दादागीरी: ताइवान के नेशनल डे को लेकर चीन ने भारतीय मीडिया को दी हिदायत!

चीन ने मीडिया को भारत की सरकार का आधिकारिक स्टैंड याद दिलाया है. (फाइल फोटो)
चीन ने मीडिया को भारत की सरकार का आधिकारिक स्टैंड याद दिलाया है. (फाइल फोटो)

चीन ने ताइवान के नेशनल डे (national day of Taiwan) को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं जिनमें भारतीय मीडिया (Indian Media) को हिदायत दी गई है कि क्या छापें और क्या न छापें! ताइवान का नेशनल डे 10 अक्टूबर को है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2020, 6:09 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. चीन (China) ने ताइवान को लेकर दुनिया के सामने अपनी हेकड़ी का एक और नमूना पेश किया है. चीन ने ताइवान के नेशनल डे (national day of Taiwan) को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं जिनमें भारतीय मीडिया (Indian Media) को हिदायत दी गई है कि क्या छापें और क्या न छापें! ताइवान का नेशनल डे 10 अक्टूबर को है.

दो अखबारों में छपे फुल फेज ऐड तो चीन ने दी प्रतिक्रिया
दरअसल चीन की तरफ से ये गाइडलाइंस ताइवान द्वारा दिल्ली के दो अखबारों को फुल पेज ऐड देने के बाद आई हैं. ताइवान के नेशनल डे को लेकर इन विज्ञापनों में कहा गया  था कि भारत और ताइवान नैचुरल पार्टनर्स हैं. इस विज्ञापन में ताइवान के कोरोना के खिलाफ उठाए गए सफल कदमों और अन्य देशों को साझा की गई मदद का भी जिक्र था.

भारत और ताइवान के बीच नहीं हैं औपचारिक राजनयिक संबंध
गौरतलब है कि 1995 में भारत और ताइवान ने एक-दूसरे की राजधानियों में प्रतिनिधि दफ्तर खोले थे लेकिन दोनों देशों के बीच औपचारिक राजनयिक संबंध नहीं है. नई दिल्ली में ताइपेई इकोनॉमिक एंड कल्चरल सेंटर है तो वहीं ताइपेई में इंडिया-ताइपेई असोसिएशन मौजूद है.



ताइवान ने स्थगित किया समरोह, विज्ञापन के जरिए कर रहा नेशनल डे का प्रचार
हिंदुस्तान टाइम्स पर प्रकाशित एक रिपोर्ट
के मुताबिक कोविड-19 की वजह से नेशनल डे पर ताइवान ने समारोह स्थगित कर दिया. लेकिन इस महत्वपूर्ण दिन को लेकर ताइवान टीवी और अखबारों में खूब विज्ञापन दे रहा है.

चीनी दूतावास का खत
इस पर नई दिल्ली स्थित चीनी दूतावास से भेजे गए खत में इसे 'सो-कॉल्ड नेशनल डे ऑफ ताइवान' कहा गया है. साथ ही खत में कहा है कि हम अपने मीडिया के दोस्तों को याद दिलाना चाहेंगे कि दुनिया में चीन सिर्फ एक है. और पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना की सरकार ही पूरे चीन का प्रतिनिधित्व करती है. ताइवान चीन का अभिन्न अंग है. चीन के साथ राजनयिक संबंध रखने वाले सभी देश चीन की इस नीति का सम्मान करते रहे हैं और लंबे समय से भारत की आधिकारिक पोजीशन भी यही रही है. हम उम्मीद करते हैं कि भारतीय मीडिया भी देश की सरकार के आधिकारिक स्टैंड के साथ रहेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज