अपना शहर चुनें

States

चिटफंड घोटाला: CBI ने रोजवैली ग्रुप के प्रमुख गौतम कुंडु की पत्नी को गिरफ्तार किया

सीबीआई ने रोज वैली समूह के प्रमुख की पत्नी को गिरफ्तार किया.  (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-PTI)
सीबीआई ने रोज वैली समूह के प्रमुख की पत्नी को गिरफ्तार किया. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर-PTI)

Chit Fund Case: सीबीआई की आर्थिक अपराध शाखा के अधिकारियों ने पोंजी घोटाले में कथित भूमिका को लेकर शुभ्रा को गिरफ्तार किया. वह इस मामले में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा वांछित थी.

  • Share this:
कोलकाता. केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) ने करोड़ों रुपये के चिटफंड घोटाले (Chit Fund Case) के सिलसिले में, रोज वैली समूह के प्रमुख गौतम कुंडु की पत्नी शुभ्रा कुंडु को शुक्रवार को गिरफ्तार किया. इस आशय की जानकारी जांच एजेंसी के सूत्रों ने दी. उन्होंने बताया कि सीबीआई की आर्थिक अपराध शाखा के अधिकारियों ने पोंजी घोटाले में कथित भूमिका को लेकर शुभ्रा को गिरफ्तार किया. वह इस मामले में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा वांछित थी. रोज वैली समूह ने हजारों लोगों को निवेश पर अच्छा लाभ देने का झांसा लेकर उनका धन कथित तौर पर हड़प लिया है.

सीबीआई के सूत्रों के अनुसार, रोज वैली समूह ने इन योजनाओं के तहत निवेशकों से 12,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की राशि एकत्र की है. उन्होंने बताया कि रोज वैली ने देशभर के होटलों और रिसॉर्ट में पर्याप्त निवेश किया था. शुभ्रा द्वारा संचालित आभूषण चेन अद्रिजा को जांच शुरू होने के बाद एजेंसियों ने सील कर दिया था. ईडी ने नवम्बर, 2019 में शुभ्रा के खिलाफ लुक-आउट नोटिस जारी किया था. ईडी ने सेबी द्वारा दायर एक शिकायत के आधार पर मार्च, 2015 में गौतम कुंडु को गिरफ्तार किया था और तब से वह जेल में बंद है. ईडी अब तक रोज वैली की 2,300 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्तियों को कुर्क कर चुकी है.





अधीर रंजन चौधरी ने चिट फंड घोटालों की जांच, पीड़ित निवेशकों को मुआवजा देने की मांग की
इससे पहले, पश्चिम बंगाल कांग्रेस के प्रमुख अधीर रंजन चौधरी ने चिटफंड घोटालों की केंद्रीय एजेंसी से जांच कराने और राज्य सरकार से इस घोटाले के शिकार निवेशकों को मुआवजा देने की मांग की थी. चौधरी ने ऐसे निवेशकों की एक रैली की अगुवाई करते हुए आरोप लगाया कि राज्य में तृणमूल कांग्रेस की सरकार कई कल्याणकारी कार्यक्रमों की घोषणा कर रही है, लेकिन इन पीड़ित लोगों के लिए खास काम नहीं किया गया.

चौधरी ने मध्य कोलकाता में रैली के बाद कहा, 'हालांकि राज्य सरकार ने निवेशकों को मुआवजा देने का वादा किया है और इस उद्देश्य के लिए एक आयोग का गठन किया है, लेकिन अभी तक असहाय लोगों को कोई खास राहत नहीं मिली.' लोकसभा में कांग्रेस के नेता चौधरी ने कहा कि हालांकि सीबीआई सहित केंद्रीय एजेंसियां सारदा और अन्य चिट फंड घोटालों की जांच कर रही हैं, वे जांच पूरी नहीं कर पाई हैं. रैली में शामिल लोगों के एक प्रतिनिधिमंडल ने इस संबंध में राज्यपाल जगदीप धनखड़ को एक ज्ञापन भी सौंपा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज