नड्डा, PM से पूछें 2015 के बाद कितनी बार हुई घुसपैठ?

चिदंबरम का पलटवार, कहा- नड्डा, PM से पूछें 2015 के बाद कितनी बार हुई घुसपैठ?
पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी​ चिदंबरम बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के आरोपों पर पलटवार किया है. . (File Pic- Pti)

पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी​ चिदंबरम (P Chidambaram) ने ट्वीट करते हुए कहा कि हां कई बार घुसपैठ की गई थी लेकिन उस दौरान न तो किसी ने हमारी जमीन पर कब्जा किया और न ही हिंसक झड़प में किसी भी भारतीय सैनिक की जान नहीं गई थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valley Face off) में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प (India-China Dispute) के बाद से बीजेपी और कांग्रेस के बीच सियासत तेज हो गई है. कांग्रेस एक ओर जहां राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की अगुवाई में केंद्र सरकार पर हमलावर है तो वहीं बीजेपी के कई नेता अब मैदान में उतर आए हैं और कांग्रेस के हर आरोपों का जवाब दे रहे हैं. भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने सोमवार को मनमोहन सिंह पर हमला बोला तो अब कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने भी बीजेपी अध्यक्ष के आरोप पर पलटवार किया है.

पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी​ चिदंबरम ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा पर हमला करते हुए ट्वीट किया है कि बीजेपी अध्यक्ष ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से 2010-2013 के दौरान 600 चीनी घुसपैठ के बारे में पूछा है. हां कई बार घुसपैठ की गई थी लेकिन उस दौरान न तो किसी ने हमारी जमीन पर कब्जा किया और न ही हिंसक झड़प में किसी भी भारतीय सैनिक की जान नहीं गई थी.


इसके बाद चिंदरम ने एक और ट्वीट किया और सवाल किया कि क्या जेपी नड्डा आज के प्रधानमंत्री से पूछेंगे कि 2015 के बाद से चीन ने 2264 बार घुसपैठ की है. उन्होंने कहा कि मुझे यकीन है कि ये सवाल पूछने की हिम्मत नहीं होगी.



इसे भी पढ़ें :- सेना को लेकर 2018 में ​लिया गया सरकार का फैसला अब चीन के लिए बनेगा मुसीबत!

गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में 15 जून की रात चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के एक कर्नल सहित 20 सैन्यकर्मी शहीद हो गए थे. इस झड़प में चीन के 45 सैनिकों के हताहत होने की भी खबर थी. मामले की गंभीरता को देखते हुए सोमवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सभी सेनाओं को हालात से निपटने की पूरी छूट दे दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज