होम /न्यूज /राष्ट्र /CJI चंद्रचूड़ भी कर चुके हैं मूनलाइटिंग, आकाशवाणी में करते थे रेडियो जॉकी का काम

CJI चंद्रचूड़ भी कर चुके हैं मूनलाइटिंग, आकाशवाणी में करते थे रेडियो जॉकी का काम

देश के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा कि कभी वे रेडियो जॉकी के तौर पर काम कर चुके हैं. (File Photo-News18)

देश के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा कि कभी वे रेडियो जॉकी के तौर पर काम कर चुके हैं. (File Photo-News18)

देश के मुख्‍य न्‍यायाधीश (CJI) डीवाई चंद्रचूड़ (Justice DY Chandrachud) ने गोवा में एक कार्यक्रम के दौरान कहा है कि शुर ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

भारत के मुख्‍य न्‍यायाधीश का खुलासा, कहा- बतौर रेडियो जॉकी कर चुके हैं काम
गोवा में हुए एक भव्‍य कार्यक्रम को संबोधित करते हुए किया यह बड़ा खुुुुुुलासा
जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा, 'जिज्ञासु हों छात्र, प्रश्‍न पूछें और उत्‍तर तलाशें'

नई दिल्‍ली. भारत के मुख्‍य न्‍यायाधीश (CJI) डीवाई चंद्रचूड़ (Justice DY Chandrachud) ने बताया कि शुरुआती दिनों में वे ऑल इंडिया रेडियो में मूनलाइटिंग करते थे और एंकरिंग और कई कार्यक्रमों को होस्‍ट करते थे. डीवाई चंद्रचूड़ की अयोध्‍या और सबरीमाला जैसे बड़े फैसलों में उनकी अहम भूमिका रही है. वे हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से भी शिक्षित हैं और उन्‍होंने बॉम्‍बे हाईकोर्ट में जूनियर एडवोकेट के रूप में प्रैक्टिस शुरू की थी. डीवाई चंद्रचूड़ बार काउंसिल ऑफ इंडिया की एक पहल, इंडिया इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ लीगल एजुकेशन एंड रिसर्च (IIULER) के पहले शैक्षणिक सत्र का गोवा में उद्घाटन करने के बाद बोल रहे थे.

डीवाई चंद्रचूड़ ने 2000 में बॉम्‍बे हाई कोर्ट में जज और बाद में इलाहाबाद हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस के तौर पर काम किया है. कानून के साथ उनकी संगीत में खास रुचि है. एक कार्यक्रम में उन्‍होंने बताया कि वे ‘मूनलाइटिंग’ कर चुके हैं और वे ऑल इंडिया रेडियो में कार्यक्रम होस्‍ट करते थे. CJI डीवाई चंद्रचूड़ ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि ‘प्‍ले इट कूल’, डेट विथ यू’ और ‘सनडे रिक्‍वेस्‍ट’ आदि कार्यक्रमों को वे होस्‍ट कर चुके हैं. कार्यक्रम में उन्‍होंने कहा कि बहुत सारे लोग यह नहीं जानते हैं कि मैंने ‘मूनलाइटिंग’ की है. दरअसल एक नौकरी को करते हुए दूसरे काम को साथ-साथ करना मूनलाइटिंग कहलाता है. दूसरे काम के बारे में सार्वजनिक तौर पर कम लोगों को जानकारी होती है.

वकीलों का संगीत कोर्ट में चुन लेता हूं तो फिर घर जाकर संगीत सुनता हूं
उन्‍होंने मजाकिया अंदाज में कहा कि जब वकीलों का संगीत कोर्ट में सुन लेता हूं तो फिर घर जाकर संगीत सुनता हूं और संगीत मेरी दैनिक दिनचर्या में शामिल है. अपने संबोधन के दौरान उन्होंने छात्रों से हमेशा जिज्ञासु रहने को कहा. उन्होंने कहा, ‘स्वयं को जानने का प्रयास करें. स्वयं को जानने की खोज एक निरंतर खोज है. आपको उस खोज को जल्दी शुरू करना चाहिए. अपनी आत्मा और अपने मन को समझने के लिए बेहतर खोज करें.’

Tags: All India Radio, CJI, Justice DY Chandrachud

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें