लाइव टीवी

नागरिकता संशोधन बिल: अमित शाह ने कहा- कांग्रेस और पाकिस्तान के नेताओं के बयान एक जैसे, पढ़ें 10 बड़ी बातें

News18Hindi
Updated: December 11, 2019, 8:05 PM IST
नागरिकता संशोधन बिल: अमित शाह ने कहा- कांग्रेस और पाकिस्तान के नेताओं के बयान एक जैसे, पढ़ें 10 बड़ी बातें
अमित शाह ने राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल पर हुई चर्चा का जवाब दिया

गृह मंत्री अमित शाह (Home Minsiter Amit Shah) ने कहा आज नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) जो नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) लाए हैं, उसमें निर्भीक होकर शरणार्थी कहेंगे कि हां हम शरणार्थी हैं, हमें नागरिकता दीजिए और सरकार नागरिकता देगी. जिन्होंने जख्म दिए वो ही आज पूछते हैं कि ये जख्म क्यों लगे

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 11, 2019, 8:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने बुधवार को राज्यसभा (Rajyasbha) के पटल पर नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) रखा. इस बिल पर दोपहर से चर्चा जारी थी. इस बिल पर हुई चर्चा का गृह मंत्री अमित शाह ने जवाब देते हुए कहा कि देश के विभाजन के कारण इस विधेयक की जरूरत पड़ी. अमित शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि नागरिकता विधेयक किसी की भारतीय नागरिकता छीनने के लिए नहीं है, मुसलमानों को चिंता करने या भयभीत होने की कोई जरूरत नहीं है. पढ़िए अमित शाह के जवाब की दस बड़ी बातें-

- गृह मंत्री अमित शाह ने कहा बंटवारे के बाद जो स्थितियां पैदा हुई इसके चलते ये बिल आया, अगर पूर्व की सरकारों ने ऐसा किया होता तो हमको बिल न लाना पड़ता लेकिन नरेंद्र मोदी सरकार सिर्फ शासन करने के लिए नहीं बल्कि देश को सुधारने के लिए आई है.

- गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि लियाकत-नेहरू समझौता होने के बाद यह समझौता फाइलों में रहा. उन्होंने कहा नेहरू-लियाकत समझौते के तहत दोनों पक्षों ने स्वीकृति दी कि अल्पसंख्यक समाज के लोगों को बहुसंख्यकों की तरह समानता दी जाएगी, उनके व्यवसाय, अभिव्यक्ति और पूजा करने की आजादी भी सुनिश्चित की जाएगी, ये वादा अल्पसंख्यकों के साथ किया गया.

- अमित शाह ने कहा दो साथी संसद को डरा रहे हैं कि संसद के दायरे में सुप्रीम कोर्ट आ जाएगी. कोर्ट ओपन है. कोई भी व्यक्ति कोर्ट में जा सकता है. हमें इससे डरना नहीं चाहिए. हमारा काम अपने विवेक से कानून बनाना है, जो हमने किया है और ये कानून कोर्ट में भी सही पाया जाएगा

-गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि जो इस्लामिक राज्य हैं वहां इस्लाम के अनुयायियों पर कोई प्रताड़ना होने की संभावना नहीं है इसलिए इस बिल में उन्हें नहीं रखा गया है. जो प्रताड़ित है उसे लाना ही हमारी व्याख्या है. गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि इस बिल में धार्मिक प्रताड़ना से परेशान लोगों को शामिल किया गया है.

-गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हमारा काम विवेक बुद्धि से कानून बनाना है जो कि हम कर रहे हैं और हमें विश्वास है कि अदालत में भी इसे सही पाया जाएगा. गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हम मुद्दों को लेकर कन्फ्यूज़ नहीं होते हैं.-गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि महात्मा गांधी ने एक प्रार्थना सभा में कहा कि पाकिस्तान में रह रहे हिंदू और सिख यदि वह वहां नहीं रहना चाहते तो वह भारत आएं, भारत सरकार का प्रथम कर्तव्य है उनको सुरक्षा और अधिकार देना.

- गृह मंत्री अमित शाह ने आनंद शर्मा के सवाल के जवाब में कहा कि विभाजन सावरकर के स्टेटमेंट के चलते हुआ पर पूरा देश जानता है कि विभाजन जिन्ना जी के चलते हुआ. मैं ये पूछना चाहता हूं कि अगर किसी ने ये मांग की तो कांग्रेस ने इसे स्वीकार क्यों किया. धर्म के आधार पर विभाजन कांग्रेस की देन है.

- गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि बंगाल के अंदर पूजा विसर्जन के लिए हाईकोर्ट से परमिशन लेनी पड़ती है. हाईकोर्ट बंगाल प्रशासन को इसके लिए ऑर्डर करती है. शाह ने कहा कि पूरी दुनिया जानती है कि भारत लोकतांत्रिक देश है यहां दोनों सदन सही प्रकार से चलते हैं.

-गृह मंत्री अमित शाह ने कहा लाखों-करोड़ों लोग नर्क की यातना में जी रहे थे. क्योंकि वोट बैंक के लालच के अंदर आंखे अंधी हुई थी, कान बहरे हुए थे, उनकी चीखें नहीं सुनाई पड़ती थी. नरेन्द्र मोदी जी ने केवल और केवल पीड़ितों को न्याय करने के लिए ये बिल लेकर आए हैं

- कांग्रेस के नेताओं के बयान और पाकिस्तान के नेताओं के बयान कई बार घुल-मिल जाते हैं. कल ही पाकिस्तान के पीएम ने जो बयान दिया और आज जो इस सदन में बयान दिए गए हैं, वो एक समान हैं. गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कांग्रेस और पाकिस्तान के नेताओं के बयान एक समान हैं. सर्जिकल स्ट्राइक, 370 और नागरिकता बिल पर पाकिस्तान और कांग्रेस के नेताओं के बयान एक जैसे रहे.

ये भी पढ़ें-
नागरिकता बिल: शाह ने दिया जवाब, नेहरू-लियाकत पैक्ट का किया जिक्र

नागरिकता विधेयक: चिदंबरम बोले- CAB संविधान विरूद्ध, अदालत में नहीं टिक पाएगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 8:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर