Assembly Banner 2021

Kerala Assembly Elections: CM पिनराई समेत मापका के 6 मंत्री फिर आजमाएंगे किस्मत, वित्त मंत्री इसाक को नहीं मिला टिकट

पांच मंत्रियों को टिकट देने से इनकार किया गया क्योंकि पार्टी ने दो बार चुनाव जीत चुके नेताओं को इस बार नहीं उतारने का फैसला किया.

पांच मंत्रियों को टिकट देने से इनकार किया गया क्योंकि पार्टी ने दो बार चुनाव जीत चुके नेताओं को इस बार नहीं उतारने का फैसला किया.

Kerala Assembly Elections: स्वास्थ्य मंत्री के के शैलजा, श्रम मंत्री टी पी रामकृष्णन, बिजली मंत्री एम एम मणि, देवस्वओम मंत्री कडाकमपल्ली सुरेंद्रन, मत्स्य मंत्री मर्सीकुट्टी अम्मा और स्थानीय स्वशासन मंत्री ए सी मोइद्दीन फिर से किस्मत आजमाएंगे. विजयन कन्नूर जिले में धर्मादम निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे.

  • Share this:
तिरुवनंतपुरम. केरल में सत्तारूढ़ माकपा ने मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (Chief Minister Pinarayi Vijayan) और उनके मंत्रिमंडल के छह सहयोगियों को छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव (Kerala Assembly Elections 2021) के लिए मुकाबले में उतारा है जबकि वित्त मंत्री थॉमस इसाक को इस बार टिकट नहीं दिया है. माकपा ने बुधवार को अपने 83 उम्मीदवारों की सूची जारी की. इसमें माकपा समर्थित नौ निर्दलीय उम्मीदवार भी हैं. दो उम्मीदवारों के नामों की घोषणा बाद में की जाएगी.

स्वास्थ्य मंत्री के के शैलजा, श्रम मंत्री टी पी रामकृष्णन, बिजली मंत्री एम एम मणि, देवस्वओम मंत्री कडाकमपल्ली सुरेंद्रन, मत्स्य मंत्री मर्सीकुट्टी अम्मा और स्थानीय स्वशासन मंत्री ए सी मोइद्दीन फिर से किस्मत आजमाएंगे. विजयन कन्नूर जिले में धर्मादम निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे.

5 मंत्रियों को टिकट देने से पार्टी का इनकार
पांच मंत्रियों को टिकट देने से इनकार किया गया क्योंकि पार्टी ने दो बार चुनाव जीत चुके नेताओं को इस बार नहीं उतारने का फैसला किया. इन मंत्रियों में टी एम थॉमस इसाक, ई पी जयराजन, आर रवींद्रनाथ, जी सुधाकरन और एके बालन हैं. प्रदेश सचिवालय के सदस्य एम वी गोविंदन मास्टर, के राधाकृष्णन, पी राजीव और के एन बालागोपाल चुनाव लड़ेंगे.




ये भी पढ़ेंः- केरल में चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने सोनिया गांधी को भेजा इस्तीफा



क्या था 2016 का चुनावी समीकरण
माकपा के कार्यवाहक प्रदेश सचिव ए विजयराघवन ने यहां संवाददाताओं को बताया कि मांजेश्वरम और देवीकुलम निर्वाचन क्षेत्रों के उम्मीदवारों की घोषणा बाद में की जाएगी. उन्होंने कहा कि पार्टी का लक्ष्य किसी को टिकट दिए जाने से इनकार करना नहीं बल्कि नये उम्मीदवारों को मौका देना है. माकपा नीत एलडीएफ लगातार दूसरी बार जीत के लिए प्रयास कर रही है. वर्ष 2016 के चुनाव में एलडीएफ को 140 सदस्यीय विधानसभा में 91 सीटों पर जीत मिली थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज