CAB Protest: असम-मेघालय में कर्फ्यू और इंटरनेट-SMS पर प्रतिबंध, पुलिस फायरिंग में 2 की मौत

CAB Protest: असम-मेघालय में कर्फ्यू और इंटरनेट-SMS पर प्रतिबंध, पुलिस फायरिंग में 2 की मौत
असम के बाद मेघालय में भी 48 घंटे के लिए इंटरनेट पर प्रतिबंध लगाया गया.

असम (Assam) के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक कानून और व्यवस्था (Law and Order) मुकेश अग्रवाल ने बताया कि शाम छह बजकर 15 मिनट पर कर्फ्यू लगाया गया था जिसे अनिश्चितकाल (Indefinitely) के लिए बढ़ा दिया गया है. 48 घंटे के लिए असम में इंटरनेट पर प्रतिबंध बढ़ाया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 13, 2019, 12:35 PM IST
  • Share this:
गुवाहाटी. नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Bill Protests) के खिलाफ असम (Assam) में जारी प्रदर्शन गुरूवार को भी हिंसक बना रहा. गुवाहाटी (Guwahati)  पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में 2 लोगों की मौत हो गयी है, इसके अलावा गंभीर रूप से घायल दो प्रदर्शनकारियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उधर असम के बाद मेघालय (Meghalaya)  की राजधानी शिलांग (Shillong) में भी प्रदर्शन के बाद इंटरनेट पर 48 घंटे के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है.

इससे पहले प्रदर्शनकारियों ने बीजेपी विधायक बिनोद हजारिका के घर में आग लगा दी. एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार घटना राज्य के चबुआ की है. समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार डिब्रूगढ़ (Dibrugarh) जिला स्थित चबुआ (Chabua) में भाजपा विधायक बिनोद हजारिका (Binod Hazarika) के घर में आग लगा दी. बताया गया कि कम एक सर्किल ऑफिस में भी प्रदर्शनकारियों ने आग लगा दी.  CAB 2019 का विरोध कर रहे लोगों ने गाड़ियों में आग भी लगा दी.

नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 (Citizen Amedment Bill) को संसद से मंजूरी मिलते ही असम में प्रदर्शन दिनोंदिन उग्र होते जा रहे हैं. गुरुवार को गुवाहाटी में प्रदर्शनकारियों ने एक रेलवे स्टेशन पर हमल बोल दिया. वहीं, जगह-जगह आगजनी और तोड़फोड़ की गई. ऐसे में गुवाहाटी जाने वाली सभी ट्रेनें और फ्लाइट्स शुक्रवार तक के लिए कैंसिल कर दी गई हैं. वहीं, नागरिकता संशोधन बिल पर असम में हो रहे उग्र विरोध प्रदर्शन को देखते हुए बांग्लादेश के विदेश मंत्री एके अब्दुल ने अपना तीन दिवसीय भारत दौरा रद्द कर दिया है.

पीएम मोदी ने जारी की अपील


इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने लोगों से शांति और संयम बरतने की अपील की है. हालात पर काबू पाने के लिए गुवाहाटी समेत असम के कई शहरों में चप्पे-चप्पे पर सेना के जवान तैनात किए गए हैं. नागरिकता (संशोधन) विधेयक (Citizen Amedment Bill) को लेकर व्यापक विरोध प्रदर्शन के बीच सुप्रीम कोर्ट में पहली याचिका दायर की गई है. इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के 4 सांसदों ने इस बिल के खिलाफ याचिका दाखिल की. याचिका में कहा गया है कि भारत का संविधान धर्म के आधार पर वर्गीकरण की इजाजत नहीं देता. ऐसे में नागरिकता संशोधन बिल असंवैधानिक है. ये बिल संविधान के अनुच्छेद 14 के तहत ट्वीन टेस्ट पर खरा नहीं उतरता है.



हजारों लोगों ने किया कर्फ्यू का उल्लंघन
असम में विवादास्पद नागरिकता (संशोधन) विधेयक के खिलाफ विरोध प्रदर्शन तेज होने के बीच हजारों की संख्या में लोगों ने बृहस्पतिवार को गुवाहाटी में कर्फ्यू का उल्लंघन किया और सड़कों पर उतरे। राज्य में पुलिस गोलीबारी में दो लोगों की मौत हो गई और सेना की टुकड़ियां फ्लैग मार्च कर रही है. अधिकारियों ने बताया कि तेजपुर तथा ढेकियाजुली शहरों में भी अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लगाया गया है. उन्होंने बताया कि जोरहाट, गोलाघाट, तिनसुकिया और चराईदेव जिलों में रात का कर्फ्यू लगाया गया है.

असम के गुवाहाटी में प्रदर्शनकारियों पर पुलिस गोलीबारी में घायल हुए दो लोगों की बृहस्पतिवार को मौत हो गई. गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के एक अधिकारी ने बताया कि एक व्यक्ति को 'मृत लाया गया' था जबकि एक अन्य की इलाज के दौरान मौत हो गई. हालांकि प्रदर्शनकारियों ने दावा किया है कि पुलिस गोलीबारी में तीन लोगों की मौत हुई है. अस्पताल सूत्रों ने बताया कि गोली लगने से घायल 11 लोगों को वहां लाया गया था. हेतीगांव, लचितनगर, डाउनटाउन, गणेशगुरी और लालुंगांव समेत गुवाहाटी में कई स्थानों पर पुलिस गोलीबारी की घटनाएं होने की खबर है.

छावनी में तब्दील हो गया है गुवाहाटी
गुवाहाटी एक छावनी में तब्दील हो गया है क्योंकि यहां प्रत्येक नुक्कड़ और चौराहे पर सेना, अर्द्धसैनिक बल और राज्य पुलिस के जवान तैनात हैं. इस बीच, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार उनके अधिकारों को सुरक्षित रखने के लिए प्रतिबद्ध है. असमिया और अंग्रेजी भाषा में किये कई ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा कि वह व्यक्तिगत रूप से और केंद्र सरकार 'धारा छह की भावना के अनुसार लोगों को राजनीतिक, भाषाई, सांस्‍कृतिक और भूमि अधिकारों की संवैधानिक सुरक्षा देने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है.'

असम समझौते की धारा छह स्थानीय अधिकारों, भाषा और संस्कृति की सुरक्षा की गारंटी देता है. प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा, 'मैं असम के अपने भाइयों और बहनों को आश्वासन देना चाहता हूं कि नागरिकता संशोधन विधेयक के पारित होने के बाद उन्हें चिंतित होने की जरूरत नहीं है.' उन्होंने कहा, 'कोई उनके अधिकारों, विशिष्ट पहचान और खूबसूरत संस्कृति को छीन नहीं सकता.' असम के दस जिलों में इंटरनेट सेवाओं पर लगाई गई रोक की अवधि को बृहस्पतिवार की दोपहर 12 बजे से 48 घंटे के लिए और बढ़ा दिया गया है.

इंटरनेट और SMS सेवा पर लगाईं गई है रोक
अधिकारियों ने बताया कि सोशल मीडिया का 'दुरुपयोग' रोकने और कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बनाये रखने के वास्ते इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगाई गई थी. अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह और राजनीतिक विभाग) संजय कृष्णा ने बताया कि लखीमपुर, धेमाजी, तिनसुकिया, डिब्रूगढ़, चराइदेव, शिवसागर, जोरहाट, गोलाघाट, कामरूप (मेट्रो) और कामरूप में इंटरनेट सेवाएं बाधित रहेंगी. वाहनों पर तोड़फोड़ की घटनाओं के बाद बृहस्पतिवार की शाम पांच बजे से 48 घंटे के लिए पड़ोसी राज्य मेघालय में मोबाइल इंटरनेट और संदेश सेवाओं को भी स्थगित कर दिया गया है. राज्य की राजधानी शिलांग में दो पुलिस थानों के तहत क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया है. त्रिपुरा से हिंसा की कोई बड़ी घटना होने की कोई सूचना नहीं है. राज्य की राजधानी अगरतला में बंद रहा और शैक्षणिक संस्थान तथा कार्यालय बंद रहे.

कई ट्रेनें और फ्लाइट्स भी हुईं रद्द
रेलवे के प्रवक्ता सुभानन चंदा ने बृहस्पतिवार को नई दिल्ली में बताया कि सुरक्षा स्थिति को देखते हुए यह फैसला बुधवार रात में लिया गया, जिसके बाद कई यात्री कामाख्या और गुवाहाटी में फंस गए. आरपीएफ के प्रमुख अरुण कुमार ने राष्ट्रीय राजधानी में बताया कि डिब्रूगढ़ के चबुआ में एक रेलवे स्टेशन में बुधवार की देर रात और तिनसुकिया में पानिटोला रेलवे स्टेशन में आग लगाये जाने के बाद रेलवे सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) की 12 कंपनियों को क्षेत्र में भेजा गया है.

रेलवे के प्रवक्ता चंदा ने कहा, 'यात्री फंसे हुए हैं और हम उनकी यथासंभव मदद करने की कोशिश कर रहे हैं. हम इन यात्रियों को लाने के लिए विशेष ट्रेन चलाने पर विचार कर रहे हैं, लेकिन अभी इसका आकलन कर रहे हैं कि क्या खतरा उठाना उचित है.' कोलकाता हवाई अड्डे के एक अधिकारी ने बताया कि गुवाहाटी समेत पूर्वोत्तर को जाने वाली कई उड़ानों को रद्द किया गया है या उनके समय में बदलाव किया गया है.

टीवी चैनलों के लिए परामर्श हुआ जारी
प्रदर्शनों के जारी रहने के बीच केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने निजी उपग्रह टीवी चैनलों को एक परामर्श जारी कर ऐसी सामग्री प्रसारित करने को लेकर सतर्क किया है जो हिंसा भड़का सकती है, 'राष्ट्र विरोधी प्रवृत्ति' को बढ़ावा दे सकती है तथा जिसमें ऐसा कुछ हो जो देश की अखंडता को प्रभावित करे. कुछ टीवी चैनलों ने बुधवार को संसद में पारित हुए इस विधेयक के खिलाफ पूर्वोत्तर में हिंसक प्रदर्शनों की फुटेज प्रसारित की जिसके बाद यह परामर्श जारी किया गया.

स्थिति से निपटने के लिए सरकार ने राज्य पुलिस रैंक में कुछ बदलाव किये हैं. गुवाहाटी के पुलिस आयुक्त दीपक कुमार को हटा दिया गया है और उनके स्थान पर मुन्ना प्रसाद गुप्ता को नियुक्त किया गया है. अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) मुकेश अग्रवाल का स्थानांतरण एडीजीपी (सीआईडी) के रूप में किया गया और जी पी सिंह को उनका प्रभार दिया गया है.

कई नेताओं के घरों पर हुआ हमला
एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने तेजपुर के माधवधाम में उस समय गोलीबारी की जब एक व्यक्ति ने प्रदर्शनकारियों के एक समूह में अपने वाहन को घुसा दिया जिससे चार लोग घायल हो गये. प्रदर्शनकारियों ने उस व्यक्ति पर हमला किया और उसके वाहन को जला दिया. डिब्रूगढ़, सादिया और तेजपुर जैसी स्थानों के अलावा गोलाघाट के अमोलपट्टी में आरएसएस के कार्यालयों में तोड़फोड़ की गई. प्रदर्शनकारियों ने सोनितपुर के बेहली में असम के हथकरघा मंत्री रंजीत दत्ता, भाजपा विधायक पद्मा हजारिका और चबुआ में बिनोद हजारिका के आवासों पर हमला किया.

डिब्रूगढ़ में गुरुवार, 12 दिसंबर, 2019 को नागरिकता संशोधन विधेयक पारित करने के विरोध में लोगों ने सड़क पर ईंटे बिखेर दी थी. सेना के जवानों ने सड़क से ईंटें हटाईं (PTI Photo)

नागरिकता (संशोधन) विधेयक बुधवार को राज्यसभा में पारित हो गया. इससे पहले यह विधेयक सोमवार को लोकसभा में पारित हो चुका है. इसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण 31 दिसंबर 2014 तक भारत आए गैर मुस्लिम शरणार्थी - हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है.

विधानसभा अध्यक्ष ने भी जताई चिंता
असम विधानसभा के अध्यक्ष हितेंद्र नाथ गोस्वामी ने बृहस्पतिवार को कहा कि नागरिकता (संशोधन) विधेयक को लेकर जाहिर किये जा रहे संदेह निराधार नहीं हैं और यदि इसे लागू किया जाता है तो विभाजन पैदा होने की प्रबल आशंका है. गोस्वामी ने एक बयान में केन्द्र सरकार से असम के लोगों के गुस्से और शिकायतों का निवारण करने के लिए आवश्यक कदम उठाये जाने की अपील की. असम में नागरिकता (संशोधन) विधेयक के खिलाफ हिंसक प्रदर्शनों के बीच बृहस्पतिवार को आरटीआई कार्यकर्ता और किसान नेता अखिल गोगोई को जोरहाट से ऐहतियातन गिरफ्तार कर लिया गया. असम के एडिशनल चीफ सेक्रेट्री (होम)  कुमार संजय कृष्णा ने बताया कि 10 जिलों- लखीमपुर, तिनसुकिया, धेमाजी, डिब्रूगढ़, चराईदियो, शिवसागर, जोरहाट, गोलघाट, कामरूप में मोबाइल और इंटरनेट की सेवाएं 48 और घंटों के लिए बंद की गईं हैं.

मेघालय में भी इंटरनेट-SMS सेवा बंद
मेघालय सरकार ने नागरिकता (संशोधन) विधेयक पर विरोध के चलते बिगड़ती कानून और व्यवस्था की स्थिति के मद्देनजर गुरुवार को अगले 48 घंटों के लिए राज्य भर में मोबाइल इंटरनेट और संदेश सेवाओं को बंद करने का फैसला किया है. अधिकारियों ने बताया कि ये सेवाएं गुरुवार शाम पांच बजे से वापस ले ली गई हैं. राज्य की राजधानी में जिला प्रशासन ने दो पुलिस थानों में कानून और व्यवस्था की स्थिति बिगड़ने के चलते कर्फ्यू लगा दिया है. उन्होंने कहा कि कर्फ्यू आज रात 10 बजे से अगले आदेश तक लागू होगा.

 
असम के हथकरघा मंत्री अंजीत दत्ता के बेहली के सोनितपुर स्थित घर पर भी प्रदर्शनकारियों ने किया हमला. असम पुलिस के जवान मौके पर मौजूद.त्रिपुरा से आए जॉइंट मूवमेंट अगेंस्ट सिटिजनशिप बिल (JMACAB) के नेताओं ने गुरूवार को गृह मंत्री अमित शाह से दिल्ली में मुलाक़ात की. मुलाक़ात के बाद इन नेताओं ने फिलहाल अनिश्चितकालीन हड़ताल पर नहीं जाने का ऐलान किया है. असम के राज्यपाल जगदीश मुखी ने भी प्रदर्शन कर रहे लोगों के लिए अपील जारी की है. राज्यपाल ने अपील में कहा है- मैं सभी छात्रों, भाइयों-बहनों, और जो कोई भी नागरिकता बिल के खिलाफ प्रदर्शन कर रहा है, उन सभी से कहना चाहता हूं कि नियंत्रण बनाए रखें, शांति बनाए रहें. डिब्रूगढ़ में असम स्टेट ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन (ASTC) के एक टर्मिनस को प्रदर्शनकारियों ने लगाई आग. मौके पर सेना और फायर ब्रिगेड के कई कर्मी मौके पर. असम के तेजपुर और धेकिअजुली डिस्ट्रिक्ट में अनिश्चितकलीन कर्फ्यू लागू जबकि जोराहाट, तिनसुकिया, गोलाघाट और चराइडियो जिलों में नाईट कर्फ्यू घोषित. दिल्ली के इंडिया गेट पर भी नागरिकता बिल के विरोध में प्रदर्शन जारी.असम के गुवाहाटी में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में दो लोगों को गोली लगी. गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज-अस्पताल में इलाज के दौरान हुई मौत. 15 से 17 दिसंबर को सिक्किम में होने जा रहे नॉर्थ-ईस्ट यूथ फेस्टिवल को प्रदर्शन के मद्देनज़र फिलहाल स्थगित किया गयाअसम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने असम के लोगों से अपील की है कि सभी लोग शांति बनाए रखें. उन्होंने कहा कि असम के लोगों को पूरा संरक्षण मिलेगा. यह सुनिश्चित किया जाएगा कि उनकी पहचान सदैव बरकरार रहेगी. समाज के सभी वर्गों से मेरी अपील है कि वह आगे आएं और शांति का माहौल बनाएं. उन्होंने कहा मुझे उम्मीद है कि इस अपील पर गंभीरता से ध्यान देंगे.असम सरकार में मंत्री  हिमंत बिस्व सरमा ने कहा है कि गृहमंत्री अमित शाह ने वादा किया असम समझौते के खंड 6 का कार्यान्वयन असम में राजनीतिक स्थिरता की नई उम्मीद पैदा करेगा. उन्होंने कहा कि नागरिकता बिल असम को प्रतिकूल रूप से प्रभावित नहीं करेगा, शरणार्थियों को धार्मिक उत्पीड़न का सामना करने में मदद करेगा.पूर्वोत्तर राज्यों में प्रदर्शन के बीच मेघायल के सीएम कॉनरोड संगमा ने राज्य में लॉ एंड ऑर्डर को लेकर चिंता जाहिर की है. इस सिलसिले में संगमा आज रात 8 बजे नई दिल्ली में गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात करेंगे. इस बीच प्रशासन ने कई अधिकारियों का तबादला कर दिया है. ADGP लॉ एंड ऑर्डर मुकेश अग्रवाल का ट्रांसफर कर दिया गया है और उन्हें ADGP (CID) का चार्ज दिया गया है. हिंसक प्रदर्शनों के चलते असम के कई जिलों में कर्फ्यू लगाया गया और इस वजह से असम और सर्विसेज के चल रहे मैच के आखिरी दिन का खेल रद्द कर दिया गया. असम क्रिकेट एसोसिएशन के उपाध्‍यक्ष देबोजीत सैकिया ने बताया कि खिलाड़ियों की सुरक्षा को देखते हुए मैच रद्द किया गया है.पीएम मोदी ने किया ट्वीटप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा है- 'मैं असम के अपने भाइयों और बहनों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि सीएबी के पारित होने के बाद उन्हें चिंता करने की कोई बात नहीं है. मैं उन्हें आश्वस्त करना चाहता हूं- कोई भी आपके अधिकारों, विशिष्ट पहचान और सुंदर संस्कृति को नहीं छीन सकता है. यह फलता-फूलता और विकसित होता रहेगा.'पीएम ने कहा कि - 'केंद्र सरकार और मैं खंड 6 की भावना के अनुसार असमिया लोगों के राजनीतिक, भाषाई, सांस्कृतिक और भूमि अधिकारों को संवैधानिक रूप से संरक्षित करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं.'बिल के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाएगी मुस्लिम लीगनागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ इंडियन मुस्लिम लीग सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करेगी. बुधवार को सदन में भी कई नेताओं ने कहा था कि ये बिल सुप्रीम कोर्ट में फेल हो जाएगा. कांग्रेस सांसद पी. चिदंबरम ने कहा था कि ये बिल अगर संसद में नहीं रोका गया, तो सुप्रीम कोर्ट में जरूर फेल हो जाएगा.

अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह और राजनीतिक विभाग) कुमार संजय कृष्णा द्वारा जारी एक अधिसूचना के अनुसार लखीमपुर, धेमाजी, तिनसुकिया, डिब्रूगढ़, चराइदेव, शिवसागर, जोरहाट, गोलाघाट, कामरूप (मेट्रो) और कामरूप में इंटरनेट सेवाएं बाधित रहेंगी. अधिसूचना में कहा गया है, 'इंटरनेट सेवाएं स्थगित रहेंगी क्योंकि 'फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर और यू ट्यूब जैसे सोशल मीडिया मंचों का इस्तेमाल अफवाहों को फैलाने के लिए किया जा सकता है और तस्वीरों तथा वीडियो के जरिये ऐसी सूचनाओं का आदान-प्रदान किये जाने की आशंका है जिससे लोगों की भावनाएं भड़क सकती है या कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बिगड़ सकती है.'

यह भी पढ़ें: राज्यसभा में पारित हुआ नागरिकता संशोधन बिल, पक्ष में पढ़े 125 वोट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज