लद्दाख के बाद अब चीन ने अरुणाचल के पास बढ़ाई हलचल, भारतीय सेना हुई अलर्ट

लद्दाख के बाद अब चीन ने अरुणाचल के पास बढ़ाई हलचल, भारतीय सेना हुई अलर्ट
अरुणाचल प्रदेश के अस्फिला, टूटिंग, चांग ज, और फिशटेल-2 के विपरित चीनी क्षेत्र में चीनी गतविधियां देखी गई हैं. (PTI)

सरकार के वरिष्ठ सूत्रों ने CNN-News18 को ये जानकारी दी है. चीन (China Army) की सेना अरुणाचल प्रदेश में (Arunachal Pradesh) किसी शांत और बिना आबादी वाली जगह को अपने कब्जे में लेने की कोशिश कर रहा है. चीनी सैनिकों की ओर से घुसपैठ की आशंका को देखते हुए भारतीय सेना अलर्ट पर है और यहां सैनिकों की तैनाती भी बढ़ा दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 16, 2020, 4:58 PM IST
  • Share this:
ईटानगर. लद्दाख के रेजांग ला में घुसपैठ की कोशिश में भारतीय जवानों (Indian Army) द्वारा खदेड़े जाने के बाद अब चीन अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) की सीमा पर नजरें गड़ा रहा है. चीन अब अरुणाचल प्रदेश में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर अपने सैनिकों के लिए ठिकाने बना रहा है. भारतीय सेना ने चीनी सीमा में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के मूवमेंट को नोटिस किया है. रिपोर्ट के मुताबिक, अरुणाचल प्रदेश के अस्फिला, टूटिंग, चांग ज और फिशटेल-2 के विपरीत चीनी क्षेत्र में चीनी गतिविधियां देखी गई हैं. ये इलाके भारतीय सीमा से मात्र 20 किलोमीटर की दूरी पर हैं.

सरकार के वरिष्ठ सूत्रों ने CNN-News18 को ये जानकारी दी है. आशंका है कि चीनी सेना भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की फिराक में है. चीन किसी शांत और बिना आबादी वाली जगह को अपने कब्जे में लेने की कोशिश कर रहा है. चीनी सैनिकों की ओर से घुसपैठ की आशंका को देखते हुए भारतीय सेना अलर्ट पर है और यहां सैनिकों की तैनाती भी बढ़ा दी गई है.

खुलासा! पाकिस्तानी सेना के साथ मिलकर PoK में सैन्य अड्डा बना रहा है चीन




पैट्रोलिंग के दौरान भारतीय इलाकों के नजदीक आ रहे हैं चीनी सैनिक
पिछले कुछ दिनों से वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) से कुछ किलोमीटर गहराई वाले इलाकों में चीनी सेना अपनी बनाई सड़कों पर गतिविधियां बढ़ा रही है. चीनी सैनिक पैट्रोलिंग के दौरान भारतीय इलाकों के नजदीक भी आ रहे हैं. समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने हाल ही में एक रिपोर्ट में कहा था कि अरुणाचल में LAC पर चीनी सैनिकों की सक्रियता को देखते हुए भारतीय सेना ने यहां जवानों की और ज्यादा तैनाती कर दी है. सेना ऐसे किसी भी प्रयास का जवाब देने के लिए पूरी तरह तैयार है और इसे लेकर उसने अपनी क्षमता बढ़ाई है.

चीन में पकड़ लिए गए थे अरुणाचल के 5 लोग
इससे पहले 5 सितंबर को अरुणाचल प्रदेश से कांग्रेस विधायक निनॉन्ग एरिंग ने दावा किया था कि अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबनसिरी जिले के पांच लोगों का कथित तौर पर चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने अपहरण कर लिया गया है. रिपोर्ट ये मुताबिक ये पांच लोग मछली पकड़ने के दौरान सीमा भटक गए थे. इस मामले को केंद्रीय मंत्री किरन रिजिूजू ने गंभीरता से केंद्र के सामने उठाया था. हालांकि, चीन की सीमा में चले गए पांच भारतीय नागरिक अब वतन लौट आए हैं. चीनी सैनिकों ने अरुणाचल प्रदेश के किबितू में इन पांचों नागरिकों को भारतीय सैनिकों को सौंप दिया है.

LAC पर अंडरग्राउंड ऑप्टिकल फाइबर केबल का जाल बिछा रहा चीन, बीजिंग ने दी सफाई
बता दें कि 2017 के बाद डोकलाम में पिछले 6 महीने से एक बार फिर से भारत और चीन की सेनाओं के बीच तनाव की स्थिति बनी है. चीन की सेना यहां भूटान की सीमा में झाम्फिरी रिज तक सड़क निर्माण कर रही है. चीन की इस गुस्ताखी ने सिलीगुड़ी कॉरिडोर के लिए खतरा पैदा कर दिया है.

29-30 अगस्त की रात को चीन के सैनिकों ने पैंगोंग झील के दक्षिणी इलाके में स्थित मुखपारी पहाड़ी और रेजांग ला पर कब्जा करने की कोशिश की थी, जिसे भारतीय सैनिकों ने नाकाम कर दिया था. तब से ही दोनों देशों के सैनिक आमने-सामने हैं और तनाव बढ़ा है. इससे पहले चीन ने एक सितंबर को भी घुसपैठ की नाकाम कोशिश की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज