Corona की तीसरी लहर से निपटने में मददगार बनेगा China, दिल्ली को सप्लाई हो रही इस सामान की बड़ी खेप!

दिल्ली सरकार ने कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए अस्पतालों में ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन बेड बनाने के लिए अब चीन की मदद लेने की योजना बनाई है. (File Photo)

COVID 19: दिल्ली सरकार चीन से 6,000 ऑक्सीजन सिलेंडर मंगवा रही है. 3 जगहों पर दो-दो हजार सिलेंडर के डिपो बनाने की तैयारी शुरू कर दी गई है. कोरोना की तीसरी लहर आने पर हर रोज अगर केस बढ़ते हैं तो दिल्ली सरकार इन ऑक्सीजन सिलेंडर से 3000 ऑक्सीजन बैड तैयार कर सकेगी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना (Corona) संक्रमण से मचे कोहराम के बाद अब हालात धीरे-धीरे सुधर रहे हैं. हर रोज बड़ी संख्या में होने वाली मौतें (Deaths) भी अब कम होने लगी हैं. लेकिन दिल्ली सरकार (Delhi Government) अभी से कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave of Corona) की संभावना को देखते हुए अपनी तैयारियों में जुट गई है. इससे निपटने के लिए दिल्ली सरकार अस्पतालों में ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन बेड (Oxygen Bed) बनाने की तैयारी कर रही है.

    दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी के चलते बड़ी संख्या में लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं होने के चलते अस्पतालों में और होम आइसोलेशन में लोगों को ऑक्सीजन सिलेंडर और ऑक्सीजन बेड की भारी किल्लत उठानी पड़ी थी. इसकी वजह से बड़ी संख्या में दिल्ली में मौतें भी हुई हैं. वहीं अब दिल्ली सरकार ने कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए अस्पतालों में ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन बेड बनाने के लिए अब चीन (China) की मदद लेने की योजना बनाई है.

    3 जगहों पर दो-दो हजार सिलेंडर के डिपो बनाने की तैयारी
    दिल्ली सरकार चीन से 6,000 ऑक्सीजन सिलेंडर मंगवा रही है. वहीं, अच्छी बात यह है कि सरकार ने इन ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए अभी से ही 3 जगहों पर दो-दो हजार सिलेंडर के डिपो बनाने की तैयारी शुरू कर दी है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी स्वयं मान रहे हैं कि कोरोना की तीसरी लहर आने पर हर रोज अगर केस बढ़ते हैं तो हम इन ऑक्सीजन सिलेंडर से 3000 ऑक्सीजन बैड तैयार कर पाएंगे.

    ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए मायापुरी में बनाया डिपो
    अच्छी बात यह है कि चीन से आयात होने वाले 6,000 ऑक्सीजन सिलेंडर में से 4,400 ऑक्सीजन सिलेंडर दिल्ली में सप्लाई हो चुके हैं. दिल्ली सरकार ने इन ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए मायापुरी में डिपो बनाया है.

    संक्रमित मरीजों की संख्या घटकर 21,739 रह गई
    बताते चलें कि दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 156 लोगों ने अपनी जान गंवाई है. वहीं, अब कुल संक्रमित मरीजों की संख्या घटकर 21,739 रह गई है. मंगलवार को 1,568 नए मामले रिकॉर्ड किए गए तो वहीं 4,251 मरीजों ने रिकवर्ड किया.

    एक बेड के लिए 2 सिलेंडर की होती है जरूरत
    इस बीच देखा जाए तो चीन से आयात होने वाले 6,000 सिलेंडर में से 4,400 सिलेंडर आ चुके हैं. वहीं जल्द ही बाकी 1600 ऑक्सीजन सिलेंडर जल्द ही दिल्ली को मिल जाएंगे. सरकार का मानना है कि एक बेड के लिए 2 सिलेंडर की जरूरत होती है. इस तरह से हम कोरोना की तीसरी लहर के दौरान जरूरत पड़ने पर हम 3,000 ऑक्सीजन बैंड तैयार कर पाएंगे.

    ऑक्सीजन सिलेंडर को चीन से आयात करने में हुई बड़ी परेशानी
    दिल्ली को चीन से मिले इन ऑक्सीजन सिलेंडर पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल का कहना है कि इन 6,000 ऑक्सीजन सिलेंडर को चीन से आयात करने में बहुत ज्यादा मशक्कत करनी पड़ी है. इस दौरान काफी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ा है. इस पूरे कोरोना काल में इतने बड़े स्तर पर शायद ही कोई बड़ी खेप ऑक्सीजन सिलेंडर की भारत आई होगी. सीएम केजरीवाल का कहना है कि यह ऑक्सीजन सिलेंडर एचसीएल और गिव इंडिया फाउंडेशन ने मिलकर दिल्ली सरकार को दान दिए हैं.

    केंद्र की मदद से दिल्ली पहुंचे हैं यह सभी सिलेंडर
    दिल्ली में आयात होने वाले इन ऑक्सीजन सिलेंडर को सप्लाई होने में केंद्र सरकार का बड़ा रोल रहा है. खासतौर से बीजिंग (Beijing) में भारतीय दूतावास के प्रयास से यह सब कुछ हो पाया है. बताया जाता है कि मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर्स की मदद से इन ऑक्सीजन सिलेंडर को भारत सप्लाई किया जा सका है.

    ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदे, जिलों में बनाए बैंक
    इसके अलावा दिल्ली सरकार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भी बहुत बड़ी संख्या में खरीद रही है. दिल्ली में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक भी खोले गए हैं. यह बैंक सभी जिलों में बनाए गए हैं. जिसको भी इसकी जरूरत पड़ती है उसको ऑक्सीजन कंसंट्रेटर पहुंचाए जाते हैं.

    ऑक्सीजन टैंकर खरीदेंगे, बनेंगे ऑक्सीजन स्टोर
    दिल्ली सरकार आने वाले समय में ऑक्सीजन टैंकर भी खरीदेगी. ऑक्सीजन को स्टोर करने की जगह भी विकसित की जा रही है. सरकार उन सभी कमियों को पूरा करने की कोशिश में जुटी हुई है जो कि दूसरी लहर में सामने आई हैं. खासकर ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है.

    इन अस्पतालों में ऑक्सीजन बैड तैयार करने की योजना
    दिल्ली सरकार की ओर से एलएनजेपी और जीटीबी अस्पतालों में बड़ी संख्या में ऑक्सीजन बेड बनाएं  जाएंगे. वहीं, बुराड़ी और छतरपुर में भी नए ऑक्सीजन बेड बनाए जाने की तैयारी की जा रही है. ऑक्सीजन की कमी के चलते यहां पर मरीजों को पर्याप्त संख्या में बेड उपलब्ध नहीं हो सके थे.