लाइव टीवी

चिन्मयानंद केस: SIT की चार्जशीट में इन 2 बीजेपी नेताओं का नाम, पीड़ित छात्रा से सबूत छीनने का आरोप

News18Hindi
Updated: November 25, 2019, 1:26 PM IST
चिन्मयानंद केस: SIT की चार्जशीट में इन 2 बीजेपी नेताओं का नाम, पीड़ित छात्रा से सबूत छीनने का आरोप
पीड़ित छात्रा को परीक्षा दिलाने के लिए बरेली सेंटर लाया गया है.

पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद (Swamy Chinmayanand Case) पर उन्हीं के कॉलेज की इस छात्रा ने यौन शोषण का आरोप लगाया था. उसके बाद मामले की जांच विशेष जांच दल (एसआईटी) द्वारा की गई थी. इस मामले में चिन्मयानंद को जेल भेजे जाने के बाद कथित पीड़िता और उसके दोस्तों संजय, विक्रम और सचिव को भी चिन्मयानंद से 5 करोड रुपये रंगदारी मांगने के आरोप में जेल भेज दिया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 25, 2019, 1:26 PM IST
  • Share this:
शाहजहांपुर (यूपी). पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद (Swamy Chinmayanand) पर लगे रेप के आरोपों की जांच कर रही एसआईटी टीम ने बीजेपी के दो नेताओं को भी आरोपी बनाकर चार्जशीट दाखिल की है. एसआईटी की चार्जशीट में सहकारी बैंक के अध्यक्ष डीपीएस राठौर और बीजेपी नेता अजित सिंह के नाम का जिक्र है. आरोप है कि उन्होंने राजस्थान के दौसा से बरामद हुई पीड़ित छात्रा से सबूत छीन लिए थे. छात्रा के पास एक पेनड्राइव थी, जिसमें स्वामी चिन्मयानंद का मालिश वाला वीडियो था. पूछताछ में भी चिन्मयानंद ने ये माना है कि उन्होंने छात्रा को कई बार मालिश के लिए बुलाया था.

थाना सदर बाजार के इंचार्ज किरण पाल सिंह ने बताया कि जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष की अनुपस्थिति में अदालत की ओर से भेजा गया समन उनकी गैरमौजूदगी में उनके बेटे को तामील करा दिया गया है.

मालूम हो कि पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर उन्हीं के कॉलेज की इस छात्रा ने यौन शोषण का आरोप लगाया था. उसके बाद मामले की जांच विशेष जांच दल (एसआईटी) द्वारा की गई थी. इस मामले में चिन्मयानंद को जेल भेजे जाने के बाद कथित पीड़िता और उसके दोस्तों संजय, विक्रम और सचिव को भी चिन्मयानंद से 5 करोड रुपये रंगदारी मांगने के आरोप में जेल भेज दिया गया.

chinmayanand
पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद


परीक्षा दिलाने बरेली लाई गई पीड़ित छात्रा
स्वामी चिन्मयानंद पर कथित तौर पर रेप का आरोप लगाने वाली 5 करोड रुपये बतौर रंगदारी मांगने की आरोपी छात्रा को एलएलएम फर्स्ट सेमेस्टर के बैक पेपर की परीक्षा दिलाने के लिए सोमवार को जेल से कड़ी सुरक्षा के बीच बरेली ले जाया गया. पुलिस इंस्पेक्टर (नगर) दिनेश त्रिपाठी ने बताया कि चिन्मयानंद से रंगदारी मांगने के मामले में जेल में बंद छात्रा को कोर्ट के आदेश पर परीक्षा दिलवाने के लिए पर्याप्त पुलिस फोर्स भेजा गया है. पुलिस टीम पीड़िता को सुबह जेल से लेकर बरेली रवाना हो गई.

रंगदारी मांगने के मामले में पिछले 25 सितंबर से जेल में बंद इसी छात्रा ने चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाया था. इस प्रकरण में चिन्मयानंद को बीते 20 सितंबर को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था.
Loading...

रंगदारी मांगने के मामले में विशेष जांच दल द्वारा आरोपी बनाई गई पीड़िता यहां स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ती थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर पीड़िता का दाखिला बरेली के एमजेपी विश्वविद्यालय में एलएलएम में कराया गया है. आज पीड़िता का एलएलएएम फर्स्ट सेमेस्टर की बैक पेपर परीक्षा है. इसीलिए पीड़िता को विश्वविद्यालय परीक्षा दिलाने ले जाया गया. (PTI इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें: चिन्‍मयानंद बलात्‍कार कांड: लड़की ने सुनाई यौन उत्‍पीड़न की दिल दहलाने वाली कहानी

ये भी पढ़ें: चिन्मयानंद केस: पीड़िता को हाईकोर्ट से नहीं मिली जमानत, 29 नवम्बर को होगी अगली सुनवाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 25, 2019, 1:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...