• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • खुशखबरी: ट्रायल में 5-11 साल के बच्चों में सेफ दिखी फाइज़र वैक्सीन, अप्रूवल मांगेगी कंपनी

खुशखबरी: ट्रायल में 5-11 साल के बच्चों में सेफ दिखी फाइज़र वैक्सीन, अप्रूवल मांगेगी कंपनी

बच्चों में बेहद कारगर दिखी वैक्सीन (फाइल फोटो)

बच्चों में बेहद कारगर दिखी वैक्सीन (फाइल फोटो)

फाइज़र-बायो&टेक (Pfizer and BioNTech) की वैक्सीन 5-11 साल के बच्चों में सेफ साबित हुई है. यह बात वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल में सामने निकलकर आई है. कंपनी का कहना है कि वैक्सीन बच्चों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में शानदार तरीके से काम कर रही है. जल्द ही नियामक संस्था से वैक्सीन का अप्रूवल मांगा जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. कोरोना की आगामी लहरों (Future Covid Waves) के मद्देनजर अब बच्चों में महामारी के प्रभाव को लेकर चिंताएं बढ़ गई हैं. यही कारण है कि दुनियाभर के देश अब बच्चों के कोविड वैक्सीनेशन पर विचार कर रहे हैं. कई फार्मा कंपनियां अपनी कोविड वैक्सीन का विभिन्न आयु-समूह के बच्चों पर ट्रायल कर रही हैं. अब खबर आ रही है कि ट्रायल में फाइजर-बायो&टेक की वैक्सीन 5-11 से बच्चों में सेफ साबित हुई है.

    कंपनी का कहना है कि वैक्सीन बच्चों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में शानदार तरीके से काम कर रही है. जल्द ही नियामक संस्था से वैक्सीन का अप्रूवल मांगा जाएगा. कंपनी का कहना है कि 12 साल के कम उम्र के बच्चों में वैक्सीन का डोज भी कम किया जाएगा. इससे पहले भारत में भी खबर आई थी सितंबर के अंत तक देश में 1 करोड़ वैक्सीन डोज बच्चों के लिए मौजूद होंगे और अक्टूबर की शुरुआत से वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा. ये वैक्सीन 12 या इससे ऊपर के 18 साल तक के बच्चों को दी जा सकती है.

    बता दें कि Zycov D दुनिया की पहली DNA वैक्सीन है. Zydus ने डिपार्टमेंट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी के साथ मिलकर ये वैक्सीन बनाई है. ये देश में पहली तीन डोज वाली वैक्सीन है. पहले के बाद दूसरा डोज 28 दिन तो तीसरा डोज 56वें दिन लगाया जाएगा. इसके लिए सबसे बड़ा ट्रायल करीब 28000 वॉलंटियर्स पर किया गया है.

    कतार में अन्य वैक्सीन
    बता दें भारत में बच्‍चों के वैक्सीनेशन को लेकर तेजी का साथ काम चल रहा है. जायडस कैडिला की वैक्सीन के अलावा तीन और वैक्सीन हैं जिन्हें बच्चों के लिए मुफीद बताया जा रहा है. सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया की COVOVAX के दूसरे/तीसरे चरण का ट्रायल चल रहा है. इस वैक्‍सीन को 2 से 17 साल तक के बच्‍चों को दिया जा सकेगा.

    भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के दूसरे/तीसरे फेज के ट्रायल को मंजूरी मिल चुकी है. बच्‍चों के लिए तैयार हो रही कोवैक्सीन का इस्‍तेमाल 2 से 18 साल के बच्‍चों पर किया जा सकेगा. बायोलॉजिकल ई लिमिटेड को कुछ शर्तों के साथ 5 से 18 वर्ष की उम्र के बच्चों पर कोविड-19 वैक्‍सीन कॉर्बेवैक्स के दूसरे और तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल की मंजूरी मिली है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज