• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • चीन, भारत उत्सर्जन लक्ष्यों को अद्यतन करने के लिए संयुक्त राष्ट्र की समय सीमा से चूके

चीन, भारत उत्सर्जन लक्ष्यों को अद्यतन करने के लिए संयुक्त राष्ट्र की समय सीमा से चूके

सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, सीरिया और 82 अन्य राष्ट्र भी संयुक्त राष्ट्र के लिए अपने राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान या योजना को अद्यतन करने में विफल रहे.

दुनिया के दो सबसे अधिक आबादी वाले देश उन कई देशों में शामिल हैं, जिन्होंने ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में कटौती के लिए अपनी नई योजनाएं प्रस्तुत करने के लिए संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन एजेंसी द्वारा निर्धारित 30 जुलाई की समय सीमा की अनदेखी कर दी.

  • Share this:

    बर्लिन. चीन और भारत ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में कटौती के लिए अपने नए लक्ष्य प्रस्तुत करने के लिए संयुक्त राष्ट्र की समय सीमा से चूक गए हैं. अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी. दुनिया के दो सबसे अधिक आबादी वाले देश उन कई देशों में शामिल हैं, जिन्होंने ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में कटौती के लिए अपनी नई योजनाएं प्रस्तुत करने के लिए संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन एजेंसी द्वारा निर्धारित 30 जुलाई की समय सीमा की अनदेखी कर दी.

    चीन दुनिया में सबसे ज्यादा उत्सर्जन वाला देश है, जबकि भारत तीसरे नंबर पर है. अमेरिका दूसरा सबसे बड़ा वैश्विक उत्सर्जक है और उसने अप्रैल में अपना नया लक्ष्य प्रस्तुत किया था.

    संयुक्त राष्ट्र की जलवायु प्रमुख पेट्रीसिया एस्पिनोसा ने इस बात का स्वागत किया कि संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन फ्रेमवर्क सम्मेलन के 110 हस्ताक्षरकर्ताओं ने निर्धारित तारीख तक योजना को प्रस्तुत किया, लेकिन उन्होंने कहा कि यह ‘‘संतोषजनक स्थिति से बहुत दूर’’ है कि केवल 58 प्रतिशत ने अपने नए लक्ष्यों को समय पर प्रस्तुत किया.

    सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, सीरिया और 82 अन्य राष्ट्र भी संयुक्त राष्ट्र के लिए अपने राष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित योगदान या योजना को अद्यतन करने में विफल रहे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज