होम /न्यूज /राष्ट्र /

गलवान में भारतीय सेना का बंधक था विंटर ओलंपिक का मशालवाहक चीनी सैनिक, ऑस्ट्रेलियन अखबार का बड़ा दावा

गलवान में भारतीय सेना का बंधक था विंटर ओलंपिक का मशालवाहक चीनी सैनिक, ऑस्ट्रेलियन अखबार का बड़ा दावा

गलवान घाटी झड़प में शामिल था क्यूई फैबाओ (Photo- Twitter)

गलवान घाटी झड़प में शामिल था क्यूई फैबाओ (Photo- Twitter)

China's Olympics torchbearer Qi Fabao: चीन का सैन्य कमांडर गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों पर हुए हमले में शामिल था उसे चीन ने बीजिंग विंटर ओलंपिक में मशालची बनाया है. ऑस्ट्रेलियाई अखबार की एक रिपोर्ट के अनुसार, गलवान घाटी संघर्ष के बाद भारतीय सेना ने इस चीनी सैनिक को पकड़ लिया था. अमेरिका ने भी चीन के इस कदम की आलोचना की है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: बीजिंग विंटर ओलंपिक (Beijing Winter Olympic)  में मशाल रिले के लिए चीन ने मशालवाहक के तौर पर जिस PLA कमांडर क्यूई फैबाओ (Qi Fabao) को चुना है उसे गलवान घाटी संघर्ष (Galwan Valley Face off) में भारतीय सेना ने बंधक बना लिया था. ऑस्ट्रेलिया के एक अखबार ने यह दावा किया है. चीन का यह सैन्य कमांडर 2020 में गलवान घाटी संघर्ष में भारतीय सैनिकों पर हुए हमले में शामिल था. ऑस्ट्रेलियाई अखबार कलेक्सॉन में छपी इस रिपोर्ट को अज्ञात सोशल मीडिया रिसर्चर के एक समूह ने तैयार की है. जिसमें चीन के ब्लॉगर्स, नागरिकों से मिली जानकारी और मीडिया रिपोर्ट भी शामिल हैं.

दरअसल पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद को भारत की प्रबल इच्छाशक्ति को लेकर चीन इस कदर बौखलाया हुआ है कि वह स्तर पर भारत को भड़काने की कोशिश कर रहा है और इसी के चलते चीन ने गलत इरादे से बीजिंग विंटर ओलंपिक का राजनीतिकरण किया है. चीन ने जानबूझकर मशाल रिले के लिए मशालची के तौर पर क्यूई फैबाओ को चुना है.

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने ट्विटर पर बताया कि पीपुल्स लिबरेशन आर्मी रेजिमेंट कमांडर क्यूई फैबाओ, जो 2020 में गलवान घाटी संघर्ष में शामिल थे उन्हें विंटर ओलंपिक मशाल रिले के लिए मशालची बनाया गया है.

यह भी पढ़ें: पाक-चीन सीमा पर अभी जंग का ट्रेलर, भविष्य में बड़ी लड़ाई के लिए रहना होगा तैयार, जानें आर्मी चीफ नरवणे ने ऐसा क्यों कहा?

उधर अमेरिका ने क्यूई फैबाओ को विंटर ओलंपिक 2022 के मशाल रिले के लिए मशालची चुनने पर चीन की निंदा की है. अमेरिका में विदेश मामलों की सीनेट कमेटी के सदस्य जिम रिस्च ने ट्वीट करके चीन पर हमला बोला. उन्होंने लिखा कि जो सैन्य कमांडर भारतीय सैनिकों पर हमले के लिए जिम्मेदार है उसे चीन ने विंटर ओलंपिक के लिए मशालची चुना है यह बहुत ही शर्मनाक है.

बता दें कि जून 2020 में भारत और चीन के सैनिकों के बीच गलवान घाटी में खूनी संघर्ष हो गया था. इस घटना में कर्नल संतोष बाबू समेत 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे.

Tags: China, Galwan Valley Clash, Winter olympics 2022

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर