लाइव टीवी

मेघालय के उग्रवादी संगठन एचएनएलसी को सरकार ने किया प्रतिबंधित

भाषा
Updated: November 18, 2019, 7:06 PM IST
मेघालय के उग्रवादी संगठन एचएनएलसी को सरकार ने किया प्रतिबंधित
सरकारर ने मेघालय (Meghalaya) में सक्रिय उग्रवादी संगठन HNLC पर बैन लगा दिया है (सांकेतिक फोटो)

गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने अधिसूचना में कहा कि यह समूह जबरन धन वसूलने (Extortion of money) के लिए आम लोगों को डराता-धमकाता और परेशान करता है. और जबरन वसूली एवं धमकाने के लिए पूर्वोत्तर (North-East) के अन्य उग्रवादी समूहों (Other Militant Groups) से संबंध रखता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. मेघालय (Meghalaya) में सक्रिय उग्रवादी समूह हिनीवट्रेप नेशनल लिबरेशन काउंसिल (HNLC) को उसकी हिंसात्मक एवं विध्वसंक गतिविधियों (Violent and Destructive Activities) के कारण केंद्र सरकार (Central Government) ने प्रतिबंधित कर दिया है.

गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने एक अधिसूचना में कहा कि HNLC, उसके सभी धड़ों, शाखाओं और उससे जुड़े संगठनों ने भारतीय संघ से राज्य के उन क्षेत्रों को अलग करने के अपने उद्देश्य की सार्वजनिक घोषणा की है, जिनमें मुख्य रूप से खासी और जयंतिया जनजातियां (Khasi and Jaintia Tribes) रहती हैं.

जबरन धन वसूलने के लिए आम लोगों को डराता-धमकाता है संगठन
गृह मंत्रालय ने अधिसूचना में कहा कि यह समूह जबरन धन वसूलने (Extortion of money) के लिए आम लोगों को डराता-धमकाता और परेशान करता है, जबरन वसूली एवं धमकाने के लिए पूर्वोत्तर के अन्य उग्रवादी समूहों से संबंध रखता है और इसने अपने सदस्यों को पनाह और प्रशिक्षण देने के लिए बांग्लादेश में शिविर स्थापित किए हैं.

केंद्र सरकार का यह भी मानना है कि HNLC की गतिविधियों से भारत की संप्रभुता एवं अखंडता (Sovereignty and Integrity of India) को खतरा है.

तत्काल नियंत्रित नहीं किया गया तो फिर से शक्ति जुटाकर हो जाएगा सशक्त: अधिसूचना
मंत्रालय ने कहा कि अगर इन गतिविधियों को तत्काल नियंत्रित नहीं किया गया तो HNLC स्वयं को फिर से एकजुट करेगा और सशक्त बनाएगा, अपने सदस्यों की संख्या बढ़ाएगा, अत्याधुनिक हथियार खरीदेगा, आम नागरिकों और सुरक्षा बलों के जीवन को खतरा पहुंचाएगा और अपनी राष्ट्र विरोधी गतिविधियों को बढ़ाएगा.
Loading...

अधिसूचना में कहा गया है कि केंद्र सरकार अवैध गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम 1967 की धारा तीन की उपधारा (एक) द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए HNLC, उसके सभी धड़ों, शाखाओं और इससे जुड़े संगठनों को अवैध घोषित करती है.

मंत्रालय ने अपनी अधिसूचना में संगठन की खतरनाक गतिविधियों को भी किया सूचीबद्ध
मंत्रालय ने एक आम नागरिक की हत्या समेत HNLC द्वारा हाल में की गई हिंसात्मक घटनाओं, इसके 16 सदस्यों की गिरफ्तारी, चार हथियारों की बरामदगी, इसके 14 सदस्यों के आत्मसमर्पण और लोगों के अपहरण की घटनाओं को भी सूचीबद्ध किया.

इससे पहले, HNLC को 16 नवंबर 2000 को प्रतिबंधित संगठन घोषित किया गया था लेकिन बाद में प्रतिबंध हटा लिया गया था.

यह भी पढ़ें: पुंछ: संदिग्ध आतंकियों को खोजने के लिए सुरक्षाबलों ने लॉन्च किया सर्च ऑपरेशन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 5:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...