होम /न्यूज /राष्ट्र /

दूसरी लहर में बच्चे और युवा हुए ज्यादा प्रभावित? सरकार ने खारिज की धारणाएं

दूसरी लहर में बच्चे और युवा हुए ज्यादा प्रभावित? सरकार ने खारिज की धारणाएं

देश में कोरोना से मृत्यु दर 1.27 फीसदी है, जबकि रिकवरी रेट 95 फीसदी से ज्यादा हो गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

देश में कोरोना से मृत्यु दर 1.27 फीसदी है, जबकि रिकवरी रेट 95 फीसदी से ज्यादा हो गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

Coronavirus Second Wave: तीसरी लहर आने पर बच्चों के ज्यादा प्रभावित होने की आशंका के बीच सरकार ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि बच्चों के बीच गंभीर संक्रमण होने का संकेत देने के लिए कोई ठोस सबूत नहीं है

    नई दिल्ली. कोविड-19 की दूसरी लहर (Covid19 Second Wave) में बच्चों और युवा आबादी के अधिक प्रभावित होने की धारणाओं को खारिज करते हुए सरकार ने मंगलवार को कहा कि 1-20 आयु वर्ग के लोगों में दोनों लहरों के दौरान दर्ज किये गये मामले 12 प्रतिशत से कम रहे है. सरकार द्वारा संवाददाता सम्मेलन में साझा किये गये आंकड़ों के अनुसार दूसरी लहर (15 मार्च से 25 मई) के दौरान कुल मामलों में 1-20 साल की उम्र के लोगों की संख्या 11.62 प्रतिशत थी, जबकि पहली लहर (एक जुलाई से 31 दिसंबर) में 11.31 प्रतिशत थी, जो इस आयु वर्ग में संक्रमित लोगों के अनुपात में बहुत अंतर नहीं दर्शाता है.

    आंकड़ों से पता चला है कि 21-50 आयु वर्ग दोनों लहरों में सबसे अधिक प्रभावित वर्ग था. इस श्रेणी के लोगों में पहली लहर में 59.74 प्रतिशत संक्रमण था, जबकि दूसरी लहर में 62.45 प्रतिशत था. आंकड़ों के अनुसार 61 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए, पहली लहर में यह अनुपात 13.89 प्रतिशत और दूसरी लहर में 12.58 प्रतिशत था.

    ये भी पढ़ें- कोरोना की उत्पत्ति की जांच में सहयोग देगा चीन? जानिए क्या बोले UNGA अध्यक्ष

    स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि पहली लहर में एक से 10 साल के आयु वर्ग में संक्रमण के 3.28 प्रतिशत मामले सामने आए, जबकि दूसरी लहर में यह 3.05 प्रतिशत है. उन्होंने कहा कि पहली लहर में 11-20 वर्ष के आयु वर्ग में 8.03 प्रतिशत और दूसरी लहर में 8.57 प्रतिशत लोग संक्रमित हुए.

    तीसरी लहर आने पर बच्चों के ज्यादा प्रभावित होने की आशंका के बीच सरकार ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि बच्चों के बीच गंभीर संक्रमण होने का संकेत देने के लिए कोई ठोस सबूत नहीं है, लेकिन फिर भी सभी आयु वर्ग के लोगों को सतर्क रहने और सावधानियों का पालन करने की आवश्यकता है.

    देश में कोविड की स्थिति में सुधार पर प्रकाश डालते हुए, अग्रवाल ने कहा कि सात मई को सबसे अधिक मामले सामने के बाद से दैनिक नए मामलों में लगभग 85 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है. उन्होंने कहा कि पूरे देश में 10 मई को सामने आए कोविड के सक्रिय मामलों में 75.6 प्रतिशत की गिरावट आई है.
    (Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)undefined

    Tags: Coronavirus, Coronavirus Third Wave, COVID 19, Covid 19 second wave, India coronavirus second wave

    अगली ख़बर