होम /न्यूज /राष्ट्र /चीन ने वायुसेना को ताकतवर बनाने पर लगाया जोर, भारतीय सीमा पर गड़ाई नजरें

चीन ने वायुसेना को ताकतवर बनाने पर लगाया जोर, भारतीय सीमा पर गड़ाई नजरें

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग

पीपल लिब्रेशन आर्मी एयर फोर्स ने अपने तीन एयरबेस नॉर्दर्न थियेटर कमांड, तीन वेस्टर्न थियेटर कमांड, 2-2 एयर बेस ईस्टर्न, ...अधिक पढ़ें

    संदीप बोल

    चीन अपनी वायुसेना को और ताक़तवर बनाने की प्रक्रिया को तेज कर रहा है. नए बदलाव भी हो रहे है और इसी के तहत 12 नए एयर बेस चीन ने बनाए है. जिनमें से तीन तो उस थियेटर कमांड में है जो कि भारतीय सीमा से लगते हैं. पीपल लिब्रेशन आर्मी एयर फोर्स ने अपने तीन एयरबेस नॉर्दर्न थियेटर कमांड, तीन वेस्टर्न थियेटर कमांड, 2-2 एयर बेस ईस्टर्न, सदर्न और सेंट्रल थियेटर कमांड में तैयार किए हैं.

    वेस्टर्न थियेटर कमांड भारतीय सीमा से लगता है. इन सभी कमांड में एयर ब्रिगेड, SAM ब्रिगेड, रडार ब्रिगेड और AAA ब्रिगेड होंगे जिन्हें कमांड मेजर जनरल या सीनियर कर्नल करेंगे. हाल ही में 12 जून को फुजियान में चीन की वायुसेना ने एक बड़े अभ्यास को दोहराया. चीन पीएलए एयर फोर्स की एयर ब्रिगेड ने ऑपरेशन टार्गेट अभ्यास किया. इसमें एयर ड्राप छोटे बड़े ज़मीनी टार्गेट पर लाइव फ़ायरिंग का अभ्यास किया गया. जानकारों कर मानें तो चीन अपना फ़ोकस एडमिन स्ट्रेंथ को कम कर कॉम्‍बेट स्ट्रेंथ को बढ़ाने का काम कर रहा है.

    इस रिफॉर्म से पहले पीएलए एयर फोर्स एयर डिविज़न, एयर रेजिमेंट और एयर बटालियन के तौर पर हुआ करते थे. अब जारी रिफॉर्म के तहत एयर डिविज़न और रेजिमेंट को एयर ब्रिगेड में बदला जा रहा है. रिपोर्टस की माने तो इस पूरे रिफॉर्म में दो बॉम्बर डिविज़न, तीन ट्रांसपोर्ट डिविज़न और दो इलेक्ट्रोनिक वॉरफेयर डिविज़न को डिविज़न के तौर पर रखा जाएगा. सेना के पूर्व अधिकारी मानते है कि यह प्रक्रिया चीन को परेशान कर देगी.

    ख़ुद वायु सेना प्रमुख बीएस धनोआ ने एक बयान में यह कहा था कि चीन तिब्बत के सीमावर्ती इलाकों में अपनी हवाई शक्ति बढ़ाने में जुटा हुआ है. चीन ने भारत सीमा के पास लड़ाकू विमानों के बेड़े को तैनात कर दिया है और पिछले कुछ सालों में यह देखने में आया है कि तिब्बत के सीमावर्ती इलाकों में चीन अपने लड़ाकू विमानों और जवानों की तैनाती लगातार बढ़ा रहा है. अगर हम पीएलए के बदलावों पर एक नजर डालते हैं तो सामने आता है कि सेना, नौसेना, वायुसेना और मिसाइल पावर को पांच थियेटर कमांड में बदल दिया गया है जो कि पहले सात मिलेट्री रीज़न हुआ करती थी. ये कमांड सैन्य प्रमुखों के अलावा सीधे असैन्य-राजनीतिक नेतृत्व को रिपोर्ट करती है.

    Tags: China, Chinese Border

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें