रडार पर चीन: Quad बैठक में 6 अक्टूबर को मिलेंगे भारत, जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका

QUAD की यह बैठक बेहद महत्वपूर्ण मानी जा रही है.
QUAD की यह बैठक बेहद महत्वपूर्ण मानी जा रही है.

बैठक के दौरान आतंकरोधी प्रयासों (counter-terrorism) , साइबर और समुद्री सुरक्षा (cyber and maritime security), मानवीय मदद और त्रासदी के दौरान प्रतिक्रिया देने की प्रक्रिया को लेकर चर्चा की जाएगी. साथ ही टेलिकॉम सेक्टर में 5जी और 5जी प्लस अडवांस्ड तकनीक को लेकर आपसी सहयोग पर भी चर्चा हो सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2020, 5:51 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चीन (China) की बढ़ती आक्रामकता के मद्देनजर भारत, जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका के विदेश मंत्री QUAD के तहत आगामी 6 अक्टूबर को बैठक करेंगे. ये बहुप्रतीक्षित बैठक टोक्यो में होगी. QUAD के निशाने पर कोई देश नहीं है लेकिन यह अनौपचारिक समूह चीन पर अपनी निगाह रखे है. साथ ही वह इंडो-पैसिफिक (Indo-Pacific region)और हिंद महासागर की सुरक्षा पर इसके प्रभाव को करीब से देख रहा है. बीजिंग ने सभी चार QUAD सदस्यों के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है.

क्या है QUAD
QUAD डायलॉग लोकतांत्रिक देशों के बीच एक इनफॉर्मल टाई-अप है जो मिलिट्री लॉजिस्टिक्स सपोर्ट, एक्सरसाइज और सूचना के माध्यम से आपसी सहयोग को बढ़ावा देता है. इसके जरिए भारत-प्रशांत समुद्री कम्यूनिकेशन लेन को कृत्रिम निर्माण और बाधाओं से मुक्त रखा जाता है. QUAD डायलॉग में अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ, भारतीय विदेश मामलों के मंत्री एस जयशंकर, जापानी विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी और ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिस पायने मौजूद रहेंगे.

चीन ने बैठक पर साधा निशाना
माना जा रहा है विदेश मंत्रियों की बैठक के बाद नवंबर महीने में एक और बैठक हो सकती है. चीन ने इस बैठक को लेकर मंगलवार को निशाना भी साधा है. गौरतलब है कि चारों देशों के विदेश मंत्री संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक के दौरान भी अलग से 26 सितंबर को मिले थे. बैठक के दौरान चारों देशों के बीच डायलॉग को और व्यवस्थित ढंग देने पर चर्चा हो सकती है जिससे इस बात पर ज्यादा सटीक तरीके से ध्यान दिया जा सके कि कोरोना महामारी के आउटब्रेक के बाद चीन ने किस तरह से व्यवहार किया है.



इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा
विदेश मंत्रियों की बैठक के दौरान आतंकरोधी अभियान (counter-terrorism) साइबर और समुद्री सुरक्षा, मानवीय मदद और त्रासदी के दौरान प्रतिक्रिया देने की प्रक्रिया को लेकर चर्चा की जाएगी. साथ ही टेलिकॉम सेक्टर में 5जी और 5जी प्लस अडवांस्ड तकनीक को लेकर  आपसी सहयोग पर भी चर्चा हो सकती है.

चीन का व्यवहार
चीन ने बीते चार महीने के दौरान लगातार भारत के साथ सीमा विवाद बनाए रखा है. वहीं अमेरिका के साथ कोरोना महामारी को लेकर चीनी की जबरदस्त तनातनी चल रही है. चीन ने एकतरफा रूप से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी कदम उठाए हैं जिससे ऑस्ट्रेलिया में गुस्सा है. वहीं जापान के साथ भी हालात कुछ अलग नहीं हैं. जापान पहले से भी चीन का चिरप्रतिद्वंद्वी माना जाता रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज