हवाला रैकेट मामले में चीनी नागरिक के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग कानून के तहत मामला दर्ज

हवाला रैकेट मामले में चीनी नागरिक के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग कानून के तहत मामला दर्ज
गिरफ्तार किया गया चीनी नागरिक चार्ली पेंग

एक मनी लॉन्ड्रिंग केस (Money laundering case) में चीनी नागरिक चार्ली पेंग (Charlie Peng) को गिरफ्तार किया गया था. शुरुआती जांच में पता चला है कि चार्ली पेंग इस काम में लोगों से चीनी ऐप वी चैट (We chat) के जरिये संपर्क करता था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 17, 2020, 6:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने लुओ संग उर्फ ​​चार्ली पेंग और अन्य के खिलाफ चीनी हवाला घोटाले में धन शोधन निवारण अधिनियम, 2002 (PMLA) के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया है. इससे पहले मनी लॉन्ड्रिंग केस (Money laundering case) में गिरफ्तार चीनी नागरिक चार्ली पेंग (Charlie Peng) को लेकर बड़ा खुलासा हुआ था. जांच एजेंसियों को पता चला था कि चार्ली पेंग दिल्ली में कुछ तिब्बती भिक्षुओं (Tibetan monks) के संपर्क में था. उसने दलाई लामा (Dalai Lama) और उनके सहयोगियों के बारे में जानकारी इकट्ठा करने के लिए उन्हें कथित रूप से रिश्वत भी दी थी.

इस मनी लॉन्ड्रिंग मामले में हुए कार्रवाई के बारे में जानकारी देते हुए आयकर विभाग (income tax) से जुड़े सूत्रों ने बताया था कि दिल्ली स्थित मजनूं का टीला के पास रहने वाले कुछ लोगों को इन जानकारियों के लिए 2 लाख से 3 लाख के बीच रिश्वत (bribe) दी गई है. सूत्रों के मुताबिक फिलहाल उन लोगों की पहचान की जा रही है. सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक शुरुआती जांच के बाद पुलिस (Police) को पता चला है कि चार्ली पेंग इस काम में लोगों से चीनी ऐप वी चैट के जरिए संपर्क में आता था. सूत्रों का ये भी कहना है कि चार्ली पेंग (Charlie Peng) उर्फ लुओ सांग (Luo Sang) ने पूछताछ के दौरान कई अहम खुलासे भी किए हैं.


एजेंट के जरिए बनवाया भारतीय आधार कार्ड
एजेंसियों की पूछताछ के दौरान पेंंग अधिकारियों को बताया कि वह 2014 में पहली बार भारत आया था. उसने भारत आने के बाद दिल्ली में नूडल्स का कारोबार शुरू किया था. नूडल्स के कारोबार के जरिए वह आगे बढ़ा और हवाला रैकेट तक जा पहुंचा.



यह भी पढ़ें:- कमला हैरिस के विचारों को आकार देने वाले उनके प्रगतिशील नाना में थीं कई खासियतें

दिल्ली में कारोबार को बढ़ाने के बाद पेंग ने द्वारका में फ्लैट खरीद लिया. घर खरीदने के बाद पेंग ने एजेंट के जरिए भारतीय आधार कार्ड और पैन कार्ड भी बनवाया. बाद में चार्ली पेंग द्वारका से गुरुग्राम शिफ्ट हो गया. अब हवाला नेटवर्क का पता चलने के बाद पुलिस उससे और भी कई मामलों में पूछताछ कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज