होम /न्यूज /राष्ट्र /बड़े छात्र नेताओं की कमी से चिंतित CJI एनवी रमन्ना, कहा- यह लोकतंत्र के लिए सही नहीं

बड़े छात्र नेताओं की कमी से चिंतित CJI एनवी रमन्ना, कहा- यह लोकतंत्र के लिए सही नहीं

सीजेआई एनवी रमन्ना ने नेशनल लॉ इंस्टीट्यूट के दीक्षांत समारोह में शिरकत की. (फाइल फोटो)

सीजेआई एनवी रमन्ना ने नेशनल लॉ इंस्टीट्यूट के दीक्षांत समारोह में शिरकत की. (फाइल फोटो)

CJI NV Ramana on Students and Democracy: उन्होंने कहा कि छात्र आजादी, न्याय, बराबरी और नैतिकता के संरक्षक हैं। सीजेआई न ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. भारत (India) के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमन्ना (CJI NV Ramana) ने गुरुवार को कहा कि तीन दशकों में किसी बड़े छात्र नेता की कमी का विपरीत असर लोकतंत्र (Democracy) पर पड़ रहा है. राजधानी दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने छात्रों से सार्वजनिक जीवन में जाने की अपील की. उन्होंने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था के उदारीकरण से लेकर अब तक कोई बड़ा छात्र नेता शिक्षा समुदाय से सामने नहीं आया है. साथ ही उन्होंने आधुनिक लोकतंत्र में छात्रों की सहभागिता पर भी चर्चा की. सीजेआई ने छात्रों से कहा कि आपको उस दुनिया के बारे में जानकारी होनी चाहिए, जिसका आप हिस्सा हैं.

    दिल्ली स्थित नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में सीजेआई ने कहा, ‘भारतीय समाज को करीब से देखने वाला कोई भी यह देख सकता है कि बीते कुछ दशकों में छात्र समुदाय से कोई भी बड़ा नेता नहीं उभरा है. यह उदारीकरण के बाद सामाजिक कामों में छात्रों की कम होती भागीदारी से जुड़ा हुआ नजर आता है.’ आधुनिक लोकतंत्र को लेकर उन्होंने कहा, ‘यह बहुत जरूरी है कि आपकी तरह अच्छे, दूरदर्शी और जिम्मेदार और ईमानदार छात्र सार्वजनिक जीवन में प्रवेश करें. आपको अगुआ की तरह उभरना होगा…’

    उन्होंने कहा कि छात्र आजादी, न्याय, बराबरी और नैतिकता के संरक्षक हैं. सीजेआई ने कहा, ‘यह सब तभी हासिल किया जा सकता है, जब उनकी ऊर्जा को सही जगह लगाया जाए. जब युवा सामाजिक और राजनीतिक रूप से सतर्क हो जाएंगे, तो शिक्षा, भोजन आदि से जुड़े बुनियादी मुद्दे राष्ट्रीय स्तर पर ध्यान में आएंगे… पढ़ा लिखे युवा समाज की सच्चाई से दूर नहीं रह सकते… जब आप डिग्री के साथ इन संस्थानों से निकलेंगे, तो हमेशा उस दुनिया के बारे में जागरूक रहें, जिसका आप हिस्सा हैं…’

    Tags: CJI NV Ramana, Democracy, National Law University

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें