चीन ने बांग्लादेश को धमकाया, बोला-अगर QUAD ज्वाइन किया तो संबंध होंगे खराब

क्वाड समूह की बैठकों पर चीन अक्सर चेतावनी जारी करता है. (फाइल फोटो)

क्वाड समूह की बैठकों पर चीन अक्सर चेतावनी जारी करता है. (फाइल फोटो)

चीन (China) ने खुले तौर पर बांग्लादेश (Bangladesh) को धमकाया है. चीन ने कहा है कि अगर बांग्लादेश किसी भी रूप में क्वाड का हिस्सा बनता है तो उसे बुरे संबंधों के लिए तैयार रहना चाहिए.

  • Share this:

नई दिल्ली. क्वाड देशों (QUAD Group) के समूह में प्रगाढ़ होते संबंधों के बीच चीन की नाराजगी एक बार फिर सामने आई है. इस बार चीन (China) ने खुले तौर पर बांग्लादेश (Bangladesh) को धमकाया है. चीन ने कहा है कि अगर बांग्लादेश किसी भी रूप में क्वाड का हिस्सा बनता है तो उसे बुरे संबंधों के लिए तैयार रहना चाहिए. ढाका में पत्रकारों को संबोधित करते हुए चीन के राजदूत ली जिमिंग ने कहा है कि क्वाड समूह में सक्रियता का द्विपक्षीय संबंधों पर असर पड़ सकता है.

उन्होंने साफ कहा, 'चीन नहीं चाहता कि बांग्लादेश किसी भी रूप में इस समूह से जुड़े.' दरअसल चीन क्वाड देशों के समूह को अपने खिलाफ मानता है. बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना तक भी चीन का ये संदेश पहुंचाया जा चुका है. बता दें बीते मार्च महीने में क्वाड देशों के राष्ट्राध्यक्षों की बैठक हुई थी जिसमें चीन को कड़ा संदेश दिया गया था.

Youtube Video

राष्ट्राध्यक्षों की बैठक में चीन को दिया गया था सख्त संदेश
क्वाड देशों की बैठक के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने साफ संकेत दिए थे कि चीन पर सख्त निगाहें बनी रहेंगी. उन्होंने कहा था- 'हमारे भविष्य के लिए जरूरी है कि हिंदी-प्रशांत क्षेत्र स्वतंत्र और खुला बना रहे.' बाइडन ने इशारों में बिना चीन का नाम लिए कहा था कि हम हिंद-प्रशांत क्षेत्र में शांति के लिए प्रतिबद्ध हैं. बीते साल क्वाड देशों के सैन्य युद्धाभ्यास को लेकर भी चीन ने अपनी नाराजगी जाहिर की थी.

क्या है क्वाड?

क्वाड का अर्थ क्वाड्रीलेटरल सिक्योरिटी डायलॉग है, जो जापान, ऑस्ट्रेलिया, भारत और अमेरिका के बीच एक बहुपक्षीय समझौता है. मूल तौर पर ये इंडो-पैसिफिक स्तर पर काम कर रहा है, ताकि समुद्री रास्तों से व्यापार आसान हो सके लेकिन अब ये व्यापार के साथ-साथ सैनिक बेस को मजबूती देने पर ज्यादा ध्यान दे रहा है ताकि शक्ति संतुलन बनाए रखा जा सके.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज