भारत से विवाद के बीच चीनी राष्ट्रपति ने सेना से कहा- युद्ध के लिए रहो तैयार

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग. (फाइल फोटो)
चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग. (फाइल फोटो)

एक रिपोर्ट में कहा गया है- एक मिलिट्री बेस पर दौरे के दौरान चीनी राष्ट्रपति (Chinese President Xi Jinping) ने सैनिकों से कहा है कि अपना दिमाग और ऊर्जा युद्ध की तैयारी में लगाओ. सीएनएन ने यह रिपोर्ट चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी शिन्हुआ के हवाले से दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 15, 2020, 2:17 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत और चीन के बीच सीमा विवाद (India-China Border Dispute) पिछले 6 महीने से लगातार चल रहा है. जून में गलवान घाटी (Galwan Valley) की घटना के बाद भारत ने इसे लेकर बेहद सख्त रुख अख्तियार किया. अब खबरें आ रही हैं कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Chinese President Xi Jinping) ने अपने देश की सेना (PLA) से युद्ध के लिए तैयार रहने को कहा है.

सीएनएन पर प्रकाशित एक रिपोर्ट में कहा गया है-एक मिलिट्री बेस पर दौरे के दौरान चीनी राष्ट्रपति ने सैनिकों से कहा है कि अपना दिमाग और ऊर्जा युद्ध की तैयारी में लगाओ. सीएनएन ने यह रिपोर्ट चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी शिन्हुआ के हवाले से दी है.

सैनिकों से कहा- पूरी तरह भरोसेमंद रहो
रिपोर्ट के मुताबिक चीनी राष्ट्रपति ने सैनिकों से हाई अलर्ट मोड में रहने के लिए कहा है. साथ ही उन्होंने सैनिकों को पूर्णत: भरोसेमंद रहने की ताकीद भी दी है. चीनी राष्ट्रपति को लेकर यह खबर ऐसे समय में आई है जब भारत और चीन के सैन्य अधिकारियों के बीच सातवें दौर की वार्ता समाप्त हुई है. दोनों देशों की तरफ से जारी की गई एक संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि वो बातचीत से सीमा विवाद सुलझाने के पक्षधर हैं. साथ ही दोनों देशों ने यह भी कहा है कि विवाद सुलझाने के लिए बातचीत लगातार जारी रहेगी.




सीमा पर हालात बेहद तनावपूर्ण
गौरतलब है कि दोनों देशों के बीच सीमा पर हालात 1962 के युद्ध के बाद सबसे खराब स्थिति में हैं. खुद विदेश मंत्री एस. जयशंकर भी इस बात को कह चुके हैं. हालांकि भारत की तरफ से चीन को स्पष्ट किया जा चुका है कि सीमा पर अशांति के साथ दोनों देशों के बीच संबंध सामान्य नहीं हो सकते हैं. भारत ने राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए चीन के 200 से ज्यादा ऐप प्रतिबंधित किए हैं जिनमें लोकप्रिय ऐप टिकटॉक भी शामिल है. भारत द्वारा ऐप्स पर कार्रवाई को चीन विश्व व्यापार संगठन के नियमों का उल्लंघन बता चुका है. वर्तमान में दोनों देशों की तरफ से वास्तविक नियंत्रण रेखा पर बड़ी संख्या में सेना तैनात की गई हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज