आसनसोल में धर्म के नाम पर स्कूल में बांटे जा रहे हैं बच्चे, अलग रजिस्टर बनाने का आरोप

स्कूल के प्रिंसपल पर आरोप है कि शिक्षकों ने जब इसके खिलाफ आवाज उठाई तो उन्होंने कराटे टीचर मोहम्मद साबाज़ हुसैन को सस्पेंड कर दिया.

News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 12:59 PM IST
आसनसोल में धर्म के नाम पर स्कूल में बांटे जा रहे हैं बच्चे, अलग रजिस्टर बनाने का आरोप
धर्म के नाम पर स्कूल में बांटे जा रहे हैं बच्चे, अलग रजिस्टर बनाने का आरोप
News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 12:59 PM IST
(आशिका सिंह)

पश्चिम बंगाल के आसनसोल के एक नामी स्कूल पर धर्म के नाम पर बच्चों को बांटने का आरोप लगा है. शिक्षकों का आरोप है कि स्कूल की प्रिंसिपल बच्चों को धर्म के नाम पर बांटने का काम कर रही हैं. स्कूल में एक रेजिस्टर लाया गया है, जिसमें हिन्दू, मुस्लिम का अलग कॉलम है. आरोप है कि स्कूल के शिक्षकों ने जब इसके खिलाफ आवाज उठाई तो कराटे टीचर मोहम्मद साबाज़ हुसैन को सस्पेंड कर दिया गया. इस घटना को लेकर स्कूल के शिक्षकों ने हड़ताल कर दी है.

बताया जाता है कि जिस शिक्षक को स्कूल से निकाला गया है उसे पहले प्रिंसिपल ने चुप रहने की हिदायत दी थी. प्रिंसिपल पर आरोप है कि उन्होंने पहले शिक्षक को अपनी ओर मिलाने की कोशिश की, लेकिन जब शिक्षक ने ऐसा करने से इनकार कर दिया तो उसे स्कूल से निकाल दिया गया. वहीं प्रिंसिपल का आरोप है की शिक्षक बच्चों को अच्छे से नहीं पढ़ा रहे थे, जिसके चलते उन्होंने शिक्षकों को चेतावनी दी थी. इसके बाद से स्कूल के कई टीचर उनके खिलाफ हो गए और उन्होंने अब हड़ताल कर दी है. प्रिंसिपल के मुताबिक शिक्षकों की हड़ताल के कारण उन्हें दूसरी शाखा से टीचरों को बुलाना पड़ा है. इसके बावजूद शिक्षकों का गुस्सा कम होने का नाम नहीं ले रहा है. बताया जाता है कि नाराज शिक्षकों ने प्रिंसिपल को उनके चेंबर में घेर लिया है.

स्कूल शिक्षिका चंदना के मुताबिक प्रिंसिपल जब से आई हैं, स्कूल में हिन्दू-मुस्लिम हो रहा है. पिछले चार साल से ऐसा कभी नहीं हुआ था. सिर्फ मुस्लिम अभिभावकों को बुलाकर शिक्षकों के खिलाफ भड़काया जाता है. हम लोग जो अटेंडेंस रेजिस्टर मेनटेन कर रहे हैं, उसमें भी हिन्दू-मुस्लिम का कॉलम अलग करने को कहा गया है. इसी तरह शिक्षक परना घोष ने कहा है कि यहां 7-8 महीने से जब से हिंदू-मुस्लिम को लेकर विवाद चल रहा है. रमज़ान में भी बड़े बच्चों को क्लास छोड़कर अलग बैठने को कहा गया था. शिक्षक मोहम्मद शाबाज़ हुसैन ने कहा कि मुझे निजी दुश्मनी के चलते निकाला गया है. प्रिंसिपल ने मुझे और दो-तीन मुस्लिम अभिभावकों को बुलाकर कहा था तुम भी मुस्लिम हो मेरा साथ दो. मैंने मना कर दिया. कहा बच्चे तो बच्चे होते हैं, जिसके चलते ऐसा किया.

दूसरी तरह स्कूल की प्रिंसिपल फातिमा का कहना है कि मुझे टीचरों के खिलाफ शिकायत मिली थी. मैंने देखा की ये लोग ठीक से क्लास नहीं ले रहे हैं. मैंने इन्हें डांटा तो ये लोग मुझे ही गलत तरीके से बोलने लगे. मैं कभी हिन्दू-मुस्लिम नहीं करती.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 15, 2019, 11:26 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...