Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    वुहान से कोरोना की सच्चाई बताने वाली पत्रकार को 5 साल की हो सकती है जेल

    झैंग बीते महीने से ही सलाखों के पीछे हैं. (पिक्चर ट्विटर से साभार)
    झैंग बीते महीने से ही सलाखों के पीछे हैं. (पिक्चर ट्विटर से साभार)

    चार्जशीट में कहा गया है कि झैंग (Zhang Zhan) ने भ्रामक और झूठी खबरें फैलाईं. चार्जशीट कहती है कि झैंग ने झूठ फैलाने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया. साथ ही उन्हें विदेशी मीडिया समूहों को इंटरव्यू देने का भी दोषी माना गया है. अगर चार्जशीट के मुताबिक झैंग पर चीन आरोप सिद्ध कर देता है तो उन्हें चार से पांच साल की सजा हो सकती है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 17, 2020, 10:08 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Covid-19) ने सबसे पहले अपना आतंक चीन के वुहान (Wuhan) शहर में मचाया था. 2020 के शुरुआती महीने जनवरी और फरवरी में इस शहर में ही कोरोना वायरस का प्रकोप था. यही कारण था कि तब इसे वुहान वायरस (Wuhan Virus) के नाम से भी जाना जा रहा था. बाद में ऐसी भी खबरें आईं कि चीन ने वुहान में कोरोना की भयावहता की पूरी तस्वीर दुनिया के सामने नहीं आने दी. यहां तक कि वुहान प्रशासन की आलोचना करने वाली पत्रकार झैंग झान (Zhang Zhan) को जेल भेज दिया गया. झैंग बीते महीने से ही सलाखों के पीछे हैं. अब एकाएक उन्हें लेकर सोशल मीडिया पर चर्चा तेज हो गई है.

    चीन को नहीं बर्दाश्त हुई सच्चाई
    झैंग पहले वकील रह चुकी हैं. जब उन्होंने कोरोना की स्थितियों को लेकर वुहान से रिपोर्टिंग की तो यह बात चीनी नेतृत्व को बर्दाश्त नहीं हुई. चीन नहीं चाहता था कि सच्चाई दुनिया के सामने पहुंचे. उन्हें भ्रामक जानकारी फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया. अब उनके मामले में प्रशासन ने अपनी चार्जशीट पेश कर दी है. इसी वजह से सोशल मीडिया पर झैंग के नाम की चर्चा है.

    चार्जशीट में लगाए गए आरोप
    चार्जशीट में कहा गया है कि झैंग ने भ्रामक और झूठी खबरें फैलाईं. चार्जशीट कहती है कि झैंग ने झूठ फैलाने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया. साथ ही उन्हें विदेशी मीडिया समूहों को इंटरव्यू देने का भी दोषी माना गया है. अगर चार्जशीट के मुताबिक झैंग पर चीन आरोप सिद्ध कर देता है तो उन्हें चार से पांच साल की सजा हो सकती है.





    इससे पहले हांगकांग का समर्थन कर चुकी हैं झैंग
    झैंग ने जेल में भी चीनी प्रशासन के खिलाफ भूख हड़ताल की है. इससे पहले भी वो प्रशासन द्वारा गिरफ्तार की जा चुकी हैं. तब उन्होंने हांगकांग का समर्थन किया था.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज