मास्‍क ना लगाने पर क्‍या सि‍वि‍ल डिफेंस वॉलंटियर्स काट सकते हैं आपका चालान, जानि‍ए क्‍या कहता है नि‍यम?

एन95 मास्क

एन95 मास्क

सिविल डिफेंस वालंटियर के पास Covid Challan काटने का कोई कानूनी अधिकार नहीं है. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की ओर से यह भी स्पष्ट किया गया है कि अक्सर इन्हें दिल्ली पुलिस कर्मी समझ लिया जाता है. इनके कुछ कुकृत्य दिल्ली पुलिस के समझ लिए जाते हैं. इसकी वजह से दिल्ली पुलिस की छवि भी धूमिल हो रही है. लोगों को इस मामले में सतर्क रहने की जरूरत है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2021, 5:26 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामले अब तेजी से घट रहे हैं. हर रोज होने वाली मौतों के आंकड़ों में भी तेजी से अब कमी दर्ज की गई है. 2 दिन पहले जहां दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोई भी कोरोना से मौत नहीं होना रिकॉर्ड किया गया था. वही कोरोना के एक्टिव मामले भी अब 1046 पर पहुंच गए हैं घटकर 1046 पर पहुंच गए हैं.




लेकिन अब दिल्ली में कोरोना फैलाने या फिर उसकी रोकथाम नहीं करने वालों के खिलाफ किए जाने वाले चालान को लेकर बवाल खड़ा होने लगा है. सार्वजनिक जगहों पर या फिर वर्कप्लेस पर मास्क नहीं पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने, पान गुटखा तंबाकू आदि खाकर सार्वजनिक जगह पर थूकने और दूसरी गाइडलाइंस का अनुपालन नहीं करने की स्थिति में किए जाने वाले ₹2000 के चालान किये जाने के मामले में अब दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस आमने-सामने नजर आ रही है.



यहां बताना जरूरी है कि सिविल डिफेंस के वॉलिंटियर दिल्ली सरकार के राजस्व विभाग जिला उपायुक्त कार्यालय (राजस्व) के अधीनस्थ आते हैं.




कोविड-19 ड्यूटी में लगाए गए दिल्ली सरकार (Delhi Government) के सिविल डिफेंस (Civil Defence) वालंटियर की वॉलिंटियरी ड्यूटी पर अब दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने भी बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है. सिविल डिफेंस वालंटियर की ओर से जबरन ₹2000 का चालान काटे जाने को लेकर आम लोगों की तरफ दिल्ली पुलिस को शिकायत मिल रही हैं.






दिल्‍ली पु‍लि‍स के जनसंपर्क अधि‍कारी चिन्‍मय बि‍श्‍वाल ने बताया क‍ि चालान काटने को लेकर इस तरह की शि‍कायतें आये दि‍न मिल रही हैं. पुलि‍स इन सभी शि‍कायतों पर संज्ञान ले रही है. इसके बाद उन्‍होंने साेशल मीडि‍या के जरि‍ये आमजन को भी अवगत कराया है.




दिल्ली पुलिस ने आज अपने आधिकारिक ट्विटर (Twitter) हैंडल पर भी स्पष्ट किया है कि दिल्ली पुलिस को ज्ञात हुआ है कि दिल्ली सिविल डिफेंस वॉलिंटियर्स कोविड-19 नियमों की अवहेलना कर रहे हैं. और वह लोगों को कोविड चालान (COVID Challan) भी कर रहे हैं.




दिल्ली पुलिस ने इस पर स्पष्ट किया है कि सिविल डिफेंस वालंटियर के पास इसके अभियोजन का कोई कानूनी अधिकार नहीं है. दिल्ली पुलिस की ओर से यह भी स्पष्ट किया गया है कि अक्सर इन्हें दिल्ली पुलिस कर्मी समझ लिया जाता है और इनके कुछ कुकृत्य दिल्ली पुलिस के समझ लिए जाते हैं. इसकी वजह से दिल्ली पुलिस की छवि भी धूमिल हो रही है. लोगों को इस मामले में सतर्क रहने की जरूरत है.




ऐसा इसलिए होता है कि क्योंकि इन वॉलिंटियर्स को पुलिस से मिलती-जुलती वर्दी मिलती है. ऐसे मामलों को संज्ञान में लेते हुए दिल्ली पुलिस की ओर से कुछ एफआईआर दर्ज की जा चुकी है और अभियुक्तों की गिरफ्तारी भी की जा चुकी है. दिल्ली पुलिस ने यह भी स्पष्ट किया है कि दिल्ली की जनता से अपील की है कि ऐसे किसी भी चालान को स्वीकार करने के पहले चालनकर्ता की सही पहचान अवश्य कर लें.




बताते चलें कि दिल्ली में कोरोना के कुल एक्टिव मामले अब घटकर 1046 हो गए हैं. वहीं, अब तक कुल पॉजिटिव कोरोना मामलों की बात की जाए तो 636387 रिकॉर्ड किए जा चुके हैं. इनमें से  624457 रिकवर्ड हो चुके हैं. अब तक कोरोना से दिल्ली में 10884 लोगों की मौत भी हो चुकी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज