पश्चिम बंगाल में फिर हिंसा, पूर्व वर्धमान जिले में TMC-BJP कार्यकर्ताओं के बीच चले बम

मौके पर पहुंचने के बाद पुलिस पहुंची और इलाके से 10 देसी बम बरामद किए. दोनों दलों ने एक दूसरे पर हिंसा करने का आरोप लगाया.

News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 7:06 PM IST
पश्चिम बंगाल में फिर हिंसा, पूर्व वर्धमान जिले में TMC-BJP कार्यकर्ताओं के बीच चले बम
मौके पर पहुंचने के बाद पुलिस पहुंची और इलाके से 10 देसी बम बरामद किए. दोनों दलों ने एक दूसरे पर हिंसा करने का आरोप लगाया. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 7:06 PM IST
पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा रुकने का नाम नहीं ले रही है. भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच आए दिन हिंसा की खबरें आ रही हैं. ताजा घटना राज्य के पूर्व वर्धमान जिले की है. यहां इउरा इलाके में टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच बम चले.

दावा किया गया कि बीजेपी के दो कार्यकर्ताओं को टीएमसी के वर्कर्स ने जमकर पीटा. जिसके चलते वह गंभीर रूप से घायल हो हए. दोनों को बर्दवान मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटलमें भर्ती कराया गया.

मौके पर पहुंचने के बाद पुलिस पहुंची और इलाके से 10 देसी बम बरामद किए. दोनों दलों ने एक दूसरे पर हिंसा करने का आरोप लगाया.

एक साल से हो रही हिंसा

बता दें करीब 1 साल से बंगाल में राजनीतिक हिंसा का चलन शुरू हुआ. सत्ताधारी दल टीएमसी और बीजेपी के बीच आए दिन कार्यकर्ताओं के बीच हिंसा की खबरें आती हैं.  23 मई को संपन्न हुए लोकसभा चुनाव के दौरान भी जमकर हिंसा हुई.

यह भी पढ़ें:  ममता की मौजूदगी से रथयात्रा की हुई चर्चा, लेकिन उठा यह सवाल!

लोकसभा चुनाव के बाद राज्य में हिंसा फैलाने का आरोप लगाते हुए तृणमूल प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बीजेपी की विजयी रैलियों पर पाबंदी लगा दी थी. ममता ने कहा था कि बीजेपी के विजयी जुलूसों को इजाजत नहीं दी जाएगी. साथ ही उन्होंने पुलिस को आदेश दिया था कि उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए.
Loading...

भाटपाड़ा में भी हुई थी झड़प

वहीं भाटपाड़ा में दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई. उत्तर 24 परगना स्थित भाटपाड़ा में जब पूर्व केंद्रीय मंत्री एसएस अहलूवालिया के नेतृत्व में तीन सदस्यीय भाजपा प्रतिनिधिमंडल यहां पहुंचा उसके बाद हिंसा शुरू हो गई थी. इतना ही नहीं बीजेपी ने दावा किया था कि जलपाईगुड़ी के भक्तिनगर में बीजेपी के कार्यालय में तोड़फोड़ की गई. बीजेपी ने इसके लिए टीएमसी के कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार ठहराया था.

 
First published: July 5, 2019, 6:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...