Home /News /nation /

लॉकडाउन के बाद CISF ऐसे करेगी मेट्रो, एयरपोर्ट और सरकारी दफ्तरों की सुरक्षा

लॉकडाउन के बाद CISF ऐसे करेगी मेट्रो, एयरपोर्ट और सरकारी दफ्तरों की सुरक्षा

चेक करने वाले सीआईएसएफ जवान मास्क, ग्लव्स और प्लास्टिक ग्लास से लैस होंगे (फाइल फोटो)

चेक करने वाले सीआईएसएफ जवान मास्क, ग्लव्स और प्लास्टिक ग्लास से लैस होंगे (फाइल फोटो)

सुरक्षा को लेकर सीआईएसएफ (CISF) ने 1 स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर बनाया है जिसका फोर्स की सभी तीन सौ से ज्यादा यूनिट के जवानों और अधिकारियों को पालन करना होगा.

नई दिल्ली. लॉकडाउन (Lockdown) के बाद देश के एयरपोर्ट, मेट्रो स्टेशन, महत्वपूर्ण इमारतों की सुरक्षा करने वाली फोर्स सीआईएसएफ (CISF) ने कोरोना वायरस खतरे के मद्देनजर नया सिक्योरिटी प्रोटोकॉल तैयार किया है. इसके तहत सोशल डिस्टेंसिंग के सभी मापदंडों का पालन किया जाएगा और सीआईएसएफ जवान अपने आपको और वहां जाने वाली आम जनता को भी सुरक्षित रखने के लिए सारे जरूरी उपकरण से लैस रहेंगे. लॉकडाउन के बाद अगर आप एयरपोर्ट, मेट्रो या फिर किसी सरकारी संस्थान जाएंगे तो वहां की सुरक्षा व्यवस्था कुछ बदली-बदली सी होगी.

देश के सारे एयरपोर्ट पर सीआईएसएफ जवान अब अलग तरीके से वहां आने जाने वाले लोगों का सिक्योरिटी चेक करेंगे. एक सुरक्षित दूरी से पीपीई किट पहने एक लंबी रॉड से डिटेक्टिंग डिवाइस जुड़ी रहेगी और हवाई यात्रियों की सुरक्षा जांच होगी. अगर कोई यात्री संदिग्ध पाया जाता है और उसकी संघन जांच हाथ से करने की जरूरत है तो वो अलग खुली जगह पर एक खास तरीके से इनक्लोजर में होगी. जहां चेकिंग करनेवाला जवान डबल लेयर प्रोटेक्टिव किट पहने होगा. जिससे शरीर का हर एक हिस्सा ढका होगा. इसके अलावा एयरपोर्ट के बाहर लंबी भीड़ अब बीते जमाने की बात होगी. यात्रियों को सीआईएसएफ द्वारा बनाए गए सोशल डिस्टेंसिंग मार्क पर ही खड़ा रहना होगा और जांच करनेवाला सीआईएसएफ जवान एक प्लास्टिक इनक्लोजर के भीतर होगा. इसके अलावा जिन यात्रियों ने मास्क नहीं पहना है उनको फिलहाल सीआईएसएफ अपनी तरफ ले मास्क देकर ही एयरपोर्ट के अंदर जाने की अनुमति देगी. ये प्रोटोकॉल देशभर के डोमेस्टिक और 29 अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर आनेवाले और जानेवाले यात्रियों के लिए लागू रहेंगे.

सोशल डिस्टेंसिंग कायम रहे
सीआईएसएफ के डीआईजी डॉक्टर अनिल पांडेय के मुताबिक, अगर परिस्थिति बदली है तो उसके मुताबिक यह फोर्स अपने आपको ढाल रही है. कुल मिलाकर यही कोशिश की जा रही है कि सोशल डिस्टेंसिंग कायम रहे और ज्यादा भीड़भाड़ होने से इन सार्वजनिक जगहों को रोका जा सके.

ठीक ऐसी सुरक्षा व्यवस्था मेट्रो में और महत्वपूर्ण सरकारी इमारतों में रहेगी जहां पर सीआईएसएफ अपनी ड्यूटी में तैनात है-

>> अंदर घुसने वाले सारे लोगों की थर्मल स्कैनिंग होगी और सही टेंपरेचर वाले शख्स को ही अंदर घुसने दिया जाएगा.
>> चेक करने वाले जवान मास्क, ग्लव्स और प्लास्टिक ग्लास से लैस होंगे.
>> पीपीई किट पहने जवान ज्यादा संवेदनशील लोगों की हाथ से चेकिंग करेंगे.
>> चेकिंग प्वाइंट और टिकट काउंटर पर लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग के तहत ही खड़े रहने की इजाजत रहेगी.
>> सुरक्षा के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले उपकरणों का बराबर सेनेटाइजेशन होगा.
>> जवान आम जनता के सीधे कांटेक्ट में ना आए इस बात का भी खास खयाल रखा जाएगा..

फिलहाल 3 महीने तक इन नियम को लागू किया जाएगा इसके बाद एक बार फिर इनकी समीक्षा की जाएगी.

सुरक्षा को लेकर सीआईएसएफ ने 1 स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर बनाया है जिसका फोर्स की सभी तीन सौ से ज्यादा यूनिट के जवानों और अधिकारियों को पालन करना होगा. इन सारी जगहों पर स्थानीय मेडिकल टीम से सीआईएसएफ का बराबर संपर्क रहेगा ताकि कि किसी भी मेडिकल इमरजेंसी में जरूरतमंद शख्स को नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया जा सके.

ये भी पढ़ें :- 

Tags: Airports, CISF, Coronavirus in India, Delhi Metro, Lockdown

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर