कोरोना महामारी के बारे में पहले से जानता था चीन! भारतीय डॉक्टर ने किए कई बड़े दावे

भारतीय वायरोलॉजिस्ट ने दावा किया है कि चीन ने पहले ही कोरोना वायरस महामारी की तैयारी कर ली थी. (सांकेतिक तस्वीर: Shutterstock)

भारतीय वायरोलॉजिस्ट ने दावा किया है कि चीन ने पहले ही कोरोना वायरस महामारी की तैयारी कर ली थी. (सांकेतिक तस्वीर: Shutterstock)

Coronavirus in China: चीन में अब तक कोरोना वायरस के 91 हजार 316 मामले सामने आए हैं. इनमें से 4 हजार 636 मरीजों की अब तक मौत हो चुकी है. देश में 86 हजार 267 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं. फिलहाल, चीन में 413 मरीजों का इलाज जारी है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना वायरस कहां से आया, इस गुत्थी को सुलझाने की कवायद जारी है. कई जानकार इस मामले में चीन (China) की ओर इशारा कर रहे हैं. हालांकि, अभी तक कोई भी पुख्ता सबूत नहीं मिला है. इसी बीच एक भारतीय वायरोलॉजिस्ट ने दावा किया है कि चीन ने पहले ही कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) की तैयारी कर ली थी. इसके लिए उन्होंने चीन की वैक्सीन प्रक्रिया का हवाला दिया है.

अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, वेल्लूर स्थित क्रिश्चचियन मेडिकल कॉलेज में क्लीनिकल वायरोलॉजी विभाग के प्रमुख और पूर्व प्रोफेसर डॉक्टर टी जैकब जॉन वुहान लैब से वायरस लीक होने पर कहते हैं, 'चीन के इस मामले में कुछ रहस्य है.' उन्होंने कहा, 'चीन की कोविड-19 महामारी दुनिया से अलग थी. इसका मतलब है कि वे कुछ छिपा रहे हैं... या वे अलग हैं... या चीन इसके लिए पहले से ही तैयारी कर रहा था.' डॉक्टर ने कहा, 'जैसा नजर आ रहा है, वैसा है नहीं.'

यह भी पढ़ें: क्या 31 दिसंबर तक पूरी आबादी को वैक्सीनेट कर पाएगी सरकार? जानें राज्यों का हाल

जॉन चीनी वैज्ञानिक का जिक्र करते हैं, जिसने '24 फरवरी 2020' में SARS-CoV-2 वैक्सीन के लाइसेंस के लिए आवेदन किया यानि महामारी शुरू होने के केवल 2 महीने बाद. उन्होंने कहा, 'केवल दो महीनों में वैक्सीन पर काम करना बहुत जल्दी है. उन्होंने जरूर कम से कम एक साल पहले काम शुरू कर दिया होगा.' डॉक्टर ने बताया, 'वह युवा अब मर चुका है. यहां कई सिरे हैं. ऐसा लग रहा है कि चीन कुछ छिपाने की कोशिश कर रहा है. जैसे कोई अपराधी कुछ छिपाता है.'


चीन में कोरोना वायरस के हाल

वर्ल्डोमीटर के आंकड़े बताते हैं कि चीन में अब तक कोरोना वायरस के 91 हजार 316 मामले सामने आए हैं. इनमें से 4 हजार 636 मरीजों की अब तक मौत हो चुकी है. देश में 86 हजार 267 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं. फिलहाल, चीन में 413 मरीजों का इलाज जारी है. वहीं, अमेरिका, भारत और ब्राजील विश्व के सर्वाधिक प्रभावित राष्ट्र बने हुए हैं. इन तीनों देशों में कुल मामलों की संख्या करोड़ों में पहुंच चुकी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज