भारत को कोरोना से लड़ने के लिए सर्वाधिक लोगों का टीकाकरण करना होगा: डॉ. फाउची

डॉ. फाउची ने सीएनएन-न्‍यूज18 से की खास बात. (File pic)

डॉ. फाउची ने सीएनएन-न्‍यूज18 से की खास बात. (File pic)

अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) के चीफ हेल्‍थ एक्‍सपर्ट डॉ. एंथनी फाउची (Dr. Anthony Fauci) ने सीएनएन-न्‍यूज18 से खास बातचीत की. उन्‍होंने कहा कि अच्‍छी वैक्‍सीन भले ही कोरोना वायरस से बचाव न कर पाए, लेकिन वह उससे लड़ने में मदद कर सकती है.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. भारत में चल रही कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की दूसरी लहर के कारण बड़ी आबादी संक्रमित हो रही है. मौतों की संख्‍या में भी बढ़ोतरी हो रही है. ऐसे में दुनिया के अन्‍य देश भी भारत (Covid 19 in India) की स्थिति को लेकर चिंता जाहिर कर रहे हैं. अमेरिका (United States) भी इनमें से एक हैं. अमेरिका के टॉप हेल्‍थ एक्‍सपर्ट और राष्‍ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) के चीफ हेल्‍थ एक्‍सपर्ट डॉ. एंथनी फाउची (Dr. Anthony Fauci) ने भी भारत में जारी कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए कई अहम सुझाव दिए हैं.

सीएनएन-न्‍यूज18 से खास बातचीत में डॉ. फाउची ने कहा कि भारत को जल्‍द से जल्‍द अपनी अधिक से अधिक आबादी को कोरोना वायरस का टीका लगाना चाहिए. उनके अनुसार ऐसा करके लोगों को मौत से बचाने में मदद मिल सकती है.

उनका कहना है कि दुनिया में इस समय कोरोना वायरस के कई वैरिएंट हैं. ऐसे में एक अच्‍छी वैक्‍सीन भले ही कोरोना वायरस से बचाव न कर पाए, लेकिन वह उससे लड़ने में मदद कर सकती है. इसलिए भारत को अधिक से अधिक लोगों को वैक्‍सीन लगानी चाहिए. इससे काफी हद तक कोरोना से लड़ाई में मदद मिल सकती है.


डॉ. फाउची का कहना है कि कोरोना वायरस से लड़ने के दो स्‍तंभ हैं. पहला यह है कि लोगों को अस्‍पताल जाने से बचाया जाए. दूसरा यह है कि अगर उन्‍हें अस्‍पताल भी जाना पड़े तो आवश्‍यक दवा और संसाधन के इस्‍तेमाल से संक्रमण को कम करने की कोशिश की जाए.


डॉ. फाउची ने कहा कि भारत में अस्‍पतालों में बेड की तत्‍काल जरूरत है. इसलिए अमेरिका ऑक्‍सीजन सिलेंडर और ऑक्‍सीजन जनरेटर भेजकर मदद कर रहा है. अंत में डॉ. फाउची ने कहा कि दुश्‍मन वायरस है. आपको वायरस के खिलाफ एकजुट होकर लड़ने की जरूरत है. मैंने यही सीख प्राप्‍त की है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज